Monday, July 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनCM जगन की 'मुंडी घुमाने' की धमकी देने वाला हीरो बन गया 'अखंडा' और...

CM जगन की ‘मुंडी घुमाने’ की धमकी देने वाला हीरो बन गया ‘अखंडा’ और फिल्म ने कमा लिए ₹125 Cr: त्रिशूल से ‘अपराधियों का सर्वनाश’

एक बच्चे की जान बचाने के लिए 'अखंडा' को काशी जाकर महामृत्युंजय पूजा करनी होती है, लेकिन गुंडे उसे मारना चाहते हैं। फिल्म में नंदामुरी बालकृष्ण का एक और किरदार है।

तेलुगु सिनेमा इंडस्ट्री के वरिष्ठ अभिनेता नंदामुरी बालकृष्ण (Nandamuri Balakrishna) की ‘अखंडा’ (Akhanda) ने 3 हफ्ते में दुनिया भर में 125 करोड़ रुपए का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन (Box Office Collections) कर लिया है। ये फिल्म 2 दिसंबर, 2021 को रिलीज हुई थी। इसके बाद एक अन्य तेलुगु फिल्म अल्लू अर्जुन (Allu Arjun) की ‘पुष्पा’ (Pushpa) भी आई, लेकिन ‘अखंडा’ का दमदार कलेक्शन जारी रहा। नंदामुरी बालकृष्ण ने हाल ही में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन रेड्डी का ‘मुंडी घुमा देने’ की चेतावनी दी थी। फिल्म की सफलता के बाद उनके फैंस ने भी राहत की साँस ली है।

एक्शन-ड्रामा जॉनर की फिल्म ‘अखंडा’ को बोयापति श्रीनू ने लिखा और निर्देशित किया है, जो नंदामुरी बालकृष्ण के साथ पहले भी ‘सिम्हा (2010)’ और लीजेंड (2014)’ जैसी सफल फ़िल्में बना चुके हैं। अल्लू अर्जुन के साथ उनकी फिल्म ‘सराइनोडु (2016)’ काफी हिट हुई थी और इसका हिंदी डब यूट्यूब पर सबसे ज्यादा देखी जाने वाली फिल्मों में से एक है। ‘अखंडा’ में प्रज्ञा जायसवाल और जगपति बाबू सहायक किरदारों में हैं। ‘अखंडा रूद्र सिकंदर अघोड़ा’ के रूप में नंदामुरी बालकृष्ण के किरदार को समीक्षकों और लोगों ने काफी पसंद किया।

ये किरदार बचपन से अघोड़ियों के बीच पला-बढ़ा होता है और साधु की वेशभूषा में त्रिशूल लेकर रहता है। साथ ही ये अपराधियों का सर्वनाश कर के ‘पाप’ को मिटाता है। साथ ही उस पर भगवान शिव का भी आशीर्वाद होता है, जिससे उसकी शक्तियाँ असीमित हो जाती हैं। एक बच्चे की जान बचाने के लिए ‘अखंडा’ को काशी जाकर महामृत्युंजय पूजा करनी होती है, लेकिन गुंडे उसे मारना चाहते हैं। फिल्म में नंदामुरी बालकृष्ण का एक और किरदार है।

नंदामुरी बालकृष्ण के बारे में बता दें कि वो आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनटीआर के बेटे हैं। उन्हें उनके फैंस प्यार से ‘बलैया’ भी कहते हैं। हिंदूपुर विधानसभा क्षेत्र से वो लगातार दूसरी बार विधायक भी हैं। उन्होंने 1974 में ही अपने पिता की फिल्म से बतौर बाल कलाकार मनोरंजन की दुनिया में कदम रखा था। 100 से भी अधिक फिल्मों में काम कर चुके नंदामुरी बालकृष्ण ने अपने सौवें फिल्म में भारत के पराक्रमी राजा ‘गौतमीपुत्र शतकर्णी’ का किरदार निभाया था। इस फिल्म की हिंदी डबिंग राइट्स 20 करोड़ रुपए में बिके हैं

नवंबर 2021 में नंदामुरी बालाकृष्ण ने सीएम जगन को चेताते हुए कहा था, “हम यहाँ चुप नहीं बैठे। अगर तुम नहीं बदले। हम तुम्हारी मुंडी घुमाकर तुम्हें सुधारेंगे। सिर्फ इसलिए क्योंकि तुम्हारे पास बहुमत है। हम तुम्हारी कही कोई भी भी बर्दाश्त नहीं कर लेंगे।” बता दें कि साउथ के एक्टर बालाकृष्णा रिश्ते में चंद्रबाबू नायडू के बहनोई लगते हैं। विधानसभा में पत्नी का अपमान होने के बाद पूर्व सीएम और टीडीपी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में रो दिया था, जिसके बाद उनका परिवार खासा आक्रोशित था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -