Friday, July 19, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'देश की लड़कियाँ आलसी… अमीर BF/पति ढूँढती हैं': नारीवादियों को नहीं रास आया सोनाली...

‘देश की लड़कियाँ आलसी… अमीर BF/पति ढूँढती हैं’: नारीवादियों को नहीं रास आया सोनाली कुलकर्णी का वायरल बयान, माँगनी पड़ी माफी

सोनाली कुलकर्णी के बयान के बाद फेमिनिस्टों ने उन्हें निशाना बनाना शुरू कर दिया था। यहाँ तक कि बॉलीवुड में भी उनके बयान की आलोचना की गई। अभिनेता उर्फी जावेद और गायिका सोना महापात्रा ने भी सोनाली के शब्दों की आलोचना की। बता दें कि सोनाली कुलकर्णी मराठी और हिंदी फिल्मों की दिग्गज अभिनेत्री हैं।

अभिनेत्री सोनाली कुलकर्णी ने हर तरफ आलोचना होने के बाद अपने विवाद बयान पर माफी माँग ली है। उन्होंने कहा कि एक महिला होने के नाते उनका मकसद किसी महिला का अपमान करना नहीं था। बता दें कि सोनाली ने कहा था कि आजकल की लड़कियाँ आलसी हैं। वे मेहनत करना नहीं चाहती हैं, लेकिन बॉयफ्रेेंड अमीर चाहती हैं।

सोनाली कुलकर्णी ने ट्विटर पर एक नोट शेयर कर अपनी बात रखी। प्रेस और मीडिया को धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि महिलाओं के समर्थन में वे खुद आगे आकर बोलती रही हैं। उनके बयान की सराहना या आलोचना करने के वाले लोगों को आभार व्यक्त किया। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि विचारों के अधिक आदान-प्रदान होता रहेगा।

सोनाली ने आगे कहा, “यदि अनजाने में मुझे कष्ट हुआ हो तो मैं ह्रदय की गहराइयों से क्षमा माँगती हूँ। मैं सुर्खियों में नहीं आना चाहती और न ही मैं सनसनीखेज स्थितियों का केंद्र बनना चाहती हूँ। मैं कट्टर आशावादी हूँ और मेरा दृढ़ विश्वास है कि जीवन वास्तव में सुंदर है। आपके धैर्य और समर्थन के लिए धन्यवाद। मैंने इस घटना से बहुत कुछ सीखा है।”

हाल ही में एक कार्यक्रम में भूपेंद्र सिंह राठौर के साथ बातचीत के दौरान सोनाली ने कहा था, “भारत में बहुत सारी लड़कियाँ आलसी हैं। वे एक ऐसा प्रेमी या पति चाहती हैं, जो अच्छी कमाई करता हो, एक घर का मालिक हो और जिसके वेतन में नियमित वृद्धि होती हो। लेकिन, इन सबके बीच महिलाएँ अपने लिए स्टैंड लेना भूल जाती हैं। महिलाओं को नहीं पता कि वे क्या करेंगी। मैं सभी से आग्रह करती हूँ कि वे अपने घरों में ऐसी महिलाओं को लाएँ जो सक्षम हो और अपने लिए कमा सकती हो।”

उन्होंने आगे कहा था, “मुझे लगता है कि जब लड़के 18 साल के होते हैं तो उन पर यह दबाव होता है कि पढ़ाई और मौज-मस्ती खत्म होने वाली है और अब आपको कमाना है। मुझे अपने भाइयों और अपने पति के लिए रोने का मन करता है। जब वह 20 साल का था, तब कैंपस इंटरव्यू से उसका चयन हो गया और उसने कमाई शुरू कर दी थी।”

सोनाली कुलकर्णी के बयान के बाद फेमिनिस्टों ने उन्हें निशाना बनाना शुरू कर दिया था। यहाँ तक कि बॉलीवुड में भी उनके बयान की आलोचना की गई। अभिनेता उर्फी जावेद और गायिका सोना महापात्रा ने भी सोनाली के शब्दों की आलोचना की। बता दें कि सोनाली कुलकर्णी मराठी और हिंदी फिल्मों की दिग्गज अभिनेत्री हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -