Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजहिंसा में झुलसे बिहारशरीफ की महिलाओं का सुनिए दर्द: दावा- 500 हिंदू गायब, पुलिस...

हिंसा में झुलसे बिहारशरीफ की महिलाओं का सुनिए दर्द: दावा- 500 हिंदू गायब, पुलिस बोली- किसी के लापता होने की शिकायत नहीं मिली

महिलाएँ अपनी सुरक्षा को लेकर सशंकित दिखाई पड़ रही हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार पुलिस पर गंभीर सवाल खड़े कर रहीं हैं।

बिहार के नालंदा जिले के बिहारशरीफ में 31 मार्च 2023 को रामनवमी शोभा यात्रा को निशाना बनाया गया था। बिहार पुलिस का दावा है कि स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है। लेकिन आज तक की एक रिपोर्ट पुलिसिया दावों पर सवाल खड़ी कर रही है। इसमें दिख रही महिलाओं का दावा है कि उनके घर के पुरुष गायब हैं। एक महिला 500 हिंदुओं के गायब होने का दावा कर रही है। वैसे नालंदा के डीएम शशांक शुभंकर ने एक वीडियो संदेश में कहा है कि किसी भी व्यक्ति के गायब होने की अब तक शिकायत नहीं मिली है।

इन महिलाओं से बात आज तक की पत्रकार श्वेता सिंह ने की है। वीडियो को देखकर लगता है कि श्वेता सिंह बिहारशरीफ की उस गली में हैं, जहाँ के एक 15 साल के लड़के की गोली लगने से मौत की बात कही जा रही है। श्वेता सिंह से बातचीत में महिलाएँ अपनी सुरक्षा को लेकर सशंकित दिखाई पड़ रही हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार पुलिस पर गंभीर सवाल खड़े कर रहीं हैं।

वीडियो में 500 हिंदुओं के गायब होने का दावा करने वाली महिला जो कुछ कह रही हैं, उससे प्रतीत होता है कि दंगाइयों ने पहले खुद मस्जिद में आग लगाई और फिर हिंदुओं को निशाना बनाया। वह कहती हैं, “मस्जिदया जला देलकै और कुल के गोलियो मार देलकै। जे उठाबे जाई ओकरे मारई। कुल भाग गेलैन हिंदुअन। 500 हिंदू गायब हई।” महिला ने ये भी बताया कि उनके घर के पुरुष कहाँ हैं, ये उन्हें नहीं पता।

एक अन्य महिला ने बताया है कि सीढ़ी लगाकर पुलिस घरों में घुसी और पुरुषों को ले गई। उन्होंने बताया कि घर में पुरुषों के नहीं होने के कारण महिलाएँ डरी हुईं हैं। एक साथ घरों के आगे बैठ उनका इंतज़ार कर रहीं हैं। महिला के मुताबिक पुलिस उनके घर के पुरुषों को दौड़ा-दौड़ा कर पकड़ रही है। मोहल्ले की एक अन्य महिला ने पुलिस की कार्रवाई पर नाराजगी जताते हुए कहा है कि उन्हें थाने से भगा दिया गया। एक अन्य महिला ने कहा कि अब दुबारा नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहिए।

श्वेता सिंह से बातचीत में एक महिला पूछती हैं, “क्या मियाँ पुलिस का दामाद लगता है?” महिलाओं का कहना है कि पुलिस उनका साथ नहीं दे रहा है। मोहल्ले में मृतक बच्चे के शव भी कई जगहों पर घुमाने का आरोप लगाया। एक अन्य महिला ने पुलिस पर सिर्फ हिन्दुओं को ही प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। महिला के मुताबिक जिसके नाम केस है, बस उसे ही पकड़ा जाए। लेकिन बिहार पुलिस घर में घुस कर गंदी-गंदी गालियाँ दे रही है। महिलाओं का यह भी आरोप है कि बिहार पुलिस मुस्लिमों की बस्ती की तरफ गई ही नहीं। एक अन्य महिला ने कहा, “मियाँ घर में चढ़ जाएगा तो कौन काम देगा हमको। अपना मर्दाना होता तो जरूर काम देता हमको।”

ऑपइंडिया महिलाओं के इन आरोपों की पुष्टि नहीं करता। नालंदा जिला प्रशासन हालात नियंत्रण में होने के बात कर रहा है। DM शशांक शुभंकर ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है। साथ ही अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की बात कही है।

इस बीच बिहार पुलिस ने एक ट्वीट में भी बिहारशरीफ से लोगों के लापता होने के दावे को नकार दिया है। पुलिस ने कहा है कि किसी भी महिला, पुरुष और बच्चे के लापता होने की शिकायत नहीं मिली है। साथ ही महिला पुलिसकर्मियों से छेड़छाड़, लोगों के पलायन करने सहित कई अन्य दावों को भी अफवाह बताया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -