Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजघंटी, माला, चंदन का टीका... साधु बनकर गाँव-गाँव घूम रहे थे मुस्लिम युवक, 'नंदी...

घंटी, माला, चंदन का टीका… साधु बनकर गाँव-गाँव घूम रहे थे मुस्लिम युवक, ‘नंदी दर्शन’ कराकर वसूलते थे पैसे: बदायूं में 3 गिरफ्तार

साधु वेश में बैल के साथ मुस्लिमों की गिरफ्तारी की ये पहली घटना नहीं है। जुलाई 2022 में बिहार के हाजीपुर में एक मंदिर के बाहर से 6 ऐसे मुस्लिम युवकों को पकड़ा गया था, जो हिन्दू साधु की वेशभूषा में भिक्षा ले रहे थे।

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में साधु बनकर गाँव-गाँव घूम रहे तीन मुस्लिमों को रविवार (29 अक्टूबर 2023) को गिरफ्तार किया गया। ये ‘नंदी दर्शन’ के नाम पर लोगों से पैसे वसूलते थे। इनकी पहचान अनीस, वली मोहम्मद और शाकिर के तौर पर सामने आई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला उसावां थाना क्षेत्र का है। यहाँ रविवार को गाँव नवीगंज में 3 संदिग्ध साधु वेश में पहुँचे। इन सभी के पास एक-एक बैल थे। घंटी, माला, चंदन का टीका आदि लगाकर इन्होंने बैल को नंदी का रूप दे रखा था। घर-घर जा कर भीख माँगने के साथ लोगों को बैलों से आशीर्वाद भी दिला रहे थे। लोगों को इनके हाव-भाव और बोली से शक हुआ। ग्रामीणों ने तीनों को रोक कर पूछताछ शुरू कर दी। इस बीच मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई।

पुलिस ने मौके पर पहुँचकर तीनों संदिग्धों को कस्टडी में लेकर पूछताछ की। पूछताछ में तीनों मुस्लिम समुदाय के निकले। इनकी पहचान शाहजहाँपुर जिले के अनीस और वली मोहम्मद तथा हरदोई जिले के शाकिर के तौर पर हुई। तीनों ने बताया कि बैल उनके ही हैं जिनके माध्यम से उन्होंने कमाई करने के लिए हिन्दू वेश धारण किया था। तीनों काफी समय से उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में ये काम कर रहे थे।

तीनों आरोपित आपस में रिश्तेदार हैं। इनकी पोल खुलने के बाद ग्रमीणों ने उन पर धोखा देने और धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया। इन सभी पर केस दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है। पुलिस ने तीनों बैलों को भी मुक्त करवा दिया है। थाना प्रभारी रामेन्द्र सिंह के मुताबिक आसपास के जिलों से तीनों के रिकॉर्ड को खँगाला जा रहा है। इन सभी द्वारा रेकी आदि की आशंका को ले कर भी पुलिस जाँच कर रही है।

बताते चलें कि साधु वेश में बैल के साथ मुस्लिमों की गिरफ्तारी की ये पहली घटना नहीं है। जुलाई 2022 में बिहार के हाजीपुर में एक मंदिर के बाहर से 6 ऐसे मुस्लिम युवकों को पकड़ा गया था, जो हिन्दू साधु की वेशभूषा में भिक्षा ले रहे थे। सभी युवक उत्तर प्रदेश के बहराइच के रहने वाले थे। इन्होंने भी अपने साथ एक नंदी रखा था। इसी तरह बिहार के ही मुंगेर जिले से तीन मुस्लिम युवकों को हिन्दू साधु की वेशभूषा में भिक्षा माँगते हुए धरा गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -