Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजअजमेर दरगाह पर उर्स में बवाल, नारेबाजी के बाद मुस्लिमों ने ही मुस्लिमों को...

अजमेर दरगाह पर उर्स में बवाल, नारेबाजी के बाद मुस्लिमों ने ही मुस्लिमों को कूटा: खादिमों ने मस्जिद में छिपकर बचाई जान

यह विवाद दरगाह में चल रहे वार्षिक उर्स की छठी रात को हुआ। घटना के समय सदारत की महफ़िल चल रही थी। इस महफ़िल में काफी भीड़ थी।

राजस्थान के अजमेर में ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह पर हंगामे की खबर है। बताया जा रहा है कि शनिवार (28 जनवरी, 2023) को यहाँ बरेलवी और खादिमों के बीच मारपीट हुई, जिसके चलते भगदड़ मच गई थी। पुलिस को बीच में दखल दे कर मामले को शाँत करवाना पड़ा। अब तक एक व्यक्ति की गिरफ्तारी की भी सूचना है। इस विवाद का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। हालात काबू में रखने के लिए फ़िलहाल दरगाह में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।

सैयद सुब्हानी सिराजी ने यह वीडियो ट्वीट करते हुए इसे गुंडागर्दी बताया है और राजस्थान पुलिस से कार्रवाई की माँग की है। 1 मिनट 8 सेकेंड के इस वायरल वीडियो में दो पक्ष एक दूसरे की पिटाई करते दिखाई दे रहे हैं। कुछ ही देर बाद एक व्यक्ति जमीन पर गिर पड़ता है। वहीं इसी आपाधापी में फँसा एक अन्य व्यक्ति खुद को घटना से अनजान बताते हुए पूछ रहा है कि मारपीट की वजह क्या है। सुब्हानी के इस वीडियो पर राजस्थान पुलिस मुख्यालय ने अजमेर पुलिस से वर्तमान हालातों की जानकारी देने का आदेश दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह विवाद दरगाह में चल रहे वार्षिक उर्स की छठी रात को हुआ। घटना के समय सदारत की महफ़िल चल रही थी। इस महफ़िल में काफी भीड़ थी। रात 2 बजे जन्नती दरवाजे के पास कुछ लोग नारेबाजी करने लगे। इस नारेबाजी से दरगाह के खादिम नाराज हो गए और उन्होंने नारे लगा रहे लोगों की पिटाई कर दी। इस पिटाई से नाराज बरेलवी नारेबाजों ने पलटवार किया और खादिमों को पीटने लगे। इस वजह से भीड़ 2 हिस्सों में बँट गई और एक दूसरे की पिटाई करने लगी।

बताया जा रहा है कि खादिमों और दरगाह की सुरक्षा में तैनात नीली वर्दी में मौजूद सुरक्षा वॉलंटियर्स भी मारपीट के दौरान मौके से भाग निकले। मारपीट से बचने के लिए खादिमों ने शाहजहांनी मस्जिद में शरण ली। इस बवाल की जानकारी पुलिस को हुई तो उसने मौके पर पहुँच कर दोनों पक्षों को अलग-अलग किया। पुलिस ने इस दौरान एक व्यक्ति को शांतिभंग की आशंका के चलते गिरफ्तार भी किया। वहीं पुलिस को एक लाल पगड़ी वाले की भी तलाश है। पुलिस के मुताबिक उन्हें किसी भी पक्ष की तरफ से लिखित शिकायत नहीं मिली है। मौके पर फ़िलहाल शांति है जिसे बनाए रखने के लिए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्र सरकार ने 4 साल में राज्यों को की ₹1.73 लाख करोड़ की मदद, फंड ना मिलने पर धरना देने वाली ममता सरकार को...

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि केंद्र सरकार 2020-21 से लेकर 2023-24 तक राज्यों को ₹1.73 लाख करोड़ विशेष मदद योजना के तहत दे चुकी है।

जो बायडेन फिर से बने अमेरिकी राष्ट्रपति उम्मीदवार: ‘भूलने की बीमारी’ के कारण कर दिया था ट्वीट, सदमे में कमला हैरिस, 12 घंटे से...

जो बायडेन टेस्ट ले रहे थे कमला हैरिस का। वो भोकार पार-पार के, सर पटक कर रोने के बजाय खुश हो गईं। पिघलने के बजाय बायडेन को गुस्सा आ गया और...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -