Thursday, July 25, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनलव जिहाद, महिलाओं की तस्करी, इस्लामी धर्मांतरण, आतंकवाद और ISIS... जारी हुआ 'The Kerala...

लव जिहाद, महिलाओं की तस्करी, इस्लामी धर्मांतरण, आतंकवाद और ISIS… जारी हुआ ‘The Kerala Story’ का ट्रेलर, रोकने में लगे थे वामपंथी-कॉन्ग्रेसी

ट्रेलर में केरल के पूर्व मुख्यमंत्री वी एस अच्युतानंदन के एक बयान का भी हवाला दिया गया है, जिसमें कहा गया कि अगले 20 वर्षों में केरल इस्लामिक स्टेट बन जाएगा।

बॉलीवुड के निर्माता-निर्देशक विपुल अमृतलाल शाह की फिल्म ‘द केरल स्टोरी’ (The Kerala Story) का ट्रेलर बुधवार (26 अप्रैल, 2023) को रिलीज किया गया। सच्ची घटनाओं पर आधारित इस फिल्म का ट्रेलर 2 मिनट 45 सेकंड का है। इसमें केरल की महिलाओं की तस्करी और धर्मांतरण कराकर उन्हें आतंकवाद की आग में झोंकने की कहानी को मार्मिक तरीके से पेश किया गया है। यह फिल्म 5 मई 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी।

ट्रेलर की शुरुआत केरल के हँसते-खेलते हिंदू परिवार से की गई है। यहाँ एक माँ अपनी बेटी शालिनी उन्नीकृष्णन को हाथों से खाना खिलाते हुए और उसे प्यार करती हुई नजर आ रही है। लड़की भी अपने परिवार के साथ बेहद खुश दिखाई दे रही है। ट्रेलर में शालिनी से पूछा जाता है, “आईएसआईएस कब जॉइन किया?” इस पर वह कहती है, “आईएसआईएस कब जॉइन किया, ये जानने के लिए क्यों और कैसे जॉइन किया ये जानना ज्यादा जरूरी है।”

इसके बाद दिखाया गया है कि शालिनी उन्नीकृष्णन को कैसे एक मुस्लिम शख्स अपने प्रेम के जाल में फाँसता है। उसे इस्लाम कबूल करवाकर शालिनी से फातिमा बनाया गया, उसका निकाह कराया और फिर उसे आतंकवाद की आग में झोंक देने की कहानी है। इसमें शालिनी के अलावा केरल की हजारों महिलाओं की तस्करी-धर्मांतरण की दिल दहला देने वाली क्रूरता भी दिखाई गई है। इसके माध्यम से राज्य के आईएसआईएस कनेक्शन का पर्दाफाश करने की एक शानदार कोशिश की गई है।

ट्रेलर में केरल के पूर्व मुख्यमंत्री वी एस अच्युतानंदन के एक बयान का भी हवाला दिया गया है, जिसमें कहा गया कि अगले 20 वर्षों में केरल इस्लामिक स्टेट बन जाएगा। फिल्म में शालिनी उन्नीकृष्णन का मुख्य किरदार अभिनेत्री अदा शर्मा ने निभाया है।

बता दें कि विपुल अमृतलाल शाह और निर्देशक सुदीप्तो सेन ने इस भयावह सच्ची घटना को बड़े पर्दे पर उतारने के लिए कई सालों तक गहन रिसर्च की है। मार्च 2022 में सुदीप्तो सेन ने बताया था, “2009 से केरल और मैंगलोर की लगभग 32000 लड़कियों को हिंदू और ईसाई से इस्लाम मजहब में कन्वर्ट किया गया है और उनमें से ज्यादातर सीरिया, अफगानिस्तान और अन्य ISIS व हक्कानी प्रभावशाली क्षेत्र में पहुँच जाती हैं।”

सुदीप्तो को रिसर्च के दौरान यह भी पता चला कि अपहरण और तस्करी के जरिए गायब हुईं कुछ लड़कियाँ अफगानिस्तान और सीरिया की जेल में पाई गई थीं। इनमें से ज्यादातर लड़कियों की शादी ISIS के आतंकवादियों से की गई थी और उन्हें ‘सेक्स स्लेव’ बनाया गया था। वहीं, ‘द केरल स्टोरी’ फिल्म का ‘द कश्मीर फाइल्स’ जैसा विरोध हुआ था। इस फिल्म को रिलीज होने से रोकने के लिए वामपंथी-कॉन्ग्रेसी, डीजीपी ने FIR के दिए आदेश थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -