Tuesday, August 9, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजनजायरा वसीम का ट्विटर और इंस्टाग्राम से तौबा, टिड्डियों के हमले को बताया था...

जायरा वसीम का ट्विटर और इंस्टाग्राम से तौबा, टिड्डियों के हमले को बताया था अल्लाह का कहर

27 मई को जायरा ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर कुरान की एक आयत लिखी जिसमें इन हमलों को चेतावनी और अल्लाह का कहर बताया गया था। इस ट्वीट को लेकर उनकी तीखी आलोचना हो रही थी।

इस्लाम का हवाला देकर फिल्मों को अलविदा कहने वाली जायरा वसीम ने ट्विटर और इंस्टाग्राम अकाउंट डिलीट कर लिया है। बुधवार (मई 27, 2020) को उन्होंने भारत में टिड्डियों के हमले को घमंडी लोगों पर अल्लाह का कहर बताया था। इस ट्वीट को लेकर उनकी तीखी आलोचना हो रही थी।

इसके बाद जायरा वसीम ने अपने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने अपने अपना ट्विटर अकाउंट डिलीट कर दिया। कुछ समय बाद उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट को भी डिलीट कर दिया

27 मई को जायरा ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर कुरान की एक आयत लिखी जिसमें इन हमलों को चेतावनी और अल्लाह का कहर बताया गया था। जायरा ने ट्वीट करते हुए लिखा, “इसलिए हमने उन पर बाढ़ भेजे, और टिड्डे भेजे, और भेजे जूएँ-चीलड़, और मेंढक भेजे, खून भेजा: ये वैसी चेतावनियाँ हैं जो स्वविश्लेषित हैं: लेकिन वो सब अपने अज्ञान में गहरे डूबे हुए थे- वैसे लोग जो पापी हैं।”

जायरा इस ट्वीट में बाद लोगों के निशाने पर आ गईं और लोगों ने उन्हें जमकर ट्रोल कर दिया। लोग जायरा पर जमकर भड़के। लोगों ने तो ये तक कह दिया कि इस्लाम में ट्विटर का इस्तेमाल करना भी हराम है तो उन्हें ट्विटर छोड़ देना चाहिए।

गौरतलब है कि हाल ही में जायरा की सोशल मीडिया पर भारतीय कुश्ती पहलवान बबीता फोगाट से ट्विटर पर अप्रत्यक्ष रूप से वार छिड़ गया था। इस पर भी उन्हें ट्रोल होना पड़ा था। दरअसल, तबलीगी जमात को लेकर बबीता फोगाट ने एक ट्वीट किया था, जिसकी आलोचना हो रही थी। इस अलोचना को देखते हुए बबीता फोगाट ने एक वीडियो शेयर किया और कहा कि वह जायरा वसीम नहीं हैं, जो किसी के कहने पर चुप बैठ जाएँगी।

उल्लेखनीय है कि जायरा वसीम ने पिछले साल फिल्मों से संन्यास लेने का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि एक्टिंग और फिल्में उनके मजहब के आड़े आ रहे हैं। जायरा ने अपने करियर की शुरुआत आमिर खान की फिल्म दंगल से की थी और उनकी आखिरी फिल्म प्रियंका चोपड़ा के साथ द स्काई इज पिंक थी। ये फिल्म उनके संन्यास लेने के बाद रिलीज हुई।

उन्होंने सोशल मीडिया पर एक्टिंग छोड़ने का ऐलान करते हुए लिखा था कि वो भले यहाँ फिट हो रही हैं, लेकिन मैं यहाँ की नहीं हैं। यह उन्हें उनके ईमान से दूर कर रहा है। उनका कहना था कि यह रास्ता उन्हें अल्लाह से दूर कर रहा है। इसके बाद जायरा ने कश्मीर के मुद्दे पर गलत जानकारी देकर अपने फॉलोवर्स को बरगलाया। साथ ही एक दिन अपने प्रशंसकों से ये भी अपील की कि उसकी सराहना करनी बंद की जाए, क्योंकि इससे उनका इमान खतरे में पड़ता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने दिए 9 साल में सिर्फ 857 ऑनलाइन जॉब्स, चुनावी राज्यों में लाखों नौकरियों के वादे: RTI से खुलासा

केजरीवाल के रोजगार को लेकर बड़े-बड़े वादों और विज्ञापनों की पोल दिल्ली में नौकरियों पर डाले गए एक RTI ने खोल दी है।

जब सिंध में हिन्दुओं-सिखों का हो रहा था कत्लेआम, 10000 स्वयंसेवकों के साथ पहुँचे थे ‘गुरुजी’: भारत-Pak विभाजन के समय कहाँ थे कॉन्ग्रेस नेता?

विभाजन के दौरान पाकिस्तान में हिन्दुओं-सिखों की मदद के लिए न आई कोई राजनीतिक पार्टियाँ और ना ही आए वह नेता, जो उस समय इतिहास में खुद को दर्ज कराना चाहते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,538FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe