Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजभारत का पहला 3D प्रिंटिंग डाकघर: लागत कम होने से निर्माण क्षेत्र में क्रांति...

भारत का पहला 3D प्रिंटिंग डाकघर: लागत कम होने से निर्माण क्षेत्र में क्रांति की उम्मीद, PM मोदी ने दी बधाई

1,100 वर्ग फुट के क्षेत्र में बनाए गए इस डाकघर को सिर्फ 23 लाख रुपए में बनाया गया है, जो पारंपरिक डाकघर भवन की लागत से लगभग 30-40% कम है। यह अधिक टिकाऊ और प्राकृतिक आपदाओं के प्रति प्रतिरोधी भी है। इसके साथ ही देश में 3D प्रिंटिंग निर्माण को गति मिलने की उम्मीद है।

भारत तकनीक की दुनिया में तेजी से आत्मनिर्भरता की तरफ कदम बढ़ा रहा है। इसका उदाहरण देश का 3D प्रिंटिंग तकनीक का इस्तेमाल कर बनाया गया पहला 3D पोस्ट ऑफिस है। बेंगलुरु स्थित इस डाकघर को 3डी प्रिंटेड पोस्ट ऑफिस नाम दिया गया है। केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शुक्रवार (18 अगस्त 2023) को किया।

यह डाकघर बेंगलुरु के कैंब्रिज लेआउट में 1,100 वर्ग फुट के क्षेत्र में फैला हुआ है। इसे 3डी कंक्रीट प्रिंटिंग तकनीक का उपयोग करके बनाया गया है, जिसमें त्रि-आयामी संरचनाएँ बनाने के लिए कंप्यूटर के जरिए डिजाइन का उपयोग करता है।

इसे सिर्फ 23 लाख रुपए में बनाया गया है, जो पारंपरिक डाकघर भवन की लागत से लगभग 30-40% कम है। यह अधिक टिकाऊ और प्राकृतिक आपदाओं के प्रति प्रतिरोधी भी है। इसके साथ ही देश में 3D प्रिंटिंग निर्माण को गति मिलने की उम्मीद है।

IT मंत्री ने शेयर किया 3डी पोस्ट ऑफिस का वीडियो

केंद्रीय IT मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इस 3डी पोस्ट ऑफिस का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि ये आत्मनिर्भर भारत की ताकत है कि भारत का पहला 3डी प्रिंटेड पोस्ट ऑफिस तैयार है। इसका नाम कैंब्रिज लेआउट पोस्ट ऑफिस रखा गया है।

मजबूत नेतृत्व का परिणाम

अश्विनी वैष्णव ने इसके उद्घाटन के समय कहा, “बेंगलुरु शहर हमेशा से भारत की नई तस्वीर पेश करता रहा है। ये 3डी डाकघर आज के भारत की भावना है। विकास की भावना… यही वो भावना है, जिसके साथ भारत प्रगति कर रहा है। अपनी तकनीक को विकसित करने और उस पर विश्वास करने की भावना ही असली भावना है। ये सब तभी संभव हो पाया है, जब देश का नेतृत्व निर्णायक व्यक्ति (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) के हाथों में है, जिन्हें अपने लोगों पर भरोसा है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया नवाचार और प्रगति का प्रमाण

इस पोस्ट ऑफिस की तस्वीरें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी साझा की है। उन्होंने लिखा, “बेंगलुरु में भारत का पहला 3डी प्रिंटेड पोस्ट ऑफिस देखकर हर भारतीय को गर्व होगा। ये हमारे देश के नवाचार और प्रगति का एक प्रमाण है। ये आत्मनिर्भर भारत की भावना का भी प्रतीक है। उन सभी लोगों को बधाई जिन्होंने डाकघर को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत की है।”

महज 44 दिनों में बनकर तैयार हो गया पोस्ट ऑफिस

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह पोस्ट ऑफिस बेंगलुरू के कैम्ब्रिज लेआउट में स्थित है। इस पर 21 मार्च 2023 से काम शुरू हुआ था और 3 मई को काम पूरा भी कर लिया गया। इसे बनाने में सिर्फ 44 दिन का समय लगा। इसका डिजाइन आईआईटी मद्रास ने तैयार किया है। वहीं, लार्सन एंड टुब्रो कंपनी ने 3डी कंक्रीट पेंटिंग तकनीकी का इस्तेमाल कर इसे तैयार किया है।

लार्सन एंड टुब्रो ने इससे पहले भी 3डी बिल्डिंग बनाए हैं, जिसमें तमिलनाडु के कांचीपुरम में भारत की पहली 3डी-प्रिंटेड इमारत भी शामिल है। इसमें स्वदेशी रूप से उपलब्ध नियमित निर्माण सामग्री का उपयोग करके एक अद्वितीय इन-हाउस विकसित कंक्रीट मिश्रण शामिल था। नवंबर 2019 में एलएंडटी टीम ने 240 वर्ग फुट 1 बीएचके को 3डी-प्रिंट किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

काँवड़ यात्रा पर किसी भी हमले के लिए मोहम्मद जुबैर होगा जिम्मेदार: यशवीर महाराज ने ‘सेकुलर’-इस्लामी रुदालियों पर बोला हमला, ढाबों मालिकों की सूची...

स्वामी यशवीर महाराज ने 18 जुलाई 2024 को एक वीडियो बयान जारी कर इस्लामिक कट्टरपंथियों और तथाकथित 'सेकुलरों' को आड़े हाथों लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -