Wednesday, August 4, 2021
Homeविविध विषयअन्यहेल्थ बजट डबल, 7 साल में 15 नए AIIMS का काम: डॉक्टर्स डे पर...

हेल्थ बजट डबल, 7 साल में 15 नए AIIMS का काम: डॉक्टर्स डे पर बोले PM मोदी- जो काम पिछली शताब्दी में होना था वह अब हो रहा

भारत में हर साल 1 जुलाई को राष्ट्रीय डॉक्टर्स डे मनाया जाता है। डॉक्टर्स डे प्रसिद्ध चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री डॉ. बीसी रॉय की स्मृति में मनाया जाता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (01 जुलाई) डॉक्टर्स डे (डॉक्टर दिवस) के अवसर पर देश के सभी डॉक्टरों को बधाई दी और उनकी सेवा और समर्पण के लिए अपनी कृतज्ञता प्रकट की।

पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के इस संकट के दौरान डॉक्टरों द्वारा दिए गए योगदान पर कहा कि पिछले डेढ़ सालों से जब देश कोरोना वायरस से इतनी बड़ी जंग लड़ रहा है तब तब डॉक्टरों ने दिन-रात एक कर लाखों लोगों का जीवन बचाया। ऐसा करते हुए कई डॉक्टर्स ने देश के लिए अपना जीवन भी समर्पित कर दिया। पीएम मोदी ने ऐसे डॉक्टर्स को श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके परिवारजनों के प्रति अपनी संवेदना भी प्रकट की।

पीएम मोदी ने कहा कि जिस तरह से कोरोना वायरस अपने रूप बदल रहा है और नए स्ट्रेन सामने आ रहे हैं, देश के डॉक्टर्स लगातार प्रोटोकॉल्स बनाने में सहायता कर रहे हैं। साथ ही इन डॉक्टर्स का ज्ञान एवं अनुभव भी इस वायरस से लड़ने में हमारी सहायता कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने डॉक्टर्स को भगवान का दूसरा रूप बताते हुए कहा कि कई बार अनेकों लोगों का जीवन किसी बीमारी या दुर्घटना के कारण संकट में आया होगा अथवा कई बार यह भी लगा होगा कि कोई अपना बिछड़ने वाला है, ऐसे में डॉक्टर देवदूत बनकर सामने आ जाते हैं।

पिछले कुछ दशकों में चिकित्सा के क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्चर पर जिस तरीके से पर्याप्त ध्यान नहीं दिया गया, उसके विषय में पीएम मोदी ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में जितना ध्यान दिया जाना चाहिए था, वह नहीं दिया गया। साथ ही पीएम मोदी ने बढ़ी हुई जनसंख्या के विषय में भी कहा कि जिस प्रकार जनसंख्या का बोझ लगातार बढ़ता गया उसके बावजूद देश में संक्रमण की दर और मृत्यु दर कई विकसित देशों की तुलना में सँभली हुई नजर आई और इसका श्रेय परिश्रमी डॉक्टर्स और फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स को जाता है।

इसके अलावा पीएम मोदी ने चिकित्सा क्षेत्र में वर्तमान एनडीए सरकार के द्वारा किए गए व्यय पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इस साल हेल्थ सेक्टर के लिए बजट का एलोकेशन दोगुने से भी ज्यादा अर्थात 2 लाख करोड़ रुपए से भी अधिक हुआ है, साथ ही चिकित्सा सुविधाओं की कमी वाले क्षेत्रों में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की वृद्धि के लिए 50,000 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी स्कीम भी लाई गई है।

पीएम मोदी ने यह भी बताया कि पिछले कुछ सालों में देश में मेडिकल कॉलेज विशेषकर एम्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई है जिससे देश में अंडरग्रेजुएट्स सीट्स में डेढ़ गुणा से ज्यादा जबकि पीजी सीट्स में 80 फीसदी का इजाफा हुआ है। पीएम मोदी ने यह भी कहा है कि मेडिकल फील्ड के लोग योग के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए भी आगे आए हैं और जो काम पिछली शताब्दी में किया जाना चाहिए था, वह अब किया जा रहा है।

ज्ञात हो कि भारत में हर साल 1 जुलाई को राष्ट्रीय डॉक्टर्स डे मनाया जाता है। डॉक्टर्स डे प्रसिद्ध चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री डॉ. बीसी रॉय की स्मृति में मनाया जाता है। डॉ. रॉय का जन्म 1 जुलाई 1882 को हुआ था और उनकी मृत्यु भी 1 जुलाई को ही सन् 1962 में हुई थी। 1961 में डॉ. रॉय को भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था। हालाँकि दुनिया के कई अन्य देश में भी डॉक्टर्स डे मनाया जाता है लेकिन प्रत्येक देश में इसके लिए अलग तारीखें तय की हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe