Sunday, September 26, 2021
Homeदेश-समाज15 अप्रैल तक भारत में एंट्री बैन: कोरोना भगाने के लिए शराब पीने से...

15 अप्रैल तक भारत में एंट्री बैन: कोरोना भगाने के लिए शराब पीने से 44 मरे, 1.30 लाख मामले सामने आए

भारतीय नागरिकों को सलाह दी गई है कि वो बिना किसी ज़रूरी कारण के भारत से बाहर जाने से परहेज करें। अगर वो विदेश जाकर वापस लौटते हैं तो उन्हें भी 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रखा जाएगा।

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। वायरस का प्रसार रोकने के लिए भारत ने खुद को अलग-थलग करने का फैसला किया है। मंत्रियों के एक समूह ने इस संबंध में कुछ अहम निर्णय लिए हैं। इस कड़ी में दुनिया के किसी भी देश से आने वाले यात्रियों का वीजा 15 अप्रैल तक सस्पेंड कर दिया गया है। केवल संयुक्त राष्ट्र के कर्मचारियों, कूटनीतिक मामलों और सरकारी परियोजनाओं से जुड़े महत्वपूर्ण लोगों को इस प्रतिबंध से छूट दी गई है। इनके अलावा कोई देश में प्रवेश नहीं कर पाएगा।

यानी पर्यटन या सामान्य कामकाज के लिए भारत आना फिलहाल मुमकिन नहीं हो पाएगा। आपातकालीन परिस्थितियों में भारतीय मिशन से विशेष अनुमति लेनी होगी। भारतीय प्रवासियों को दिए गए ओसीआई कार्ड (वीजा फ्री ट्रेवल फैसिलिटी) को भी 15 अप्रैल तक रोक कर रखा जाएगा। विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि अगर कोई विदेशी व्यक्ति भारत की यात्रा करना चाहता है तो उसे नजदीकी इंडियन मिशन में संपर्क करना होगा। 15 फरवरी के बाद भारत पहुँचने वाले चीन, इटली, स्पेन, ईरान, कोरिया, फ्रांस और जर्मनी के आगुन्तकों को 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रखा जाएगा। यानी, इतने दिनों तक उनकी गतिविधियाँ सीमित रहेंगी ताकि ये वायरस न फैले।

भारतीय नागरिकों को सलाह दी गई है कि वो बिना किसी ज़रूरी कारण के भारत से बाहर जाने से परहेज करें। अगर वो विदेश जाकर वापस लौटते हैं तो उन्हें भी 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रखा जाएगा। सीमा पार से आने वाले लोगों को भी कड़ी स्क्रीनिंग प्रक्रिया से गुजरना होगा। उनके बारे में गृह मंत्रालय को सूचना दी जाएगी। कोरोना वायरस पर इस निर्णय के कारण भारतीय पर्यटन उद्योग को ख़ासा नुकसान होगा लेकिन उम्मीद है कि इससे वायरस के प्रसार को रोका जा सकेगा। इसके कारण कुछ ही दिनों में शुरू होने वाले आईपीएल पर भी संशय के बादल मँडराने लगे हैं।

अमेरिका ने भी यूरोप से आवाजाही पर 1 महीने के लिए रोक लगा दी है। वहाँ कोरोना वायरस से अब तक 37 मौतें हो चुकी हैं। ऑस्ट्रेलिया ने इस वायरस के कारण डूबती अर्थव्यवस्था को रफ़्तार देने के लिए नई योजनाएँ तैयार की हैं। इटली में सारी दुकानों पर ही ताले जड़ दिए गए हैं। ‘वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन’ ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। कुल मिला कर अब तक दुनिया भर में लगभग 1.3 लाख मामले सामने आ चुके हैं।

ट्विटर सहित कई दिग्गज आईटी कंपनियों ने अपने दुनिया भर के कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा है। वरिष्ठ हॉलीवुड अभिनेता टॉम हैंक्स भी कोरोना वायरस के शिकार हो गए हैं। इजरायल ने कहा है कि वो इस मामले में दूसरे देशों से आने वाले ‘सप्लाई’ पर निर्भर है और इस सम्बन्ध में वहाँ के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की है। चीन में अब तक कोरोना वायरस के 37,400 मामले आ चुके हैं।

इधर ईरान में अफवाह फ़ैल गई कि शराब पीने से करना वायरस नहीं फैलता है और ‘इंडस्ट्रियल लेवल’ की शराब पीने से 44 लोगों की मौत हो गई। ईरान में कुछ नॉन-मुस्लिमों को छोड़ कर बाकियों के लिए शराब पीना या ख़रीदना-बेचना मना है। लोग मेथनॉल से बने अल्कोहल पी रहे थे, जो ख़ासा ख़तरनाक होता है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर में ‘सेकेंड हैंड जवानी’ पर डांस, वायरल किया वीडियो: इंस्टाग्राम मॉडल की हरकत से खफा हुए महंत, हिन्दू संगठन भी विरोध में

मध्य प्रदेश के छतरपुर स्थित एक मंदिर में आरती साहू नाम की एक इंस्टाग्राम मॉडल ने 'सेकेंड हैंड जवानी' पर डांस करते हुए वीडियो बनाया, जिससे हिन्दू संगठन नाराज़ हो गए हैं।

PFI के 6 लोग… ₹28 लाख की वसूली… खाली कराना था 60 परिवार, कहाँ से आए 10000? – असम के दरांग में सिपाझार हिंसा...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने सिपाझार हिंसा के पीछे PFI के होने की बात कही। 6 लोगों ने अतिक्रमणकारियों से 28 लाख रुपए वसूले थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,410FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe