Friday, June 21, 2024
Homeराजनीति'एल्विश यादव की रेव पार्टी में साँप के जहर का था इंतजाम, सप्लायरों से...

‘एल्विश यादव की रेव पार्टी में साँप के जहर का था इंतजाम, सप्लायरों से मेल-मुलाकात भी थी’: रिपोर्ट्स में दावा- यूट्यूबर ने कबूला गुनाह​

एल्विश यादव ने पुलिस पूछताछ में अपने जुर्म को स्वीकार कर लिया है कि उन्होंने आरोपितों से मिलकर साँप और साँप के जहर की व्यवस्था की थी। ये दावा नवभारत टाइम्स, आजतक समेत कई मीडिया खबरों में है।

यूट्यूबर एल्विश यादव बिग बॉस ओटीटी सीजन 2 जीतने के बाद से विवादों में लगातार घिरे हुए थे। अब नोएडा पुलिस ने उन्हें रेव पार्टियों में साँप का जहर सप्लाई करने के मामले में गिरफ्तार करके 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वहीं दूसरी ओर खबरें आ रही हैं कि एल्विश यादव ने पुलिस पूछताछ में अपने जुर्म को स्वीकार कर लिया है कि उन्होंने अपने द्वारा आयोजित की गई रेव पार्टी के लिए आरोपितों से मिलकर साँप और साँप के जहर की व्यवस्था की थी। उन्होंने ये भी माना है कि वह अन्य रेव पार्टियों में आरोपितों से मिले थे।

(ये दावा नवभारत टाइम्स, आजतक समेत कई मीडिया खबरों में है।)

रात में सो नहीं पाए एल्विश यादव

बता दें कि 17 मार्च को इस पूरे मामले में एल्विश यादव को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया था। उनकी गिरफ्तारी से नाराज उनके फैंस उनके समर्थन में सोशल मीडिया पर लगातार पोस्ट कर रहे हैं। वहीं वकीलो ने भी बेल के लिए तैयारी शुरू कर दी है। सोमवार या मंगलवार तक जमानत के लिए आवेदन कोर्ट में भेजा जाएगा।

रिपोर्टों में ही मौजूद जानकारी बताती है कि एल्विश को जेल में पहली रात ठीक से नींद नहीं आई। जेल के नियमानुसार उन्हें तीन कंबल दी गई थी, जिसे वह जमीन पर बिछाकर सोए। खाने में उन्हें पूड़ी, सब्जी और हलवा दिया गया जिसे एल्विश ने खाया भी।

एल्विश यादव पर केस

गौरतलब है कि एल्विश यादव के खिलाफ दर्ज केस में एनडीपीएस की धारा 29 जोड़ी गई है। इस कानून के तहत कार्रवाई ड्रग से जुड़े मामलों में होती है और दोषी पाने पर 20 साल की सजा हो सकती है और भारी जुर्माना भी भर पड़ सकता है।

एल्विश पर मुकदमा ‘पीपुल्‍स फार एनिमल संस्‍थान’ के पदाधिकारी गौरव गुप्‍ता ने दर्ज कराया था। एफआईआर छह लोगों के खिलाफ थी। इसमें आरोप था कि रेव पार्टियों में साँपों का जहर सप्लाई करने में एल्विश भी जुड़े हैं। इसके बाद नोएडा पुलिस ने जाँच शुरू की और पार्टी से मिले सैंपल चेक कराए। रिपोर्ट में सामने आया कि वो सैंपल कोबरा-करैत प्रजाति के थे। इस रिपोर्ट के आने के एक माह बाद ही एल्विश की गिरफ्तारी की खबर आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सियालकोट से स्वात घूमने गया युवक, इस्लामी भीड़ ने पहले पीटा फिर आग में झोंका: पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप में एक और हत्या,...

पाकिस्तान में युवक पर ईशनिंदा का आरोप लगाकर इस्लामी कट्टरपंथियों ने उसे पुलिस थाने से निकालकर मार डाला। इस दौरान थाने में भी आग लगा दी गई।

टेलीग्राम पर ₹500 में मिल रहा था UGC-NET का पेपर, CBI कर रही जाँच: सॉल्वर गैंग का सरगना खुद पास नहीं कर पाया था...

पेपर लीक कराने वाला और एग्जाम की तैयारी कराने वाले सॉल्वर गैंग का सरगना अतुल वत्स कभी खुद भी नीट की तैयारी कर रहा था, लेकिन वो फेल हो गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -