Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजज़हर से हिन्दू युवक की मौत के पीछे मुस्लिम लड़की, चैट से खुला राज़!...

ज़हर से हिन्दू युवक की मौत के पीछे मुस्लिम लड़की, चैट से खुला राज़! अम्मी-अब्बू और मामा सहित अलीशा पर FIR दर्ज, पीड़ित पिता ने बयाँ किया दर्द

ऑपइंडिया के पास इस केस में दर्ज FIR की कॉपी है। परेशान पिता महिपाल शर्मा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि पड़ोस पटेलनगर इलाके में ही अपने परिवार के साथ रहने वाली अलीशा ने उसके बेटे को प्यार के जाल में फँसाया।

उत्तराखंड की देहरादून पुलिस ने अलीशा और उसके अब्बा इम्तियाज़, अम्मी रेशमा और मामा नदीम पर 21 साल के हिंदू युवक रोहित शर्मा को आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है।

सब-इंस्पेक्टर सनोज कुमार के मुताबिक, ये केस रोहित शर्मा के पिता महिपाल शर्मा की शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया। शिकायत में उन्होंने बेटे की ‘दोस्त’ अलीशा और उसके परिवार के सदस्यों पर उसे परेशान करने और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था।

उनका आरोप था कि इसी वजह से उनके बेटे को अपनी जान लेने जैसा कठोर कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ा। ये वाकया देहरादून शहर के पटेल नगर मोहल्ले का है। कथित तौर पर 25 अक्टूबर, 2023 को कोई जहरीला पदार्थ खाने से रोहित शर्मा की 2 नवंबर को एक अस्पताल के ICU में इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

‘रोहित को मानसिक तौर पर परेशान किया गया’

रोहित की मौत के बाद पिता महिपाल शर्मा ने 4 नवंबर को अलीशा, उसके अभिभावकों इम्तियाज़ और रेशमा और उसके मामा नदीम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

ऑपइंडिया के पास इस केस में दर्ज FIR की कॉपी है। परेशान पिता महिपाल शर्मा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि पड़ोस पटेल नगर इलाके में ही अपने परिवार के साथ रहने वाली अलीशा ने उसके बेटे को प्यार के जाल में फँसाया। उन्होंने इसमें ये भी दावा किया कि अलीशा और उसके परिवार के सदस्य रोहित को परेशान कर रहे थे। मृतक रोहित के पिता ने ये भी कहा कि आरोपियों ने उनके बेटे से मारपीट भी की थी।

उनका आरोप है कि अलीशा और उसके परिवार के सदस्यों ने उनके बेटे को मानसिक तौर पर इतना परेशान कर दिया कि वो आत्महत्या जैसा कदम उठाने को मजबूर हो गया। इस केस को लेकर सब-इंस्पेक्टर सनोज कुमार ने कहा, “शिकायत के जवाब में चारों आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया है।”हालाँकि, उन्होंने ये भी कहा कि अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

ऑपइंडिया को मिली FIR की कॉपी

फोन चैट से खुला अलीशा संग अफेयर का राज

गौरतलब है कि ऑर्गेनाइजर वीकली ने 16 नवंबर को इस घटना पर एक खबर छापी थी। इसमें वेब पोर्टल के रिपोर्टर ने मृतक युवक के पिता के साथ हुई बातचीत के अंश शेयर किए। इसमें भी उन्होंने अलीशा और उसके परिवार के सदस्यों पर अपने बेटे की हत्या का आरोप लगाया। उन्होंने खुलासा किया कि वे 25 अक्टूबर, 2023 को बेटे रोहित के जहर खाने के दिन तक वो अलीशा के साथ अपने बेटे के रिश्ते से अनजान थे। महिपाल शर्मा ने अपने मृत बेटे और अलीशा के बीच व्हाट्सएप चैट के स्क्रीनशॉट भी ऑर्गनाइज़र के साथ शेयर किए।

फोटो साभार: ऑर्गेनाइजर वीकली

महिपाल शर्मा के हवाले से वेब पोर्टल ने लिखा, “25 अक्टूबर को कुछ खाने के बाद रोहित बोल नहीं पा रहा था। उसके फोन की जाँच करने पर हमें उसके और अलीशा के बीच एक चैट मिली, जहाँ आयशा ने लिखा था कि उसके परिवार को उनके रिश्ते के बारे में पता चल गया और वह उसका निकाह किसी और से करना चाहता था। रोहित जल्दी से उसके घर गया और वापस लौटने पर उसे उल्टी हुई और आखिरकार वह बेहोश हो गया। उसकी जेब से मेरी पत्नी को चूहे मारने वाली दवा का एक पैकेट मिला।”

मृतक रोहित के पिता ने अलीशा के परिवार पर बेटे की इस अचानक मौत में हाथ होने का आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया, “इम्तियाज़ और उनके परिवार ने रोहित के जहर खाने वाले दिन ही अपना घर छोड़ दिया था। इससे उनके इसमें शामिल होने के बारे में हमारा संदेह गहरा हो गया।”

इस केस के जाँच अधिकारी सब-इंस्पेक्टर सनोज कुमार ने 16 नवंबर, 2023 को वेबपोर्टल को बताया कि आरोपित फिलहाल फरार हैं और पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है। उन्होंने इस बात की पुष्टि की कि पोस्टमॉर्टम जाँच की गई थी और इसके निष्कर्षों ने इस मामले में FIR स्वीकार करने का आधार बनाया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -