Saturday, September 18, 2021
Homeदेश-समाजअयोध्या: फ़ैसले से पहले ही SC का अभूतपूर्व क़दम, CJI को Z प्लस सिक्योरिटी

अयोध्या: फ़ैसले से पहले ही SC का अभूतपूर्व क़दम, CJI को Z प्लस सिक्योरिटी

सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से पहले राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी सुरक्षा व्यवस्था चाकचौबंद कर दी गई है। इस फ़ैसले से पहले सुप्रीम कोर्ट के जजों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को जेड प्लस सुरक्षा दी गई है।

अयोध्या भूमि विवाद मामले में मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, एसए बोबडे और न्यायमूर्ति अशोक भूषण को अयोध्या में क़ानून और व्यवस्था सुनिश्चित करने संबंधी जानकारी से अवगत कराने के लिए यूपी के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक ने शुक्रवार (8 नवंबर) को ब्रीफिंग की।

CJI और दो अन्य जजों को बताया गया कि अयोध्या या राज्य के किसी भी हिस्से में अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षाबल की तैनाती की गई है और प्रशासन पूरी तरह से फिट है। यह तीनों न्यायाधीश पाँच जजों वाली पीठ का हिस्सा हैं, जो शनिवार को मामले पर अपना फ़ैसला सुनाएगी।

पीठ में अन्य दो न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और एस अब्दुल नज़ीर भी शामिल हैं। अयोध्या में 4,000 से अधिक अर्धसैनिक बलों की तैनाती के सन्दर्भ में एक घंटे से अधिक समय तक चली बैठक में मुख्य सचिव और डीजीपी ने CJI को सूचित किया। जजों को यह भी बताया गया कि रैपिड एक्शन फ़ोर्स प्रशासन द्वारा चिन्हित किए गए 78 हॉटस्पॉटों पर निरंतर निगरानी रखेगी।

बता दें कि पिछले कुछ महीने से सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई निरंतर हो रही थी। आज आने वाला फ़ैसला इसलिए भी अनूठा है क्योंकि आमतौर पर शनिवार को कोर्ट की छुट्टी रहती है, लेकिन फ़ैसले के लिए शनिवार का दिन चुनना भी अपने आप में एक ऐतिहासिक क़दम है।

सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से पहले राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी सुरक्षा व्यवस्था चाकचौबंद कर दी गई है। इस फ़ैसले से पहले सुप्रीम कोर्ट के जजों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को जेड प्लस सुरक्षा दी गई है। वहीं बाकी जजों की और उनके आवास समेत सुप्रीम कोर्ट परिसर और आसपास की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

ख़बर के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट की इनर मोस्ट जोन की सुरक्षा भी दिल्ली पुलिस की सिक्युरिटी यूनिट के हवाले रहती है। इसलिए सुप्रीम कोर्ट के अंदर जो सुरक्षा होगी। वह सिक्योरिटी यूनिट देखेगी। पूरे इलाके को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया है। सुप्रीम कोर्ट की तरफ जाने वाली सभी सड़कों की निगरानी बढ़ा दी गई है। तिलक मार्ग, भगवानदास रोड, मथुरा रोड, महादेव रोड और इंडिया गेट सर्कल की सुरक्षा न्यू दिल्ली डिस्ट्रिक्ट पुलिस देखेगी।

सुप्रीम कोर्ट समेत कई इलाकों में पेट्रोलिंग शुरू कर दी गई है। संदिग्ध लोगों पर नज़र रखी जा रही है। अयोध्या मामले पर फ़ैसले से पहले दिल्ली पुलिस ने एक्स्ट्रा फोर्स भी बुलाई है। उन सभी को नई दिल्ली इलाके में भी तैनात किया जाएगा। सभी की तैनाती शुरू हो चुकी है। डीसीपी नई दिल्ली और जॉइंट सीपी नई दिल्ली रेंज सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने में जुटे हुए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,951FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe