Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजस्कूली छात्रा के साथ छेड़खानी करते पकड़ा गया जो शहादत अली, उसे बचाने के...

स्कूली छात्रा के साथ छेड़खानी करते पकड़ा गया जो शहादत अली, उसे बचाने के लिए अली शोहराब ने फैलाया झूठ: कमलेश तिवारी की हत्या का मना चुका है जश्न

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि छात्रा साइकिल से जा रही होती है और शहादत अली अपनी स्कूटी लेकर उसके बगल में जा रहा होता है।

हिन्दुओं के प्रति घृणित रुख रखने वाले और कमलेश तिवारी की हत्या के बाद जश्न मनाने वाला कथित पत्रकार अली सोहराब (Ali Sohrab) को एक बार फिर सोशल मीडिया पर झूठ फैलाते हुए पकड़ा गया है। शहादत अली नाम के जिस पुलिसकर्मी को उत्तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस ने एक छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में निलंबित कर दिया है, उसने (अली सोहराब) सोशल मीडिया पर उसके पक्ष में माहौल में बनाने का प्रयास किया।

अली सोहराब ने गुरुवार (4 मई 2023) को अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सिपाही शहादत अली स्कूटी सवार छात्रा (अपनी बेटी की फ्रेंड) को कुछ समझा रहा था, तभी एक महिला ने उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इसके बाद शहादत अली के खिलाफ केस दर्ज कर उसे फौरन अरेस्ट कर लिया गया। अब उसे सस्पेंड किए जाने की तैयारी है।”

वहीं, इससे पहले थाना कैंट प्रकरण के संबंध में ईस्ट लखनऊ के डीसीपी ने बुधवार (3 मई 2023) को आरोपित पुलिसकर्मी शहादत को निलंबित करने की जानकारी दी थी। उन्होंने बताया था, “आज एक बाइक सवार व्यक्ति द्वारा स्कूली छात्रा का पीछे करने और उससे बात करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। घटना के संबंध में थाना कैंट में शिकायत मिली है। शिकायत के आधार पर सुसंगत धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपित की पहचान शहादत अली के रूप में हुई है। उसको पुलिस हिरासत में ले लिया गया है। इस मामले में आगे की जाँच जारी है। आरोपित पुलिसकर्मी शहादत को निलंबित किया जा चुका है।”

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि छात्रा साइकिल से जा रही होती है और शहादत अली अपनी स्कूटी लेकर उसके बगल में जा रहा होता है। तभी स्कूटी से आ रही महिला की पीछे वाली सीट पर बैठे एक व्यक्ति ने उसका वीडियो बना लिया। ये लोग पीड़ित छात्र और उस पुलिसकर्मी के पीछे से गुजर रहे थे। वीडियो में उस व्यक्ति को ये कहते हुए सुना जा सकता है कि गाड़ी में कोई नंबर प्लेट भी नहीं है। वीडियो में महिला पुलिसकर्मी से पूछती है, “आप कौन भाई साहब? जानते हैं आप उनको (छात्रा को)?” इस पर वो पुलिसकर्मी हक्का-बक्का होकर कर जवाब देता है कि छात्रा उसके बच्चे के साथ पढ़ती है।

इसके बाद वायरल वीडियो पर संज्ञान लेते हुए लखनऊ पुलिस ने ट्वीट किया कि इस प्रकरण में उक्त पुलिसकर्मी के विरुद्ध थाना कैंट में मामला दर्ज कर उचित कार्रवाई की जा रही है।

बता दें कि 2020 में अली सोहराब ने माता वैष्णो देवी मंदिर में 400 लोगों के फँसे होने की झूठी ख़बर पोस्ट की थी। इसके बाद उसने फेसबुक पर ही अगली पोस्ट में यह भी दावा किया था कि उनमें से 145 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। अली सोहराब ने लिखा था कि बाकियों का टेस्ट जारी है और नए मामले भी सामने आ सकते हैं।

यही नहीं, अली सोहराब ने कमलेश तिवारी की हत्या के बाद जश्न भी मनाया था। उसने उनकी हत्या के बाद ट्विटर पर दीवाली की बधाई दी थी। अपने इस कृत्य से उसने हिन्दुओं को चिढ़ाने का प्रयास किया था। वह रोहित सरदाना की नाबालिग बेटी को भी भला-बुरा बोल चुका है। अली सोहराब के ख़िलाफ़ यूपी पुलिस ने अक्टूबर 2019 में मामला दर्ज किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

3 आतंकियों को घर में रखा, खाना-पानी दिया, Wi-Fi से पाकिस्तान करवाई बात: शौकत अली हुआ गिरफ्तार, हमलों के बाद OGW नेटवर्क पर डोडा...

शौकत अली पर आरोप है कि उसने सेना के जवानों पर हमला करने वाले आतंकियों को कुछ दिन अपने घर में रखा था और वाई-फाई भी दिया था।

नई नहीं है दुकानों पर नाम लिखने की व्यवस्था, मुजफ्फरनगर पुलिस ने काँवड़िया रूट पर मजहबी भेदभाव के दावों को किया खारिज: जारी की...

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पुलिस ने ताजी एडवायजरी जारी की है, जिसमें दुकानों और होटलों पर मालिकों के नाम लिखने को ऐच्छिक कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -