Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजपढ़ाने जाता था, 4-5 बार थोड़ी-बहुत 'छेड़खानी' हो गई: 9 साल की बच्ची का...

पढ़ाने जाता था, 4-5 बार थोड़ी-बहुत ‘छेड़खानी’ हो गई: 9 साल की बच्ची का रेप आरोपित AMU मौलाना

9 साल की बच्ची से रेप का आरोपित मौलवी मोहम्मद अहमद ने यह भी बताया कि वो अजान पढ़ता था और अगर इमाम नहीं होते थे तो वो नमाज भी पढ़ता था।

दो दिन पहले की घटना है। अलीगढ़ में 9 साल की बच्ची के साथ बलात्कार करने का सनसनीखेज मामला सामने आया था। इस मामले में पुलिस द्वारा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के मौलवी मोहम्मद अहमद को गिरफ्तार किया जा चुका है।

अब इसी घटना में बेहद शर्मनाक और घिनौनी बात सामने आ रही है। टाइम्स नाउ हिंदी की खबर के अनुसार, गिरफ्तारी के बाद रेप आरोपित मौलवी मोहम्मद अहमद ने मीडिया से बातचीत के दौरान अपने अपराधों को स्वीकार कर लिया है। साथ ही उसने बताया कि वो पीड़ित नाबालिग बच्ची को पढ़ाने जाता था, तो थोड़ी-बहुत छेड़खानी हो गई।

मीडिया के सामने बोलते-बोलते मौलवी मोहम्मद अहमद ने यह भी कबूला कि उसने बच्ची के साथ 4-5 बार ‘गंदी हरकत’ की है। लेकिन उसके अनुसार यह ‘थोड़ी-बहुत छेड़खानी’ थी।

पढ़ें खबर : AMU की मस्जिद में नमाज पढ़ाने वाले मौलाना ने 9 साल की बच्ची को बनाया हवस का शिकार

9 साल की बच्ची से रेप का आरोपित मौलवी मोहम्मद अहमद ने यह भी बताया कि वो अजान पढ़ता है और अगर इमाम नहीं होते हैं तो वो नमाज भी पढ़ता है। उसने कहा, “बच्चों को कुरान की शिक्षा देता हूँ। यह (छेड़खानी) 4-5 बार हुआ है।”

पढ़ें विचार : तख्ती गैंग, मौलवी क़ुरान पढ़ाने के बहाने जब रेप करता है तो कौन सा मज़हब शर्मिंदा होगा?

मौलवी ने कैसे बनाया बच्ची को अपनी हवस का शिकार

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के मस्जिद में मोहम्मद अहमद मोज्जिन था। पुलिस के अनुसार, मौलवी मोहम्मद अहमद नाबालिग को घर पर कुरान और उर्दू पढ़ाने जाता था। मौलाना ने मासूम को डरा धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और शिकायत करने पर बच्ची को जान से मारने की धमकी दी।

इस घटना की जानकारी परिजनों को होने पर पीड़ित बच्ची की माँ ने शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपित मौलवी के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की और मौलवी को गिरफ्तार कर लिया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -