Sunday, July 25, 2021
Homeदेश-समाजइस्लामोफोबिक है सचिन साहनी, उसके कारोबार का बहिष्कार करो: पूर्व पत्रकार इरेना अकबर

इस्लामोफोबिक है सचिन साहनी, उसके कारोबार का बहिष्कार करो: पूर्व पत्रकार इरेना अकबर

इरेना अकबर ने हेल्थकेज़ जिम और ब्यूटी पार्लर के बहिष्कार की अपील करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने आरोप लगाया कि इसके मालिक सचिन साहनी सोशल मीडिया पर 'इस्लामोफोबिया' फैला रहे हैं। हालाँकि, इरेना ने अब अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है।

इंडियन एक्सप्रेस की पूर्व पत्रकार इरेना अकबर के ख़िलाफ़ लखनऊ पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है। उन्होंने एक स्थानीय व्यापारी की आजीविका को बर्बाद करने की कोशिश करते हुए उसे “इस्लामोफ़ोबिक” के तौर पर पेश किया था।

इरेना अकबर ने गुरुवार (23 जनवरी) को हेल्थकेज़ जिम और ब्यूटी पार्लर के बहिष्कार की अपील करते हुए ट्वीट किया। इसमें उन्होंने आरोप लगाया कि इसके मालिक सचिन साहनी सोशल मीडिया पर ‘इस्लामोफोबिया’ फैला रहे हैं। हालाँकि, इरेना ने अब अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है।

इरेना ने अपने ट्विटर थ्रेड में साहिनी के कथित इस्लामोफोबिक फेसबुक पोस्ट के स्क्रीनशॉट शेयर किए थे। इसमें उन्होंने दावा किया था कि साहनी ने उनका अपमान किया है जो नागरिकता संशोधन क़ानून का विरोध कर रहे हैं।
ख़बर के अनुसार, इरेना ने दावा किया कि हेल्थज़ोन के लगभग 50 प्रतिशत ग्राहक मुस्लिम हैं और ऐसा करके उन्होंने (साहनी) अपनी कमाई को बहुत नुक़सान पहुँचाया है।

ट्विटर पर कई यूजर्स ने इरेना के पोस्ट को देखकर उस पर कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज की। उन्होंने साहनी के पोस्ट पर अपना तर्क देते हुए लिखा कि उनके सोशल मीडिया पोस्ट्स में तथाकथित इस्लामोफोबिया को उजागर नहीं किया गया है।

कई यूज़र्स ने हेल्थज़ोन और इसके मालिक सचिन साहनी के साथ अपनी एकजुटता दिखाई और लोगों से इसकी सदस्यता के लिए साइनअप करने की अपील की और माँग की कि यूपी पुलिस इरेना अकबर के ख़िलाफ़ हिंसा भड़काने के प्रयास के तहत कार्रवाई करे।

Legal Rights Observatory (LRO) ने अपने ट्विटर हैंडल से जानकारी शेयर की कि इरेना अकबर के ख़िलाफ़ लखनऊ में शिक़ायत दर्ज करने की माँग की गई है। अपनी शिक़ायत में LRO ने यूपी पुलिस से अपील की कि वह इरेना पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा-153A, 295 और 295A के तहत मामला दर्ज करे।

हिन्दुओं के घरों को फूँका, CAA समर्थक जुलूस पर हमले के लिए छतों पर जमा कर रखे थे ईंट-पत्थर

VIDEO: दिल्ली मेट्रो के अंदर JNU और जामिया के छात्रों ने लगाए PM मोदी और अमित शाह के ख़िलाफ़ नारे

काफिरों से आजादी, हत्यारों से आजादी… हम लेकर रहेंगे आजादी: भुवनेश्वर में लगे हिंदू और देश विरोधी नारे

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अपनी ही कब्र खोद ली’: टाइम्स ऑफ इंडिया ने टोक्यो ओलंपिक में भारतीय तीरंदाजी टीम की हार का उड़ाया मजाक

दक्षिण कोरिया के किम जे ड्योक और आन सन से हारने के बाद टाइम्स ऑफ इंडिया ने दावा किया कि भारतीय तीरंदाजी टीम औसत से भी कम थी और उन्होंने विरोधियों को थाली में सजाकर जीत सौंप दी।

‘सचिन पायलट को CM बनाओ’: कॉन्ग्रेस के बड़े नेताओं के सामने जम कर हंगामा, मंत्रिमंडल विस्तार से पहले बुलाई थी बैठक

राजस्थान में मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट के समर्थकों के बीच बहस और हंगामेबाजी हुई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,128FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe