Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजरेलवे ट्रैक पर इंस्टाग्राम के लिए रील बना रहे थे बरकत और सरवर, राजधानी...

रेलवे ट्रैक पर इंस्टाग्राम के लिए रील बना रहे थे बरकत और सरवर, राजधानी से कटकर मौत: एक के शरीर के दर्जन भर टुकड़े, दूसरे का सिर फटा

जो लड़का रील के लिए एक्टिंग कर रहा था उसके शरीर के दर्जन भर टुकड़े हो गए। वहीं वीडियो शूट कर रहे लड़के का सिर फट गया। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

बिहार में इंस्टाग्राम के लिए रील बनाते हुए ट्रेन से कटकर दो लड़कों की मौत हो गई। घटना कटिहार के बारसोई की है। मृतक की पहचान 18 साल के बरकतुल्लाह और 15 साल के सरवर के तौर पर हुई है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार दोनों गुरुवार (25 अगस्त 2022) को राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आ गए।

कुछ मीडिया रिपोर्टों में बरकत का नाम बरगद भी बताया जा रहा है। बरकत मौलवी बनने की पढ़ाई कर रहा था। वहीं सरवर सातवीं कक्षा का छात्र था। कुछ रिपोर्ट में दोनों मृतक भाई तो कुछ में दोस्त बताए गए हैं। बताया जा रहा कि दोनों दोपहर के समय घर से निकले थे। शाम तक नहीं लौटे तो परिजनों को चिंता हुई। इसी बीच उन्हें रेलवे ट्रैक पर बॉडी होने की जानकारी मिली। मौके पर दोनों की क्षत-विक्षत लाश पड़ी थी।

इस बीच रेलवे अधिकारियों को भी ट्रैक पर बॉडी होने की सूचना मिली। लेकिन जब तक आरपीएफ के जवान मौके पर पहुँचे परिजन दोनों की डेड बॉडी लेकर जा चुके थे। इस संबंध में कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई। लिहाजा पुलिस कुछ भी कहने से बच रही है। इस घटना के बाद से मृतकों के गाँव लहगरिया में सन्नाटा पसरा है।

रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे दोनों लड़के बारसोई रेलवे स्टेशन के आउटर पर रेलवे ट्रैक पर खड़े होकर वीडियो शूट कर रहे थे। इसी दौरान वे राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आ गए। जो लड़का रील के लिए एक्टिंग कर रहा था उसके शरीर के दर्जन भर टुकड़े हो गए। वहीं वीडियो शूट कर रहे लड़के का सिर फट गया। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। यह भी बताया जा रहा है कि मौके पर एक और लड़का था। वह इस घटना के बाद भाग गया।

एक रिपोर्ट के अनुसार दोनों रील के लिए ‘जो मैं फिसल जाऊँ…’ गाने पर शूट कर रहे थे। इस घटना से पहले वे दो वीडियो इंस्टाग्राम पर उसी दिन अपलोड भी कर चुके थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -