Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजअंकित को शहादत, समशेर, आरिफ सहित 10 ने चाकुओं से गोदा: पिता ने मस्जिद...

अंकित को शहादत, समशेर, आरिफ सहित 10 ने चाकुओं से गोदा: पिता ने मस्जिद के पास मर्डर का लगाया आरोप, बिहार पुलिस ने बताई क्रिकेट की कहानी

मृतक अंकित के परिजन शव लेकर प्रदर्शन करते हुए आरोपितों के गाँव पहुँचे। यहाँ कट्टरपंथी मुस्लिम भीड़ ने उन पर हमला किया। हद तो तब हो गई जब पुलिस ने भी प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठी चार्ज किया।

बिहार के गोपालगंज के बसडीला गाँव में कट्टरपंथी मुस्लिम भीड़ ने सब्जी खरीदने गए अंकित नाम के युवक की शुक्रवार (27 जनवरी, 2023) शाम को चाकू मार कर हत्या कर दी। मृतक के पिताजी के अनुसार बताया जा रहा है कि मस्जिद के पास तीन अन्य युवकों से उनके गाँव का नाम पूछकर तेज हथियारों से जानलेवा हमला किया गया। उनमें से एक की हालत नाजुक है। अंकित की मौत के बाद नाराज परिजनों और ग्रामीणों ने शनिवार को सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने लाठी चार्ज की। खबर है कि आरोपित पक्ष द्वारा भी प्रदर्शन कर रहे लोगों पर हमला किया गया है।

मृतक अंकित पसरमा गाँव का रहने वाला है। अंकित के पिता मोहन प्रसाद के मुताबिक बसडीला मस्जिद के पास से गुजर रहे अंकित और उसके साथियों को स्थानीय लोगों ने घेर लिया। अंकित के साथ मारपीट की गई। उसे पास के घर में ले जाया गया और गला दबाकर हत्या को अंजाम दिया गया। अंकित के पिता मोहन प्रसाद ने शहादत मियाँ, समशेर मियाँ, सोनू मियाँ, आरिफ मियाँ, मुन्ना मियाँ, सोनू मियाँ, आदिल अली, सुभान अहमद, अहमद अली और दिलशाद अली पर एफआईआर दर्ज करवाया है। उन्होंने हमले में महिलाओं समेत 30-35 लोगों के शामिल होने की बात कही है।

पसरमा गाँव के ही हरिओम, चंदन कुमार और शिवम कुमार इस हमले में गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। हरिओम की हालत नाजुक बताई जा रही है। उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद यूपी के गोरखपुर रेफर कर दिया गया है। हमले में जख्मी अंकित की शनिवार (28 जनवरी, 2023) को इलाज के दौरान मौत हो गई। पोस्टमॉर्टम के बाद शव मिलते ही परिजन और गाँव वाले आक्रोशित हो गए और हत्यारों की गिरफ्तारी की माँग करने लगे।

परिजन शव लेकर प्रदर्शन करते हुए आरोपितों के गाँव पहुँचे। यहाँ कट्टरपंथी मुस्लिम भीड़ ने उन पर हमला किया। इसके बाद देखते-देखते दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया। सूचना पर पहुँची पुलिस ने भी प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठी चार्ज किया और हवाई फायरिंग की। गोपालगंज के डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी और एसपी स्वर्ण प्रभात भी घटना स्थल पर पहुँचे। तनाव को देखते हुए इलाके में भारी पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। पुलिस के अनुसार फिलहाल हालात काबू में है।

घटना की जानकारी देते हुए बिहार पुलिस की तरफ से भी ट्वीट भी किया गया है। बिहार पुलिस की तरफ से लिखा गया, “गोपालगंज जिले के नगर थाना अंतर्गत बसडीला गाँव में क्रिकेट खेलने को लेकर हुए दो पक्षों के विवाद में एक युवक अंकित कुमार बुरी तरह जख्मी हो गए थे। इलाज के क्रम में उनकी मृत्यु हो गई। मिली सूचना, सबूतों और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कुल 6 लोगों को पूछताछ हेतु हिरासत में लिया गया है।

क्यों हुआ विवाद?

मीडिया रिपोर्टों की मानें तो 4 दिन पहले क्रिकेट खेलने के दौरान पसरमा गाँव के अंकित कुमार और उनके दोस्तों का बसडीला गाँव के मुस्लिम युवकों के साथ विवाद हुआ था। हालाँकि विवाद पंचायत स्तर पर सुलझा लिया गया था। शुक्रवार को दोस्तों के साथ बसडीला बाजार से लौट रहे अंकित कुमार को बसडीला गाँव के मुस्लिम युवकों ने घेर लिया और गाली-गलौज करने लगे। देखते-देखते विवाद बढ़ गया और चाकूबाजी होने लगी। आरोप है कि कट्टरपंथी मुस्लिम भीड़ ने दोस्तों के गाँव का नाम पूछ कर उन पर हमला किया। इस हमले में अंकित और उसके दोस्त बुरी तरह घायल हो गए। इलाज के दौरान अंकित की मौत हो गई जबकि एक दोस्त हरिओम बुरी तरह से जख्मी हैं।

सोशल मीडिया पर इस विवाद को सरस्वती पूजा से जोड़े जाने पर गोपालगंज पुलिस ने ट्वीट कर लोगों से अफवाह न फैलाने की अपील की है। पुलिस ने स्पष्ट किया कि मामले का सरस्वती पूजा विसर्जन से लेना देना नहीं है। बिहार पुलिस के अनुसार जिले में सरस्वती माता की प्रतिमा का विसर्जन शांतिपूर्ण रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -