Monday, April 22, 2024
Homeदेश-समाजमुझे, मेरे अब्बा, खानदान... सबको गाली दो... लेकिन मेरे नबी की शान में बोला...

मुझे, मेरे अब्बा, खानदान… सबको गाली दो… लेकिन मेरे नबी की शान में बोला तो काट दूँगा: मुफ़्ती नदीम का वीडियो वायरल

"हम अपने आका की शान में की गई गुस्ताखी का बदला लेना जानते हैं। मेरे नबी की शान में एक लफ्ज भी बोला तो याद रखो कि जुबान काट ली जाएगी। हाथ उठाओगे तो हाथ काट लिए जाएँगे। ऊँगली उठाओगे तो ऊँगली काट ली जाएगी। अगर निगाहें भी उठीं तो निकाल कर बाहर फेंक देंगे।"

राजस्थान में पुलिस के सामने लोगों के हाथ-पैर काटने, आँख नोचने की धमकी दे रहा है एक काजी। खुलेआम वीडियो में। यह वीडियो अब वायरल है। बूंदी शहर के इस क़ाज़ी का नाम मुफ़्ती नदीम है। वीडियो में वो पैगंबर की शान में गुस्ताखी करने वालों के कत्लेआम की धमकी दे रहा है।

बूंदी शहर के क़ाज़ी मुफ़्ती नदीम के इस वीडियो को दानिश रज़ा अज़हरी ने 3 जून 2022 (गुरुवार) को अपने फेसबुक पर शेयर किया है। यह धमकी बूँदी जिले के एक पुलिस स्टेशन के आगे दी गई है। वीडियो में राजस्थान की पुलिस को भी देखा जा सकता है। राजस्थान पुलिस की मौजूदगी में मुफ़्ती ने कहा:

“अगर तुमने एक्शन नहीं लिया तो मुसलमान रिएक्शन देगा। ये कोई गुजारिश नहीं बल्कि चेतावनी है। पूरी दुनिया का मुसलमान उठेगा। ये न सिर्फ यहाँ का प्रशासन बल्कि पूरे देश की हुकूमत सुन ले। अगर उन्होंने (नूपुर शर्मा) ने जो बोला है, वो कानूनी तौर पर सही है तो हम ऐसे कानून के भी खिलाफ जाएँगे। इतिहास उठा कर देख लो कि जिस भी कौम के खिलाफ मुसलमानों ने रिएक्शन दिया है, उनके लिए जमीन छोटी पड़ गई है। वो जगह-जगह भागते फिरे और उनको जमीन का टुकड़ा भी नसीब नहीं हुआ।”

मुफ़्ती ने आगे कहा, “हम अपने आका की शान में की गई गुस्ताखी का बदला लेना जानते हैं। मेरे नबी की शान में एक लफ्ज भी बोला तो याद रखो कि जुबान काट ली जाएगी। हाथ उठाओगे तो हाथ काट लिए जाएँगे। ऊँगली उठाओगे तो ऊँगली काट ली जाएगी। अगर निगाहें भी उठीं तो निकाल कर बाहर फेंक देंगे। उसके बाद चाहे हम पर लाठी बरसाना या हमें जेल भेज देना।”

इस दौरान मौके पर मौजूद भीड़ बेशक-बेशक कह कर क़ाज़ी मुफ़्ती नदीम की बातों का समर्थन करती रही। हास्यास्पद यह कि इसी वीडियो में क़ाज़ी मुफ़्ती नदीम यह कहते सुना जा सकता है – “तुम मुझे गाली दो… बर्दाश्त है, मेरे वालिद लोगों को गाली दो… बर्दाश्त है, तुम मेरे खानदानों को बुरा कहो… बर्दाश्त है… लेकिन मेरे नबी की शान में अगर एक लब्ज भी बोला तो याद रख लो… जबान काट ली जाएगी।”

मुफ़्ती नदीम का वीडियो शेयर करते हुए दानिश रज़ा अज़हरी ने इस वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा, “हमने मुहम्मदे अरबीﷺ का कालिमा पढ़ा है, जिनकी तलवार से कुफ्फारे मक्का हैबत खाते थे। सुन ले पूरी दुनिया, हम मज़बूर हैं, बुजदिल नहीं। हमे आपको मैदान ए अम्ल में आना है। रब तआला पर तव्वको करके याद है ना बद्र का मैदान सहाबा के हाथों में पेड़ की टहनियों से कुफ्फारे मक्का घुटनो के बल आ गए थे। उन टहनियों को ना तोड़ पाय वक़्त के ज़ालिम कुफ्फार! इंशा अल्लाह हक़ आएगा बातिल मिटेगा।”

इस वीडियो को शेयर करने वाले दानिश रज़ा अज़हरी बरेलवी विचारधारा से ताल्लुक रखते हैं। उनके द्वारा शेयर किए गए वीडियो पर अब तक हजारों रिएक्शन आ चुके हैं। अज़हरी के समुदाय के अधिकतर लोगों ने उनकी बातों का समर्थन किया है। उन्होंने न सिर्फ दिल (Heart) का मार्क दिया है बल्कि बेशक और तमाम अन्य बातों से बयान को जायज ठहराया है।

Social Reactions (source – Facebook)

सोशल मीडिया पर राजस्थान पुलिस और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से इस मौलाना पर कार्रवाई की माँग की जा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोल्हापुर से कॉन्ग्रेस उम्मीदवार शाहू छत्रपति को AIMIM का समर्थन, आंबेडकर की नजदीकी के कारण उनके पोते ने सपोर्ट का किया ऐलान

AIMIM ने शिवाजी महाराज के वंशज और कोल्हापुर से कॉन्ग्रेस के उम्मीदवार शाहू छत्रपति को समर्थन दियाा है। वहाँ से पार्टी प्रत्याशी नहीं उतारेगी।

‘RR-KKR के पॉइंट्स लेकर निचली टीमों को दे दो’: वेंकटेश प्रसाद ने समझाया क्या है राहुल गाँधी की स्कीम, तो अब RCB पहुँचेगी सीधे...

वेंकटेश प्रसाद ने कहा कि ये उसी तरह हुआ, जैसे कोई कहे कि हम RR और KKR से 4 पॉइंट्स लेकर तालिका में सबसे नीचे की तीनों टीमों में बाँट दें।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe