Tuesday, July 16, 2024
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकीWhatsapp चैट की चिंता? Telegram ने जारी किया यूनिक फीचर: जाने कैसे आसानी होगा...

Whatsapp चैट की चिंता? Telegram ने जारी किया यूनिक फीचर: जाने कैसे आसानी होगा हर डेटा ट्रांसफर

आप यदि पूरी तरह व्हॉट्सएप, लाइक जैसी एप्स को छोड़ने का मन बना चुके हैं लेकिन कुछ जरूरी चैट्स के कारण वहाँ अटके हुए हैं तो ये फीचर आपके लिए मददगार साबित होगा। इसके जरिए आप उन चैट को टेलीग्राम पर ट्रांसफर करके whatsapp या अन्य एप्स को हमेशा के लिए अलविदा कह सकते हैं।

Whatsapp की नई पॉलिसी के कारण कई यूजर्स अब टेलीग्राम का रुख कर चुके हैं। ऐसे में मौके का फायदा उठाते हुए टेलीग्राम ने एक नया फीचर ‘माइग्रेशन टूल’ पेश किया है। इसमें आप अपने व्हॉट्सएप की चैट को टेलीग्राम पर ट्रांसफर कर सकते हैं।

जी हाँ, आप यदि पूरी तरह व्हॉट्सएप, लाइक जैसी एप्स को छोड़ने का मन बना चुके हैं लेकिन कुछ जरूरी चैट्स के कारण वहाँ अटके हुए हैं तो ये फीचर आपके लिए मददगार साबित होगा। इसके जरिए आप उन चैट को टेलीग्राम पर ट्रांसफर करके whatsapp या अन्य एप्स को हमेशा के लिए अलविदा कह सकते हैं।

टेलीग्राम ने इस नए फीचर के बारे में अपने ब्लॉग में विस्तृत जानकारी दी है। मैसेजिंग एप ने यह भी बताया है ‘अधिक गोपनियता और स्वतंत्रता के साथ इस साल जनवरी में Telegram की यूजर्स की संख्या 100 मिलियन से अधिक हो गई है। 

कंपनी ने यह नई सुविधा आईओएस और Android दोनों यूजर्स के लिए उपलब्ध करवाई है। हालाँकि, फिलहाल इसका प्रयोग कुछ लोगों तक सीमित होगा। 

ios की बात करें तो इसके लिए यूजर्स को अपनी व्हाट्सऐप काॅन्टेक्ट इंफो और ग्रुप इंफो में जाना होगा। उसके बाद वहाँ एक्सपोर्ट चैट पर क्लिक कर टेलीग्राम पर जाएँ। इसी तरह एंड्रायड यूजर के लिए व्हॉट्सऐप चैट में मोर और फिर एक्सपोर्ट चैट में जाकर टेलीग्राम पर क्लिक करना होगा। इस प्रक्रिया के बाद आपकी व्हाट्ऐप चैट उसी दिन टेलीग्राम पर ट्रांसफर हो जाएगी। 

अब रही बात एप में स्पेस की। यदि आप whatsapp की चैट ट्रांस्फर करने से पहले इस बात से तंग है कि वह एक्ट्रा स्पेस लेगा। तो बता दें कि टेलीग्राम के पास आपकी इस चिंता का भी निवारण है। दरअसल, जिस तरह मैसेजिंग एप में स्टोर डेटा आपके डिवाइस में जगह घेरता है। टेलीग्राम इस तरह का कोई स्पेस नहीं लेता।

टेलीग्राम ने अपने इस नए फीचर के साथ पुराने कई फीचर की क्वालिटी को भी सुधारा है। इसमें वॉयस चैट, ऑडियो प्लेयर, स्टिकर्स, एनिमेशन को सुधारा गया है। इसके साथ डिजिटल फुटप्रिंट कंट्रोल का अधिकार, फेक चैनल की शिकायत आदि करने की सुविधा भी ये प्लेटफॉर्म देता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर के डोडा में 4 जवान बलिदान, जंगल में छिपे थे इस्लामी आतंकवादी: हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमला करने वाले आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी

जम्मू कश्मीर के डोडा में हुए आतंकी हमले में एक अफसर समेत 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली है।

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -