Sunday, July 14, 2024
Homeविविध विषयअन्यतमिलनाडु के सिनेमाघरों में नहीं दिखाई जाएगी 'द केरल स्टोरी': MLA जवाहिरुल्लाह ने CM...

तमिलनाडु के सिनेमाघरों में नहीं दिखाई जाएगी ‘द केरल स्टोरी’: MLA जवाहिरुल्लाह ने CM स्टालिन से की थी बैन की माँग, मध्य प्रदेश में टैक्स-फ्री

बता दें कि इस फिल्म को देश भर में पसंद किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने भी कर्नाटक की एक रैली में इस फिल्म का जिक्र किया था। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर जोरदार बिजनेस कर रही है। दो दिन में फिल्म ने देश भर 20 करोड़ रुपए से अधिक का कलेक्शन किया है।

एमके स्टालिन (MK Stalin) के नेतृत्व वाली तमिलनाडु की सरकार में लव जिहाद (Love Jihad) पर बनी फिल्म केरला स्टोरी (The Kerala Story) को दिखाने से रोक दिया गया है। इसके लिए राज्य में कानून-व्यवस्था का हवाला दिया। अब यह फिल्म राज्य के सिनेमाघरों में नहीं दिखाई जाएगी।

तमिलनाडु मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ने अनाउंस किया है कि वे रविवार (7 मई 2023) से पूरे राज्य में ‘द केरल स्टोरी’ की स्क्रीनिंग रोक दी गई। एसोसिएशन के कहा है कि यह फिल्म ‘लॉ एंड ऑर्डर के लिए खतरा हो सकती है। हालाँकि, यह भी कहा जा रहा है कि राज्य में फिल्म को ठंडा रिस्पॉन्स मिल रहा है। इसलिए एसोसिएशन ने यह फैसला लिया।

तमिलनाडु में नाम तमिलर काची (NTK) ने शनिवार (6 मई 2023) को चेन्नई में ‘द केरल स्टोरी’ की रिलीज के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। फिल्म के प्रोड्यूसर, एक्टर और डायरेक्टर के खिलाफ तमिलर पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्काईवॉक मॉल के पास विरोध प्रदर्शन किया।

इसके अलावा, मनिथनेय मक्कल काची (MMK) के अध्यक्ष और विधायक एमएच जवाहिरुल्लाह ने गुरुवार (4 मई 2023) को तमिलनाडु की स्टालिन सरकार से इस फिल्म पर प्रतिबंध लगाने का आग्रह किया था। उन्होंने इसे दशहत फैलाने के उद्देश्य से बनाई गई फिल्म बताया था।

जवाहिरुल्लाह ने कहा था कि फिल्म निराधार दावे करती है और इसे एक विशेष धर्म और एक राजनीतिक विचारधारा का अपमान करने के मकसद से बनाया गया है। उन्होंने माँग की थी कि राज्य सरकार को फिल्म और अन्य ऐसी फिल्मों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए, जो दहशत पैदा करने के मकसद से बनाई गई हैं।

बता दें कि ‘द केरल स्टोरी’ का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से ही इस फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की माँग की जा रही थी। कुछ लोगों ने इसके लिए केरल हाईकोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया।हालांकि, केरल हाईकोर्ट ने फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।

जस्टिस एन नागरेश और जस्टिस सोफी थॉमस की पीठ ने 5 मई 2023 को सुनवाई के दौरान कहा कि फिल्म में इस्लाम या मुस्लिमों के खिलाफ कुछ भी नहीं है। यह फिल्म आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (ISIS) के बारे में है। पीठ ने कहा, “इस्लाम के खिलाफ क्या है? धर्म के खिलाफ कोई आरोप नहीं है। आरोप आईएसआईएस के खिलाफ है।”

अदालत ने आगे कहा था, “किसी भी याचिकाकर्ता ने फिल्म नहीं देखी है। फिल्म के ट्रेलर को देखकर लगता है कि इसमें किसी समुदाय विशेष के लिए कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है।” पीठ ने मौखिक रूप से टिप्पणी की कि ऐसी कई फिल्में हैं, जिनमें हिंदू संन्यासियों को तस्कर या बलात्कारी के रूप में दिखाया गया है। हिंदी में भी हैं और मलयालम में भी। कोई विरोध नहीं करता।

इस पर अधिवक्ता दुष्यंत दवे ने कहा कि अगर एक गलत की अनुमति दी गई, इसका मतलब ये नहीं कि दूसरे को भी दी जानी चाहिए। इस पर कोर्ट ने कहा, “आप अंतिम समय पर आए हैं।” बता दें कि केरला स्टोरी 5 मई 2023 को देश भर के सिनेमा घरों में रिलीज हुई है।

फिल्म के रिलीज होने के साथ विरोध को देखते हुए केरल के कई जिलों में इसके शो को कैंसिल कर दिया गया। वहीं, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार (6 मई 2023) को राज्य में इस फिल्म को टैक्स फ्री करने की घोषणा की है।

बता दें कि इस फिल्म को देश भर में पसंद किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने भी कर्नाटक की एक रैली में इस फिल्म का जिक्र किया था। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर जोरदार बिजनेस कर रही है। दो दिन में फिल्म ने देश भर 20 करोड़ रुपए से अधिक का कलेक्शन किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -