Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजमुझे मेरे पति से मिलवाओ, वरना जान से दूँगी... अतीक अहमद के गुंडों ने...

मुझे मेरे पति से मिलवाओ, वरना जान से दूँगी… अतीक अहमद के गुंडों ने यूपी पुलिस के संदीप निषाद को भी मार डाला: गरीब है परिवार, ‘दलित संगठनों’ ने साधी चुप्पी

रीमा रोते हुए बार-बार यही कह रही थीं कि उन्हें उनके पति से मिलवाया जाए, वरना वो भी अन्न-जल त्याग कर जान दे देगी।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में पूर्व सांसद अतीक अहमद के बेटे ने गुंडों के साथ मिल कर विधायक राजू पाल हत्याकांड के मुख्य गवाह उमेश पाल को गोलियों से भून डाला। उनके अलावा एक और व्यक्ति की हत्या की गई। वो थे उमेश पाल के गनर संदीप निषाद, जो यूपी पुलिस में कार्यरत थे। 26 वर्षीय संदीप निषाद आजमगढ़ के अहिरौला थाना क्षेत्र के बिसईपुर गाँव में रहने वाले थे। तीन भाइयों में वो दूसरे नंबर पर थे। उनकी एक बहन भी है।

संदीप अपने बड़े भाई प्रदीप निषाद को अपने साथ प्रयागराज में ही रखते थे, जो वहाँ प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी कर रहे हैं। वहीं छोटा भाई दीपचंद्र घर पर माँ-पिता के साथ रहते हैं। गाँव में जब पोस्टमॉर्टम के बाद संदीप की डेड बॉडी पहुँची तो भारी भीड़ जुट गई। मुआवजे के साथ-साथ घर तक सड़क बनवाने और एक सरकारी नौकरी देने की माँग हो रही है। अंतिम संस्कार में पुलिस-प्रशासन के कई अधिकारी मौजूद रहे।

संदीप निषाद का बचपन काफी गरीबी में बीता था। पिता संतराम एक साधारण किसान हैं। घर पर ठीक से छप्पर तक नहीं है। 2018 में संदीप निषाद का यूपी पुलिस में चयन हुआ था। वहीं 2021 में उनकी शादी कराई गई थी। एक बेहद गरीब परिवार जिसकी आर्थिक स्थिति अब ठीक हो रही थी, फिर से पुरानी से भी बदतर स्थिति में चला गया है। जिले के दुर्वासा धाम पर उनका अंतिम संस्कार हुआ। शवयात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

संदीप की पत्नी रीमा और माँ का रो-रो कर बुरा हाल है। संदीप के बड़े भाई प्रदीप सरकारी अध्यापक बनना चाहते हैं। संदीप अपनी पत्नी रीमा को भी किराए वाले घर में साथ ही रखते थे। रीमा रोते हुए बार-बार यही कह रही थीं कि उन्हें उनके पति से मिलवाया जाए, वरना वो भी अन्न-जल त्याग कर जान दे देगी। संदीप निषाद का शव पुलिस लाइन भी लाया गया था, जहाँ उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। पुलिस के वाहन में ही पार्थिव शरीर को आजमगढ़ ले जाया गया। दलितों के हितों की बात करने का दावा करने वाले संगठनों ने संदीप निषाद पर चुप्पी साध रखी है।

उमेश पाल की हत्या में शामिल अपराधियों में चार की पहचान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हो गई है। इनमें से एक गैंगस्टर अतीक अहमद का बेटा असद भी है। इसके अलावा, अतीक का करीबी बमबाज गुड्‌डू मुस्लिम, अरमान और मोहम्मद गुलाम की भी पहचान हुई है। ये चारों प्रयागराज के रहने वाले हैं। हमले में कुल 7 लोग शामिल थे। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के मुस्लिम बोर्डिंग छात्रावास में छापा मारकर अतीक अहमद के करीबी शूटर मोहम्मद गुलाम के 3 गुर्गों को हिरासत में लिया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल है या झटका… मीट की दुकान के बाहर लिखो: जयपुर नगर निगम ने जारी किया आदेश, शिव मंदिर के पास और काँवड़ियों के...

जयपुर नगर निगम ने कावंडियों के रास्ते में और शिव मंदिर के निकट खुले में मीट बिक्री पर रोक लगाने की बात कही है।

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -