Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयअन्यरोजर फेडरर का संन्यास, 2 खिलाड़ियों को छोड़ जिसने सबके मुकाबले हार से ज्यादा...

रोजर फेडरर का संन्यास, 2 खिलाड़ियों को छोड़ जिसने सबके मुकाबले हार से ज्यादा जीत हासिल की: Laver Cup 2022 होगा आखिरी टूर्नामेंट

रोजर फेडरर ने अपने करियर के जिस आखिरी टूर्नामेंट ‘लेवर कप’ की बात कही, वो 23 सितंबर से 26 सितंबर तक लंदन में आयोजित किया जा रहा है। मतलब 26 सितंबर के बाद रोजर फेडरर पेशेवर टेनिस को अलविदा कह देंगे।

टेनिस के दिग्गज खिलाड़ी रोजर फेडरर (Roger Federer) ने अपने संन्यास का ऐलान कर दिया है। गुरुवार (15 सितंबर 2022) को उन्होंने अपने संन्यास की घोषणा की है। उन्होंने यह भी बताया कि उनका आखिरी टेनिस टूर्नामेंट लेवर कप होने वाला है।

आपको बताते चलें कि लेवर कप अगले हफ्ते लंदन में होने वाला है। इसके बाद रोजर फेडरर टेनिस को हमेशा के लिए अलविदा कहने वाले हैं। स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने कुल 20 ग्रैंड स्लैम जीते हैं। इस सूची में 8 विम्बलडन, 5 यूएस ओपन, 1 फ्रेंच ओपन और 6 ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब शामिल है।

रोजर फेडरर ने संन्यास की घोषणा करते हुए एक नोट जारी किया। इसमें उन्होंने लिखा, “टेनिस ने मुझे इतने वर्ष में कई उपहार दिए हैं, उनमें से सबसे बड़ा उपहार वह लोग हैं, जिनसे मैं इस रास्ते पर मिला हूँ। मेरे दोस्त, मेरे प्रतियोगी और सभी प्रशंसक जो खेल को अपना जीवन देते हैं, वह सभी मेरे उपहार हैं।”

रोजर फेडरर ने अपने करियर के जिस आखिरी टूर्नामेंट ‘लेवर कप’ की बात कही, वो 23 सितंबर से 26 सितंबर तक लंदन में आयोजित किया जा रहा है। मतलब 26 सितंबर के बाद रोजर फेडरर (Roger Federer) पेशेवर टेनिस को अलविदा कह देंगे।

विरोधी खिलाड़ियों के मुकाबले जीत के रिकॉर्ड की बात करें तो ऊपर का ट्वीट मायने रखता है। नोवाक जोकोविक और राफेल नडाल के अलावा जितने भी बड़े टेनिस खिलाड़ियों के खिलाफ उन्होंने खेला है, सबसे जीत का प्रतिशत 50 से ऊपर है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

औरतें और बच्चियाँ सेक्स का खिलौना नहीं… कट्टर इस्लामी मानसिकता पर बैन लगाओ, OpIndia पर नहीं: हज पर यौन शोषण की खबरें 100% सच

हज पर मुस्लिम महिलाओं और बच्चियों का यौन शोषण होता है, यह खबर 100% सत्य है। BBC, Washington Post और अरब देश की मीडिया में भी यह छपा है।

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -