Wednesday, July 17, 2024
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकीतुमलोग इंसानों के लिए खतरा हो या नहीं? - प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी ही...

तुमलोग इंसानों के लिए खतरा हो या नहीं? – प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी ही कही बात से पलट गई रोबोट, 9 रोबोटों ने मीडिया के सवालों के दिए जवाब

अपने मालिक के खिलाफ भविष्य में बगावत की आशंका को ले कर किए गए सवाल के जवाब में अमेका ने अपने मालिक विल जैक्शन की तारीफ करते हुए हमेशा उनके प्रति वफादार रहने का वादा किया।

स्विटजरलैंड के जेनेवा में 7 जुलाई (शुक्रवार) को दुनिया की पहली रोबोट-मानव प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई। इस कॉन्फ्रेंस में मानव रूप में बनाए गए कुल 9 रोबोट शामिल किए गए थे। पत्रकरों ने इन रोबोटों से अलग-अलग सवाल किए जिनके इन सभी ने जवाब दिए। इन जवाबों में इंसानों की नौकरी न चुराने और उनके खिलाफ कभी विद्रोह न करने का वादा भी शामिल था। कुछ रोबोटों के जवाब से उनके निर्माता ही असहमत दिखे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिनेवा में आयोजित इस पहली तरह की प्रेस कांफ्रेंस में रोबोट और उनके निर्माता एक साथ मौजूद थे। इस सम्मेलन को ‘एआई फॉर गुड’ नाम दिया गया था। आयोजन का मकसद प्रस्तुत रोबोटों की मानव निर्मित बुद्धिमत्ता को दुनिया के आगे लाना था। इन रोबोटों को जेनरेटिव एआई की आधुनिक तकनीकियों से बनाया गया है। भविष्य में इन रोबोटों को बीमारी और भूख जैसी समस्याओं के समाधान का प्रयास कर रहे मनुष्यों की मदद के लिए प्रयोग करने की योजना है। इनसे हुए सवाल-जवाब का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए नीले रंग के नर्स जैसे कपड़े पहनी ग्रेस नाम की एक मेडिकल रोबोट ने मनुष्यों के काम में सहायक की भूमिका निभाने का वादा किया। साथ ही ग्रेस ने भरोसा दिलाया कि वो किसी व्यक्ति की नौकरी के लिए दिक्कत नहीं पैदा करेंगी। ग्रेस के निर्माता बेन गोएर्टज़ेल ने भी आवाज लगा कर इस वादे की पुष्टि करनी चाही तो जवाब मिला, “हाँ, मुझे यकीन है।” वहीं अमेका नाम के रोबोट ने अपना उपयोग मानव जीवन के साथ दुनिया को बेहतर बनाने के लिए बताया। अमेका ने भविष्य में अपने जैसे हजारों रोबोट और बनने की संभावना जताई।

अपने मालिक के खिलाफ भविष्य में बगावत की आशंका को ले कर किए गए सवाल के जवाब में अमेका ने अपने मालिक विल जैक्शन की तारीफ करते हुए हमेशा उनके प्रति वफादार रहने का वादा किया। रोबोट ने उल्टे पत्रकार से ही ऐसा न सोचने की अपील की। ऐ-दा नाम का एक कलाकार रोबोट चित्र बनाने में और डेसडेमोना नाम की रोबोट रॉक गानों को गाने में एक्सपर्ट है। डेसडेमोना ने खुद को सीमाओं के बजाय अवसरों में विश्वास करने वाली बताते हुए दुनिया को खेल का मैदान कहा।

सोफिया नाम की एक रोबोट के मुताबिक, रोबोट इंसानों से बेहतर नेतृत्व कर सकते हैं। इसे बनाने वाले जब अपने ही रोबोट के बयान से असहमत दिखे तो सोफिया ने अपने बयान को सुधारते हुए कहा कि रोबोट इंसानों से प्रभावी तालमेल बिठा कर और अच्छे से मिल कर काम कर सकते हैं। फ़िलहाल रोबोटों की यह प्रेस कांफ्रेंस दुनिया भर के लिए चर्चा का विषय बनी हुई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरियों में अग्निवीरों को 10% आरक्षण: हरियाणा के CM सैनी का ऐलान- आयुसीमा में भी मिलेगी छूट, बंदूक का लाइसेंस भी मिलेगा

हरियाणा के सीएम सैनी ने कहा कि राज्य में अग्निवीरों को पुलिस भर्ती और माइनिंग गार्ड समेत कई अन्य पदों की भर्ती में 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा।

12वीं पास को ₹6000, डिप्लोमा वाले को ₹8000, ग्रेजुएट को ₹10000: क्या है महाराष्ट्र की ‘लाडला भाई योजना’, कैसे और किनको मिलेगा फायदा?

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने 'लाडला भाई योजना' की घोषणा की है। इस लाडला भाई योजना में युवाओं को फैक्ट्रियों में अप्रेंटिसशिप मिलेगी और सरकार की तरफ से उन्हें वजीफा दिया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -