Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाजटीका उत्सव की शुरुआत पर PM मोदी ने किए 4 आग्रह: वैक्सीनेशन में भारत...

टीका उत्सव की शुरुआत पर PM मोदी ने किए 4 आग्रह: वैक्सीनेशन में भारत दुनिया में सबसे तेज, 85 दिन में ही 10 करोड़ डोज

कोरोना की दूसरी लहर दिन प्रतिदिन खतरनाक होती जा रही है। देश में शनिवार को कोरोना के 1.52 लाख से अधिक नए केस मिले। लगातार 5वें दिन संख्या एक लाख से ज्यादा रही है।

कोरोना की दूसरी लहर के जोर पकड़ने के बीच आज (11 अप्रैल 2021) से राष्ट्रव्यापी टीका उत्सव का आगाज हुआ है। ज्योतिबा फुले की जयंती से शुरू हुआ यह उत्सव यह 14 अप्रैल यानी बाबा साहेब आंबेडकर की जयंती तक चलेगा। इसका मकसद ज्यादा से ज्यादा लोगों का वैक्सीनेशन है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि यह उत्सव, एक प्रकार से कोरोना के खिलाफ दूसरी बड़ी जंग की शुरुआत है। इसमें पसर्नल के साथ-साथ सोशल हाइजिन पर भी बल देना है।

पीएम मोदी ने कहा है कि इस दौरान चार बातों का आग्रह किया है। मसलन, कम पढ़े-लिखे या बुजुर्ग जो खुद जाकर टीका नहीं लगवा सकते हैं, उनकी मदद करना। जिनके पास साधन और जानकारी का अभाव है उनको सहयोग प्रदान करना। मास्क पहनना और अपने इलाके में संक्रमण की स्थिति में ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ बनाने की पहल करने की अपील की है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी लोगों से दौरान बड़ी संख्या में वे टीका लगवाने की अपील की

85 दिन में लगाए गए 10 करोड़ टीके

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार (अप्रैल 10, 2021) को बताया कि भारत ने 85 दिन में 10 करोड़ टीके लगाए हैं। भारत दुनिया का सबसे तेज टीकाकरण अभियान चलाने वाला देश बन गया है। इतने वक्त में अमरीका ने 9.2 करोड़ और चीन में 6.14 करोड़ टीके लगे थे। मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका को टीके की 10 करोड़ खुराक देने में 89 दिन लगे, जबकि चीन को 102 दिन लगे थे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी भारत में सबसे तेज टीकाकरण को दर्शाने वाला एक चार्ट ट्वीट किया और इसे ‘स्वस्थ व कोविड मुक्त भारत’ के लिए मजबूत प्रयास करार दिया है।

गुरुवार (अप्रैल 8, 2021) को मुख्यमंत्री के साथ समीक्षा बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अपील की थी कि उन सभी लोगों का टीकाकरण कराने पर राज्य ध्यान केंद्रित करें जो 45 साल से अधिक उम्र के हैं।

मोदी की अपील- टीके की बर्बादी बिल्कुल न करें

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “कभी-कभी इससे माहौल बदलने में मदद मिलती है। ज्योतिबा फुले की जयंती 11 अप्रैल को है और 14 अप्रैल को बाबा साहेब की जयंती है। क्या हम टीका उत्सव का आयोजन कर सकते हैं और टीका उत्सव का माहौल बना सकते हैं? हमें विशेष अभियान के माध्यम से अधिक से अधिक योग्य लाभार्थियों का टीकाकरण करना चाहिए और इसकी बर्बादी बिल्कुल नहीं हो इस पर विचार करना चाहिए। ‘टीका उत्सव’ के दौरान अगर चार दिनों में बर्बादी नहीं होगी तो इससे हमारे टीकाकरण की क्षमता बढ़ेगी।”

24 घंटे में 1.52 लाख से अधिक केस आए सामने

कोरोना की दूसरी लहर दिन प्रतिदिन खतरनाक होती जा रही है। देश में शनिवार (अप्रैल 10, 2021) को कोरोना के 1.52 लाख से अधिक नए केस मिले। लगातार 5वें दिन संख्या एक लाख से ज्यादा रही है। हर दिन के साथ संक्रमितों की संख्या का नया रिकॉर्ड बन रहा है। शुक्रवार को करीब 1.45 लाख और गुरुवार को 1.31 लाख मरीज मिले थे। अब देश में एक्टिव केस की संख्या 11 लाख के पार हो गई है।

पिछले 24 घंटे में 90,584 लोग ठीक हुए हैं और 839 लोगों की मौत हुई हैं। मौत के मामले में इस साल दूसरी बार एक दिन में 800 या इससे ज्यादा लोगों ने जान गँवाई है। इससे पहले 8 अप्रैल को 802 लोगों की मौत हुई थी।

दिल्ली में नई पाबंदियों का ऐलान

दिल्ली में बढ़ते के कोरोना मामलों के मद्देनजर नाइट कर्फ्यू के बाद अब नई पाबंदियों का ऐलान किया गया है। दिल्ली में अब अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 और शादी समारोह में 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे।

रेस्टोरेंट और बार भी अब अपनी सीटिंग कैपेसिटी की 50% क्षमता के साथ काम करेंगे। मेट्रो में भी एक कोच में सीटिंग कैपेसिटी के 50% ही लोग यात्रा कर सकेंगे। बसों और मेट्रो में भी एक समय मे 50% क्षमता के साथ ही यात्री यात्रा कर सकेंगे। सिनेमा, थिएटर और मल्टीप्लेक्स भी 50% क्षमता के साथ ही चलेंगे।

फ्लाइट के जरिए महाराष्ट्र से दिल्ली आने वाले सभी यात्रियों को यात्रा से करीब 72 घंटे तक पुरानी RT-PCR टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। साथ ही जो लोग महाराष्ट्र से बिना निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट के आएँगे, उन्हें 14 दिन क्वारंटाइन किया जाएगा।

राजनीतिक-सामाजिक आयोजनों पर रोक

दिल्ली में सभी तरह की सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, अकादमी, सांस्कृतिक, धार्मिक और त्योहार संबंधी जमावड़ों पर रोक लगा दी गई है। सभी स्विमिंग पूल भी बंद कर दिए गए हैं। इस दौरान सिर्फ वही स्विमिंग पूल खुले रहेंगे, जहाँ खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों के लिए ट्रेनिंग ले रहे हैं। स्टेडियम में स्पोर्ट्स इवेंट आयोजित करने की इजाजत होगी, लेकिन दर्शक नहीं जा सकेंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe