Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजमुजफ्फरपुर शेल्टर होम पीड़िता के साथ गैंगरेप, अगवा कर 4 ने बनाया हवस का...

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम पीड़िता के साथ गैंगरेप, अगवा कर 4 ने बनाया हवस का शिकार

पीड़िता की हालत गंभीर बताई जा रही है। पुलिस मामले की जॉंच में जुटी है। फिलहाल सभी आरोपी गिरफ्त से बाहर हैं। आरोपितों में से दो सगे भाई हैं। दुष्कर्म के बाद पीड़िता को मुॅंह बंद रखने की धमकी भी दी गई।

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की एक पीड़ित लड़की का अपहरण कर गैंगरेप करने का मामला सामने आया है। पीड़िता ने गैंगरेप का आरोप दो सगे भाइयों समेत 4 पर लगाया है। घटना बेतिया के नगर थाना इलाके की है। पीड़िता का आरोप है कि आरोपितों ने उसे अगवा कर चलती गाड़ी में गैंगरेप किया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जाँच में जुट गई है।

खबर के मुताबिक, वह कोतवाली चौक स्थित अपनी भाभी के घर जा रही थी। इसी दौरान कार सवार चार दरिंदे आए और उसे गाड़ी में जबरन बैठा लिया। सभी आरोपितों ने अपने चेहरे ढँक रखे थे। लेकिन पीड़िता ने दो का नकाब उतार दिया और उनको पहचान लिया है। पीड़ि‍ता ने बताया कि उसके साथ चलती गाड़ी में भी रेप किया गया, फिर उनलोगों ने संतघाट नहर के पास दोबारा घिनौनी घटना को अंजाम दिया। इसके बाद दरिंदों ने उसे उसके मोहल्ले में लाकर छोड़ दिया।

दुष्कर्मियों ने गैंगरेप के बाद पीड़िता को धमकी भी दी थी। लेकिन पीड़िता ने हिम्मत दिखाते हुए पुलिस से शिकायत की। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जाँच शुरू कर दी है। फिलहाल, किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

वहीं गैंगरेप के बाद पीड़िता का गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज के आईसीयू वार्ड में इलाज चल रहा है। लड़की की स्थिति चिंताजनक बताई जा रही है। घटना की सूचना पर नगर थानाध्यक्ष शशिभूषण ठाकुर, महिला थानाध्यक्ष पूनम कुमारी अस्पताल में पहुँचकर मामले की जाँच में जुटे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -