Sunday, May 22, 2022
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकीReliance Jio से पाएँ कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता WhatsApp पर, पिनकोड डाल कर एक...

Reliance Jio से पाएँ कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता WhatsApp पर, पिनकोड डाल कर एक क्लिक पर सब कुछ

रिलायंस जियो की इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए उपभोक्ता को व्हाट्सऐप चैटबॉट नंबर ‘7000770007’ पर ‘Hi’ लिखकर भेजना होगा। इसके बाद...

रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने एक व्हाट्सऐप आधारित चैटबॉट सेवा शुरू की है। इसके माध्यम से ग्राहक वैक्सीन की उपलब्धता की जानकारी के साथ, रिचार्ज करने, शिकायत करने, उनके समाधान और अन्य सेवाओं का लाभ ले सकते हैं। यह सेवा जियो के साथ दूसरे टेलीकॉम ऑपरेटर्स के ग्राहकों के लिए भी उपलब्ध है।

जियो की इस व्हाट्सऐप चैटबॉट सुविधा के माध्यम से ग्राहक Covid-19 वैक्सीन की उपलब्धता की जानकारी हासिल कर सकते हैं। अभी तक उपलब्ध अन्य ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स में वैक्सीन की जानकारी लेने के लिए वन टाइम पासवर्ड की जरूरत होती है और उसके साथ ही रिफ्रेश करते रहने की जरूरत भी होती है लेकिन जियो की व्हाट्सऐप चैटबॉट सुविधा के माध्यम से ग्राहक बिना किसी परेशानी के मात्र अपने क्षेत्र का पिनकोड देकर वैक्सीन की जानकारी हासिल कर सकते हैं।

रिलायंस जियो की इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए उपभोक्ता को व्हाट्सऐप नंबर ‘7000770007’ पर ‘Hi’ लिखकर भेजना होगा। इसके बाद उपभोक्ता के मोबाइल पर सारे ऑप्शन आ जाएँगे।

जियो उपभोक्ताओं को वैक्सीन की जानकारी के अतिरिक्त रिचार्ज करने, भुगतान करने, सेवा संबंधी शिकायत करने, उनका समाधान प्राप्त करने, जियो फाइबर और जियो मार्ट की सुविधा भी दी गई है। हालाँकि दूसरे दूसरे टेलीकॉम ऑपरेटर्स के ग्राहक वैक्सीन की जानकारी हासिल करने और जियो एकाउंट्स को रिचार्ज करने के लिए रिलायंस जियो चैटबॉट की सेवा ले सकते हैं। हालाँकि गैर-जियो उपभोक्ताओं को एकाउंट संबंधी जानकारी देने पर चैटबॉट की वैरिफिकेशन संबंधी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है।

ज्ञात हो कि रिलायंस जियो और फेसबुक के मध्य 43,574 करोड़ रुपए की डील वर्ष 2020 में हुई थी। इस डील के माध्यम से फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म्स के शेयर्स में 9.99% इक्विटी खरीदी। इस डील के माध्यम से जियो की पहुँच फेसबुक के मालिकाना वाले व्हाट्सऐप तक बढ़ गई, जिसके माध्यम से रिलायंस खुदरा और थोक व्यापारियों को आपस में जोड़ना चाहता है। रिलायंस का उद्देश्य है फेसबुक और व्हाट्सऐप का उपयोग करके भारत में ऑनलाइन व्यापार को नई दिशा प्रदान करना।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ज्ञानवापी में सिर्फ शिवलिंग ही नहीं, हनुमान जी की भी मूर्ति: अमेरिका के म्यूजियम में 154 साल पुरानी तस्वीर, नंदी भी विराजमान

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे को लेकर जारी विवाद के बीच सामने आई तस्वीर में हनुमान जी के मिलने से हिन्दू पक्ष का दावा और मजबूत हो गया है।

नौगाँव थाने में आग लगाने वाले 5 आरोपितों के घरों पर चला असम सरकार का बुलडोजर: शराबी शफीकुल की मौत पर 2000 कट्टरपंथियों ने...

असम में एक व्यक्ति की मौत के शक में थाने को जलाने के 5 आरोपितों के घरों को प्रशासन ने बुलडोजर से ढहा दिया है। तीन को गिरफ्तार भी किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,078FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe