Thursday, September 23, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनइंडस्ट्री बेहद क्रूर और निर्दयी, दीवार पर सिर मारने से क्या होगा: बॉलीवुड में...

इंडस्ट्री बेहद क्रूर और निर्दयी, दीवार पर सिर मारने से क्या होगा: बॉलीवुड में नेपोटिज्म पर बरसे रणवीर शौरी

"शुरुआत में इस लालच में मेनस्ट्रीम में छोटे-मोटे रोल कर लेता था कि शायद नोटिस होने से अच्छा काम मिलेगा। फिर समझ आया कि वे आपको नोटिस ही नहीं करना चाहते हैं। फिर दीवार में सर मारने से क्या होगा।"

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या करने के बाद से सोशल मीडिया पर तेजी से इस बात को लेकर बहस छिड़ी है कि उन्हें आखिरकार ऐसा कदम क्यों उठाना पड़ा। बॉलीवुड से जुड़े लोग ही इंडस्ट्री में चल रहे नेपोटिज्म को इसका जिम्मेदार बता रहे हैं।

कंगना रनौत, रवीना टंडन, शेखर कपूर और अभिनव कश्यप के बाद एक्टर रणवीर शौरी ने भी नेपोटिज्म को लेकर बड़े सवाल खड़े किए हैं। रणवीर शौरी ने फिल्म इंडस्ट्री को बेहद क्रूर और निर्दयी बताया। सुशांत और रणवीर शौरी दोनों ‘सोनचिड़िया’ में साथ काम कर चुके हैं। दोनों एक-दूसरे को अच्छे से समझते थे, लेकिन सुशांत के जाने के बाद रणवीर ने अपनी प्रतिक्रिया से इंडस्ट्री पर सवाल खड़े किए।

हिन्दुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, रणवीर ने कहा कि पूरी इंडस्ट्री पर नेपोटिज्म हावी है। उन्होंने कहा कि शुरुआत में वे इस लालच में मेनस्ट्रीम में छोटे-मोटे रोल कर लेते थे कि शायद नोटिस होने से अच्छा काम मिलेगा। फिर समझ आया कि वे आपको नोटिस ही नहीं करना चाहते हैं। फिर दीवार में सर मारने से क्या होगा।

वो कहते हैं कि यही वजह है कि उन्होंने अपनी महत्वकांक्षाएँ कम कर ली। समझ गया कि मुझे कभी भी उनके मेनस्ट्रीम फिल्मों में लीड भूमिकाएँ नहीं मिलेगी। चाहे एक्टिंग कितनी ही अच्छी क्यों न हो। इसलिए उन्होंने छोटी फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया।

रणवीर आगे कहते हैं, “मुझे पता है कि जब मैं घर से निकलूँगा तो लोग मेरी गाड़ी को नहीं घेरेंगे और फोटो के लिए शोर करना शुरू नहीं करेंगे, लेकिन मेरा अपना काम चल जाएगा। कई बार ऐसा भी हुआ है कि मुझे दो-दो साल कोई काम नहीं मिला और मुझे घर पर बैठना पड़ा लेकिन मैंने इंतजार किया और आगे भी करूँगा।” 

गौरतलब है कि इससे पहले भी एक्टर रणवीर शौरी ने कुछ ट्वीट्स के जरिए बताया था कि कैसे बॉलीवुड के अंदर नेपोटिज्म चलता है। उन्होंने कहा कि एक अवॉर्ड फंक्शन में एक स्टार किड शो होस्ट कर रहा है। बेस्ट एक्टर की कैटेगिरी की घोषणा की जाती है। नॉमनीज में वो स्टार किड भी है जो शो होस्ट कर रहा है।

वे लिखते हैं, “विनर की घोषणा करने के लिए होस्ट दो फिल्म पर्सनालिटी को बुलाते हैं जो हो सकता है कि किसी स्टार किड के परिजन होते हैं। कितना प्यारा इत्तेफाक है। फिर प्रजेंटेटर्स लिफाफा खोलते हैं और विजेता के नाम की घोषणा करते हैं, जो कि एक स्टार किड ही होता है।”

अपने अंतिम ट्वीट में रणवीर लिखते हैं, “स्टार किड होस्ट के डाइस से अवॉर्ड स्वीकार करने के लिए आगे बढ़ता है और एक छोटा सा थैंक्यू स्पीच देता है और फिर बाकी के शो को हेस्ट करने के लिए वापस आता है… फिर ऐसे ही जारी रहता है। ये है मेनस्ट्रीम बॉलीवुड फैमिली।”

सुशांत सिंह राजपूत के जाने के बाद तमाम स्टारकिड्स को सोशल मीडिया पर ट्रोल किया गया। करण जौहर, यशराज फिल्म्स व बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउस पर आरोप लगे कि वह आउटसाइडर्स पर दबाव बनाते हैं व काम नहीं देते।

एक बार फिर कंगना रनौत ने भी करण जौहर के अलावा तमाम बड़े प्रोडक्शन हाउस व निर्देशकों पर आरोप लगाए। उन्होंने इंडस्ट्री के असली चेहरे की पोल खोलते हुए सवाल पूछा था कि सुशांत की मौत आत्महत्या है मर्डर। रवीना टंडन ने भी बॉलीवुड की ‘गंदगी’ को लेकर ट्वीट किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नंगी तस्वीरें माँगता, ओरल सेक्स के लिए जबरदस्ती’: हिंदूफोबिक कॉमेडियन संजय राजौरा की करतूत महिला ने दुनिया को बताई

पीड़िता ने बताया कि वो इन सब चीजों को नजरअंदाज कर रही थी क्योंकि वह कॉमेडियन को उसके काम के लिए सराहती थी।

गुजरात में ‘लैंड जिहाद’ ऐसे: हिंदू को पाटर्नर बनाओ, अशांत क्षेत्र में डील करो, फिर पाटर्नर को बाहर करो

गुजरात में अशांत क्षेत्र अधिनियम के दायरे में आने वाले इलाकों में संपत्ति की खरीद और निर्माण की अनुमति लेने के लिए कई मामलों में गड़बड़ी सामने आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,920FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe