Tuesday, August 3, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनक्या 1 दिन पहले बंद हो गई थी सुशांत के बिल्डिंग की CCTV? महेश...

क्या 1 दिन पहले बंद हो गई थी सुशांत के बिल्डिंग की CCTV? महेश भट्ट और रेहा की तस्वीरें वायरल, उठे कई सवाल

महेश भट्ट और रेहा की कई तस्वीरें वायरल हुई हैं, जिनमें दोनों काफ़ी क़रीब दिख रहे हैं। इसके बाद से ही लोगों ने भट्ट से कई सवाल दागे हैं। आत्महत्या से एक दिन पहले सुशांत सिंह राजपूत की इमारत के सारे सीसीटीवी कैमरे बंद हो गए थे। साथ ही रेहा पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने सुशांत के साथ अपनी सारी फोटोज को इंस्टाग्राम से डिलीट कर लिया था।

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद तरह-तरह की कई ख़बरें आ रही हैं, जिससे इसके पीछे का सस्पेंस गहराता जा रहा है और उनके फैंस सच जानने के लिए बेचैन हो उठे हैं। मुंबई पुलिस उनसे जुड़े लोगों से पूछताछ कर रही है, जिससे कई राज़ निकल कर सामने आ रहे हैं। उनकी मनोचिकित्सक केसरी चावड़ा ने पुलिस को बताया कि वो ‘पवित्र रिश्ता’ सीरियल में उनकी अभिनेत्री रहीं अंकिता लोखंडे से ब्रेक-अप के बाद से ही बेचैन रहने लगे थे। वो रेहा से भी नाराज़ थे।

इसके बाद एक-एक कर सुशांत के कई रिश्ते नहीं चल पाए, जिससे उन्हें इस बात का एहसास होता रहा कि उन्हें किसी भी लड़की ने उस तरह से प्यार नहीं किया, जैसे अंकिता किया करती थी। वो रातों को सो नहीं पाते थे और अवसाद से ग्रस्त रहा करते थे। उनकी मनोचिकित्सक ने बताया कि वो रात भर अपनी दिमागी हालत के बारे में सोचा करते थे और अजीब-अजीब से ख्याल उनके दिमाग में आते थे।

सुशांत सिंह राजपूत के बारे में ये भी पता चला है कि वो ‘राब्ता’ में सह-अभिनेत्री रहीं कृति सेनन के साथ रिलेशनशिप में थे और एक फिल्म निर्देशक की बेटी के साथ भी उनका रिश्ता भी कुछ खास नहीं चला और अंत में उन्हें निराशा ही हाथ लगी। मनोचिकित्सक के बयान से तो इतना तक पता चला है कि वो अपनी वर्तमान गर्लफ्रेंड रेहा चक्रवर्ती के व्यवहार से भी ख़ुश नहीं थे। बता दें कि 2016 में अंकिता से ब्रेकअप से पहले सुशांत 6 साल तक साथ थे।

दोनों के बीच ब्रेअकप के बाद चर्चाओं पर विराम लगाते हुए सुशांत ने सार्वजनिक रूप से स्पष्टीकरण दिया था कि न तो अंकिता शराबी थी और न ही वो लड़कीबाज थे। उन्होंने कहा था कि लोग अलग होते हैं और इसी तरह वो लोग भी अलग रास्तों पर निकले। इधर उनके फैंस महेश भट्ट से जवाब माँग रहे हैं क्योंकि महेश भट्ट ने बयान दिया था कि उन्होंने ही सुशांत के व्यवहार को देखते हुए रेहा को सुशांत से अलग होने की सलाह दी थी।

महेश भट्ट और रेहा की कई तस्वीरें वायरल हुई हैं, जिनमें दोनों काफ़ी क़रीब दिख रहे हैं। इसके बाद से ही लोगों ने भट्ट से कई सवाल दागे हैं। कई लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि एक दिन पहले सुशांत सिंह राजपूत की इमारत के सारे सीसीटीवी कैमरे बंद हो गए थे। साथ ही रेहा पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने सुशांत के साथ अपनी सारी फोटोज को इंस्टाग्राम से डिलीट कर लिया था।

हालाँकि, इस सम्बन्ध में अभी तक पुलिस की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। लोग सोशल मीडिया पर ऐसी बातें कर रहे हैं। इधर सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त और प्रोड्यूसर संदीप सिंह ने भी अंकिता लोखंडे को इंस्टाग्राम के माध्यम से सम्बोधित कर कहा है कि वो सुशांत से सच्चा प्यार करती थी, वो चाहती तो उन्हें रोक सकती थी। उन्होंने कहा कि हमलोग अगर प्रयास करते तो शायद उन्हें ऐसा करने से रोक सकते थे।

उन्होंने कहा कि अंकिता ने अलग होने के बाद भी सुशांत की ख़ुशी और सफलता की ही कामना की, उसका प्यार पवित्र था। उन्होंने खुलासा किया कि अंकिता ने अब तक अपने घर के नेमप्लेट से सुशांत का नाम नहीं हटाया है। उन्होंने अंकिता और सुशांत के साथ बिताए अपने समय को याद करते हुए कहा कि साथ खाना बनाने से लेकर गोवा होली खेलने तक, कई यादें आज उन्हें रुला रही हैं। उन्होंने कहा कि अंकिता और सुशांत को शादी करनी चाहिए थी।

संदीप ने लिखा कि अंकिता तुम सुशांत की गर्लफ्रेंड, पत्नी, दोस्त और माँ- सभी कुछ थी। उन्होंने कहा कि वो अंकिता की तरह शायद ही ऐसे किसी दोस्त को खो पाएँ क्योंकि उनसे ये नहीं हो पाएगा। संदीप ने लिखा कि सुशांत और अंकिता एक-दूसरे के लिए ही बने हुए थे। उन्होंने कहा कि वो पुराने दिन वापस चाहते थे। सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद कई सेलेब्रिटीज ने बॉलीवुड में नेपोटिज्म के खिलाफ आवाज उठाई है।

अभिनेत्री कंगना रनौत ने भी वीडियो के माध्यम से कई खुलासे किए थे। उन्होंने बताया था कि किस तरह सुशांत को प्रताड़ित किया गया था। निर्देशक अभिनव सिंह कश्यप ने बताया था कि कई मजबूर कलाकारों को एस्कॉर्ट सर्विस या फिर वेश्यावृत्ति के धंधों की ओर रुख करना पड़ता है। बकौल अभिनव सिंह कश्यप, बॉलीवुड में कई पुरुष एस्कॉर्ट्स भी हैं, जिनका इस्तेमाल अमीर और प्रभावशाली हस्तियों के अभिमान और यौन भूख मिटाने के लिए किया जाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

एक का छत से लटका मिला शव, दूसरे की तालाब से मिली लाश: बंगाल में फिर भाजपा के 2 कार्यकर्ताओं की हत्या

एक मामला बीरभूम का है और दूसरा मेदिनीपुर का। भाजपा का कहना है कि टीएमसी समर्थित गुंडों ने उनके कार्यकर्ताओं की हत्या की जबकि टीएमसी इन आरोपों से किनारा कर रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,842FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe