Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजअनुच्छेद-370 हटने के बाद 1700 कश्मीरी पंडितों को नौकरी, 439 आतंकी मारे गए: J&K...

अनुच्छेद-370 हटने के बाद 1700 कश्मीरी पंडितों को नौकरी, 439 आतंकी मारे गए: J&K पर संसद में सरकार ने दिए आँकड़े

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 के हटने के बाद से यानी 5 अगस्त 2019 से 26 जनवरी 2022 तक 541 आतंकी घटनाएँ हुई हैं, जबकि 439 आतंकवादी मारे गए हैं।

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में अनुच्छेद-370 निरस्त करने के बाद से अब तक यहाँ विभिन्न सरकारी विभागों में करीब 1700 कश्मीरी पंडितों को नियुक्त किया गया है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय (Nityanand Rai) ने बुधवार (2 फरवरी, 2022) को राज्यसभा में यह जानकारी दी। राज्यसभा में कश्मीरी पंडितों की नौकरियों को लेकर पूछे गए सवाल पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए आँकड़ों का हवाला देते हुए कहा, “1,54,712 में से 44,684 कश्मीरी प्रवासी परिवारों को राहत और पुनर्वास आयुक्त (प्रवासी) जम्मू के कार्यालय में पंजीकृत किया गया था। जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा विभिन्न सरकारी विभागों में करीब 1700 कश्मीरी पंडितों को नियुक्त किया गया है।”

नित्यानंद राय ने एक लिखित प्रश्न का जवाब देते हुए कहा, “कश्मीरी प्रवासी परिवारों के पुनर्वास के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने 5 अगस्त 2019 से 1697 ऐसे व्यक्तियों को नियुक्त किया है और इस संबंध में अतिरिक्त 1140 व्यक्तियों का चयन किया है।”

नित्यानंद राय ने राज्यसभा सांसद नीरज डांगी को एक लिखित जवाब में बताया कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 के हटने के बाद से यानी 5 अगस्त 2019 से 26 जनवरी 2022 तक 541 आतंकी घटनाएँ हुई हैं, जबकि 439 आतंकवादी मारे गए हैं। इसके अलावा 98 नागरिक भी मारे गए और 109 सुरक्षा बल (एसएफ) ​बलिदान हुए हैं। गृह राज्य मंत्री ने बताया इन घटनाओं के दौरान, किसी भी महत्वपूर्ण सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान नहीं हुआ है।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार द्वारा अनुच्छेद-370 को निरस्त करने के बाद वहाँ पर पथराव की घटनाएँ भी कम हुई हैं। इसके अलावा घाटी में आतंकवादियों को होने वाली फंडिंग पर भी रोक लगी है और अलगाववादी नेताओं पर एनआईए ने कार्रवाई की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शराब घोटाले में दिल्ली CM के खिलाफ जाँच पूरी, अब ₹1100 करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क करने की तैयारी: रिपोर्ट में ED अधिकारी के हवाले...

शराब घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने दावा किया है कि उनकी इस केस में पार्टी के साथ-साथ अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जाँच पूरी हो गई है।

जो प्रधानमंत्री है खालिस्तानी आतंकियों का ‘हमदर्द’, उसने अब दिलजीत दोसांझ को दिया ‘सरप्राइज’: PM ट्रुडो से मिलकर बोले भारतीय सिंगर- विविधता कनाडा की...

कनाडा पीएम ट्रुडो जो हमेशा से खालिस्तानी आतंकियों के 'हमदर्द' बनकर रहे उन्होंने हाल में दिलजीत दोसांझ को कनाडा में 'सरप्राइज' दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -