Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजनर्स के हाथ-पाँव बाँध कर 5 लोगों ने बारी-बारी से किया रेप, 2 घंटे...

नर्स के हाथ-पाँव बाँध कर 5 लोगों ने बारी-बारी से किया रेप, 2 घंटे तक करते रहे ज्यादती: छत्तीसगढ़ की कॉन्ग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

उस दिन तक़रीबन शाम के 5 बजे पीड़िता को छोड़ा गया। बलात्कारियों ने उसे धमकी दी कि वो इस घटना के बारे में किसी को भी न बताए।

छत्तीसगढ़ के नवगठित जिले मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर के एक सरकारी अस्पताल में एक नर्स के हाथ-पाँव बाँध कर पाँच लोगों ने बारी-बारी से रेप किया। पुलिस ने इस मामले में 4 को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक आरोपित फरार चल रहा है। अंबिकापुर जिले से 2 आरोपितों को पकड़ा गया। घटना झाग्राखण्ड पुलिस थाना की है। पीड़िता परदोल गाँव की रहने वाली है। ये इलाका कोरिया जिले के महेंद्रगढ़ तहसील के अंतर्गत पड़ता है।

झाग्राखण्ड के थानाधिकारी दीपेश सैनी ने ‘इंडिया टुडे’ को बताया कि ये घटना शुक्रवार (22 अक्टूबर, 2022) को एक हेल्थ सेंटर में हुई। दिवाली के कारण उस दिन दोपहर को ही अस्पताल बंद कर दिया गया था। नर्स यहाँ से अपने घर जाने ही वाली थी, तभी 5 लोग आए और उसे बंधक बना लिया। पीड़िता ने पुलिस को दी गई शिकायत में बताया है कि उसके हाथ-पाँव बाँध दिए गए, जिसके बाद तीनों ने बारी-बारी से उसके साथ बलात्कार किया।

उस दिन तक़रीबन शाम के 5 बजे पीड़िता को छोड़ा गया। बलात्कारियों ने उसे धमकी दी कि वो इस घटना के बारे में किसी को भी न बताए। हालाँकि, घर आने के बाद उसने परिवार वालों को अपने साथ हुई क्रूरता के बारे में बताया। इसके बाद वो पुलिस के पास पहुँचे। इसके तुरंत बाद ही दो आरोपित धर-दबोचे गए। तीसरे की तलाश जारी है। पीड़िता का कहना है कि आरोपितों ने गैंगरेप का वीडियो भी बना लिया है। पीड़िता के गाँव में कुछ जवानों को तैनात किया गया है, ताकि स्थिति न बिगड़े।

फ़िलहाल आरोपितों के नाम भी पुलिस ने सार्वजनिक नहीं किए हैं। इस घटना के बाद राज्य में विपक्षी पार्टी भाजपा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली कॉन्ग्रेस सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। पार्टी की महिला मोर्चा ने जिले में विरोध प्रदर्शन किया। जिस उप-स्वास्थ्य केंद्र में ये घटना हुई है, उसी परिसर में माध्यमिक पाठशाला, आंगनबाड़ी और ग्राम पंचायत भवन भी है। मुख आरोपित 17 साल का नाबालिग बताया जा रहा है। 2 घंटे से भी ज्यादा समय तक वो ज्यादती करते थे रहे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -