Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजकिसान नेताओं के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी: टिकैत भाई ने कहा- UP पुलिस...

किसान नेताओं के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी: टिकैत भाई ने कहा- UP पुलिस की मार खाने से बढ़िया है कि निकल लेते हैं

आरोपित किसान नेताओं के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने के लिए दिल्ली पुलिस को निर्देश दिए गए हैं। एक आरोपित को देश से बाहर जाने से रोकने के लिए उसके विरुद्ध लुक आउट नोटिस जारी किया गया है।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में प्रशासन द्वारा किसानों को रात तक प्रदर्शन साइट खाली करने के आदेश जारी करने के बाद बृहस्पतिवार (जनवरी 28, 2021) शाम से ही दिल्ली की गाजीपुर सीमा पर तनाव बढ़ गया।

शाम होते, जैसे ही दंगा-रोधी दस्ता साइट पर पहुँचने लगा, प्रदर्शनकारी और किसान नेता आपस में बँटने लगे। आंदोलन के नेता विरोध प्रदर्शन के भविष्य की कार्रवाई पर अलग-अलग होते नजर आ रहे हैं। जहाँ एक ओर बीकेयू के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भावुक होकर घोषणा की कि गाजीपुर में विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा, वहीं उनके भाई बीकेयू प्रमुख नरेश टिकैत ने कहा कि इस धरना प्रदर्शन को समाप्त कर देना चाहिए।

राकेश टिकैत ने दिल्ली से सटे गाजीपुर में यूपी गेट पर संवाददाताओं से कहा कि वह कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध छोड़ने के बजाय आत्महत्या कर लेंगे। इसके विपरीत, उनके भाई नरेश टिकैत ने मुजफ्फरनगर में एक सभा में समर्थकों से कहा, “निराश मत हो। आज गाजीपुर में विरोध भी खत्म हो जाएगा। पुलिस से पिटने से बढ़िया इसे खाली करना है।”

गाजियाबाद प्रशासन द्वारा यूपी गेट पर प्रदर्शनकारियों को आधी रात के बाद साइट खाली करने का अल्टीमेटम देने के बाद नरेश टिकैत का यह बयान आया।

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस से पहले तक सबके ‘बक्कल उतारने’ की धमकी देने वाले टिकैत ने रोते हुए मीडिया के सामने आत्महत्या करने की बात कही है। साथ ही धरने पर जमा लोगों को दोबारा भड़काऊ स्पीच देकर भी उकसाया।

दिल्ली पुलिस ने भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत को नोटिस जारी करते हुए पूछा कि 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली को लेकर पुलिस के साथ हुए समझौते को तोड़ने के लिए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई क्यों न की जाए? इसके अलावा, उनके टेंट पर नोटिस भी चस्पा किया गया है। 

किसानों नेताओं के खिलाफ ‘लुक आउट’ नोटिस जारी

दूसरी ओर, गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा और उपद्रव के संबंध में दर्ज FIR में नामजद किसान नेताओं के खिलाफ दिल्ली पुलिस ‘लुक आउट’ नोटिस जारी करेगी। रिपोर्ट्स के अनुसार, अधिकारियों ने बताया कि इसके साथ ही प्राथमिकी में नामजद किसान नेताओं से उनका पासपोर्ट जमा कराने के लिए भी कहा जाएगा।

26 जनवरी के दिन हुई हिंसा के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई सिलसिलेवार बैठकों के बाद यह निर्णय लिए गए। अधिकारी ने कहा कि शाह लगातार दिल्ली की स्थिति पर नजर रख रहे हैं और उन्होंने बुधवार देर रात और बृहस्पतिवार सुबह भी बैठकें कीं।

उन्होंने कहा कि आरोपित किसान नेताओं के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने के लिए दिल्ली पुलिस को निर्देश दिए गए हैं। यही नहीं, एक आरोपित को देश से बाहर जाने से रोकने के लिए उसके विरुद्ध लुक आउट नोटिस जारी किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,634FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe