Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाज₹1 करोड़ की स्मैक के साथ नफीस, ₹25 लाख की चरस के साथ अख्तर...

₹1 करोड़ की स्मैक के साथ नफीस, ₹25 लाख की चरस के साथ अख्तर अली: UP पुलिस ने 2 दिन में की 2 ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी

लगभग घंटे भर की भागदौड़ के बाद टीम ने घेराबंदी करके युवक को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसकी पहचान नफीस के तौर पर हुई। जब पुलिस ने इसकी छानबीन शुरू की तो इसके पास से 1 करोड़ 7 लाख की स्मैक बरामद हुई।

उत्तर प्रदेश के बहराइच में पुलिस व एसएसबी की संयुक्त टीम ने कल (6 जुलाई 2021) गश्त के दौरान एक स्मैक तस्कर को गिरफ्तार किया। छानबीन में पुलिस को इसके पास से 1 करोड़ 7 लाख रुपए की स्मैक बरामद हुई। पुलिस ने आरोपित को पकड़कर जेल भेज दिया है। इस बीच जिला पुलिस के हत्थे 7 जुलाई को एक और तस्कर चढ़ा जिसके पास से 25 लाख रुपए की चरस बरामद हुई।

जानकारी के अनुसार, भारत-नेपाल सीमा पर स्थित रुपईडीहा बॉर्डर एक खुली सीमा है। जहाँ बॉर्डर की सुरक्षा में एसएसबी व पुलिस के जवान मुस्तैद हैं। सीमा की सुरक्षा के लिए 6 जुलाई को रुपईडीहा थाने के वरिष्ठ उपनिरीक्षक रूदल बहादुर सिंह व एसएसबी के एएसआई दीप सिंह भाटी दल बल के साथ गश्त कर रहे थे। उसी दौरान उनको माल गोदाम रोड के पास से एक युवक दिखाई पड़ा। टीम ने रोका तो वह भागने लगा।

पुलिस को युवक का ऐसा बर्ताव देख शक हुआ और पुलिस ने उसका पीछा किया। लगभग घंटे भर की भागदौड़ के बाद टीम ने घेराबंदी करके युवक को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसकी पहचान नफीस के तौर पर हुई। जब पुलिस ने इसकी छानबीन शुरू की तो इसके पास से 1 करोड़ 7 लाख की स्मैक बरामद हुई।

एसएसपी ग्रामीण अशोक कुमार ने मामले के संबंध में बताया कि आरोपित ने अपने आपको सहजना रुपईडीहा का निवासी बताया है। उसके ख़िलाफ़ केस दर्ज करके उसे जेल भेज दिया गया। इस मामले में यूपी पुलिस ने भी ट्वीट करके जानकारी दी है। ट्वीट में लिखा है, “बहराइच पुलिस एवं एसएसबी के संयुक्त प्रयास द्वारा एक मादक पदार्थ तस्कर को गिरफ्तार करते हुए उसके कब्जे से लगभग ₹01 करोड़ 07 लाख की स्मैक बरामद की गई है।”

उल्लेखनीय है कि बहराइच जिले में मादक पदार्थ की तस्करी करने के मामले में पुलिस ने एक अन्य गिरफ्तारी भी की है। पुलिस ने विदेशी बाजार में 25 लाख कीमत वाले 1.250 किलो चरस के साथ अख्तर अली नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित के ख़िलाफ़ NDPS कानून की धारा 8/20 लगाने के बाद उसको कोर्ट में पेश किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ममता बनर्जी महान महिला’ – CPI(M) के दिवंगत नेता की बेटी ने लिखा लेख, ‘शर्मिंदा’ पार्टी करेगी कार्रवाई

माकपा नेताओं ने कहा ​कि ममता बनर्जी पर अजंता बिस्वास का लेख छपने के बाद से वे लोग बेहद शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं।

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe