Thursday, January 20, 2022
Homeविविध विषयअन्यभूल पाएँगे माँ के आँसू, विधवाओं की चीखें और बच्चों के बलिदान को: कंगना...

भूल पाएँगे माँ के आँसू, विधवाओं की चीखें और बच्चों के बलिदान को: कंगना रनौत ने चीन के खिलाफ खोला मोर्चा

"अगर कोई हमारे हाथ से हमारी ऊँगलियों को काटने की कोशिश करे या हमारी भुजाओं से हमारी हथेली काटने की कोशिश करे तो किस तरह का कष्ट होगा आपको। वही कष्ट पहुँचाया है चीन ने हमें लद्दाख पर अपनी लालची नजरें गड़ा कर। वहाँ हमारी सीमा का एक-एक इंच बचाने के लिए हमारे 20 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए हैं।"

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत हर मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखती हैं। बीते दिनों ‘बॉलीवुड गैंग’ को आड़े हाथों लेने के बाद अभिनेत्री ने अब चीन पर निशाना साधा है। कंगना का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह चीनी सामान का बहिष्‍कार करने की अपील कर रही हैं।

वीडियो की शुरूआत में कंगना कह रही हैं, “अगर कोई हमारे हाथ से हमारी ऊँगलियों को काटने की कोशिश करे या हमारी भुजाओं से हमारी हथेली काटने की कोशिश करे तो किस तरह का कष्ट होगा आपको। वही कष्ट पहुँचाया है चीन ने हमें लद्दाख पर अपनी लालची नजरें गड़ा कर। वहाँ हमारी सीमा का एक-एक इंच बचाने के लिए हमारे 20 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए हैं।”

वो आगे कहती हैं, “क्या आप भूल पाएँगे उनकी माँओं के आँसू, उनकी विधवाओं की चीखें और उनके बच्चों के दिए हुए बलिदान को। क्‍या ये मान लेना सही हैं कि सेनाओं का सरहदों पर जो युद्ध होता है वह केवल उनका होता है। वो सिर्फ सरकार का होता है। क्‍या हमारा उसमें कोई योगदान नहीं।”

कंगना रनौत ने कहा, “क्या हम भूल गए हैं वो वक्त जब महात्मा गाँधी जी ने कहा था कि अगर अंग्रेजों की रीढ़ तोड़नी है भारत में तो उनके बनाए गए हर उत्पादन का बहिष्कार करना होगा। क्या ये जरूरी नहीं कि हम भी इस युद्ध में हिस्सा लें क्योंकि लद्दाख सिर्फ एक जमीन का टुकड़ा नहीं है। भारत की अस्मिता का एक बहुत बड़ा हिस्सा है। भारत की हथेली है। हम किसी भी तरह से दुश्मनों को उनके गंदे इरादों ने सफल नहीं होने दे सकते।” 

अभिनेत्री कहती है, “हमें चाइना के सामानों को बहिष्‍कार करना चाहिए। उनके जो भी सामान है, जिन कंपनियों में उन्‍होंने इन्‍वेस्‍ट किया है जिनसे उन्हें रेवन्‍यू आते हैं, संस्‍थाएँ हैं, उन सबका बहिष्‍कार करें। वे हमारे पैसों से हथियार खरीदकर हमारे सैनिकों के सीने छलनी करते हैं। क्‍या ये हमारा कर्तव्‍य नहीं है कि हम अपनी सेनाओं और सरकार का साथ दें। हम प्रतिज्ञा लेते हैं कि हम आत्‍मनिर्भर बनेंगे। चाइ‍नीज सामान का बहिष्‍कार करेंगे और इस युद्ध में हमारे देश भारत को जिताएँगे।”

उल्लेखनीय है कि सोमवार (जून 15, 2020) की रात गलवान घाटी के पास हुए हिंसक झड़प में एक कर्नल समेत देश के 20 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस झड़प में चीन की ओर से भी 43 सैनिक हताहत हुए थे।

गौरतलब है कि कंगना अपने बेबाक बयानों के चलते हमेशा सुर्खियों में रहती हैं। उन्होंने बिना गॉडफादर के फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाई है। उनके काम को बहुत पसंद किया जाता है। कंगना हर मुद्दे पर अपनी राय बेबाकी से मुखर होकर रखती हैं। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

‘एक्सप्रेस प्रदेश’ बन रहा है यूपी, ग्रामीण इलाकों में भी 15000 Km सड़कें: CM योगी कुछ यूँ बदल रहे रोड इंफ्रास्ट्रक्चर

योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में 5 वर्षों में 15,246 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया। उत्तर प्रदेश में जल्द ही अब 6 एक्सप्रेसवे हो जाएँगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,276FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe