Monday, October 25, 2021
Homeदेश-समाजसिर्फ इसलिए कि मैं कॉन्ग्रेस से हूँ, क्या मुझे धर्म के बारे में नहीं...

सिर्फ इसलिए कि मैं कॉन्ग्रेस से हूँ, क्या मुझे धर्म के बारे में नहीं बोलना चाहिए: बेंगलुरु ‘ईशनिंदा’ आरोपित नवीन

जाँच के दौरान, नवीन ने किसी भी धर्म या आस्था के खिलाफ अपमानजनक पोस्ट करने या किसी भी तरह का अपमान करने से इनकार किया है। गिरफ्तार कॉन्ग्रेस पार्टी कार्यकर्ता ने यह भी कहा है कि उसने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हिंदू विरोधी टिप्पणियों का समय-समय पर जवाब दिया है और आरोप लगाया है कि इसी वजह से कुछ लोग उसके खिलाफ साजिश कर रहे हैं।

कॉन्ग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे पी नवीन का कॉन्ग्रेस पार्टी के साथ उनके संबंधों का खुलासा हुआ है। बता दें कि नवीन पर आरोप है कि उनके सोशल मीडिया पोस्ट ने बेंगलुरु की सड़कों पर हिंसा फैलाने के लिए संप्रदाय विशेष की भीड़ को भड़काया था।

नवीन इस समय अपने आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर पुलिस हिरासत में है। कन्नड़ दैनिक विजयवाणी की एक रिपोर्ट के अनुसार, नवीन ने शुक्रवार (अगस्त 14, 2020) को बेंगलुरु दंगों के मामले की पुलिस जाँच के दौरान पूछताछ में कॉन्ग्रेस पार्टी के साथ अपने जुड़ाव की खुलकर पुष्टि की है।

युवा कॉन्ग्रेस नेता ने पूछताछ के दौरान पुलिस से कहा, “सिर्फ इसलिए कि मैं कॉन्ग्रेस से हूँ, क्या मुझे धर्म के बारे में नहीं बोलना चाहिए।”

कथित तौर पर, कॉन्ग्रेस विधायक के भतीजे ने जाँच के दौरान पुलिस अधिकारियों को बेंगलुरु दंगों से संबंधित सनसनीखेज जानकारी दी है। बेंगलुरु पुलिस ने नवीन के खिलाफ आईपीसी की धारा 153 ए और 295 के तहत मामला दर्ज किया है।

जाँच के दौरान, नवीन ने किसी भी धर्म या आस्था के खिलाफ अपमानजनक पोस्ट करने या किसी भी तरह का अपमान करने से इनकार किया है। गिरफ्तार कॉन्ग्रेस पार्टी कार्यकर्ता ने यह भी कहा है कि उसने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हिंदू विरोधी टिप्पणियों का समय-समय पर जवाब दिया है और आरोप लगाया है कि इसी वजह से कुछ लोग उसके खिलाफ साजिश कर रहे हैं।

नवीन ने पुलिस को यह भी बताया कि इस घटना के बाद से उसे जान से मारने की बहुत सारी धमकियाँ मिल रही है।

गौरतलब है कि बेंगलुरु के दंगों के बाद, नवीन को इस्लामवादियों, संप्रदाय विशेष की मॉब से इस्लाम के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए धमकियाँ मिल रही हैं। हमने इस बात की सूचना दी थी कि कैसे बेंगलुरु में हुए दंगों के बाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर इस्लामवादियों ने नवीन की मौत की कामना की थी।

आरिफ खान नाम के युवक द्वारा नवीन की एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा गया – “यही वो कॉन्ग्रेस MLA का नेफ्यू है, जिसने रसूलल्लाह की शान में गुस्ताखी की है..।”

इस पोस्ट के कमेंट्स में सलमान अंसारी और सरताज ने नवीन को ‘लानत’ दी हैं। अन्सीर बाशा ने लिखा है – “इस को फॉरवर्ड मत करो, सब्र करो और इसका हश्र देखो आगे।”

इससे पहले, पूर्व सपा नेता शाहबेज रिजवी ने कर्नाटक कॉन्ग्रेस के दलित विधायक आर मूर्ति के भतीजे नवीन का सिर काटने पर 51 लाख रुपए का इनाम घोषित किया था। हालाँकि, उत्तर प्रदेश पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया

बेंगलुरु में इस्लामिक भीड़ का भयावह चेहरा देखने के बाद भी 13 अगस्त को शाहजेब रिजवी ने एक वीडियो जारी किया था। इस वीडियो में उसने कहा था, “फेसबुक पोस्ट के माध्यम से नवीन ने हुजूर के शान में जो गुस्ताखी की है, मैं उसकी कड़ी शब्दों में निंदा करता हूँ। इस युवक का जो सर कलम करके लाएगा उसे मैं 51 लाख का नगद ईनाम दूँगा।” इसके लिए रिजवी ने संप्रदाय विशेष के लोगों से मिलकर 51 लाख रुपए जमा करने की भी अपील की थी।

बता दें कि नवीन के कथित आपत्तिजनक पोस्ट पर बेंगलुरु में दंगे भड़कने बाद उसके राजनीतिक संबंध को लेकर भाजपा और विपक्षी पार्टी में वाकयुद्ध छिड़ गया था। कॉन्ग्रेस ने अपना मुस्लिम तुष्टिकरण कार्ड को संरक्षित रखते हुए पर नवीन पर इस्लाम के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए हमला किया था। ऐसा करने पर, राज्य में कॉन्ग्रेस पार्टी के प्रमुख डीके शिवकुमार ने दावा किया था कि नवीन भाजपा के समर्थक हैं।

डीके शिवकुमार के राजनीतिक आक्षेप का जवाब देते हुए, उपमुख्यमंत्री सीएन अश्वथ नारायण ने डीके शिवकुमार और नवीन का पोस्टर शेयर करते हुए सबूत पेश किया था कि ‘ईशनिंदा’ करने वाला आरोपित कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता था।

हालाँकि, नवीन के द्वारा खुद को कॉन्ग्रेस पार्टी के साथ अपने संबंधों के बारे में कबूल करने के साथ ही उसके राजनीतिक जुड़ाव को लेकर विवाद अब समाप्त होता दिख रहा है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

असम: CM सरमा ने किनारे किया दीवाली पर पटाखों पर प्रतिबंध का आदेश, कहा – जनभावनाओं के हिसाब से होगा फैसला

असम में दीवाली के मौके पर पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध का ऐलान किया गया था। अब मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा है कि ये आदेश बदलेगा।

‘भारत से क्रिकेट में हारने पर हिंदू लड़कियाँ उठा लेते थे पाकिस्तानी’: Pak से भागे हिंदू ने बताई हकीकत

"क्रिकेट में जब भी पाकिस्तान भारत से हारता है तो पागल हो जाता है। बहुत जुलुम होता है वहाँ हिन्दुओं पर, कहते हैं तुम्हारा इंडिया जीत गया इसलिए उठा ली तुम्हारी लड़कियाँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,693FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe