Friday, April 19, 2024
Homeदेश-समाज...जिस बिल्डिंग ने लील लीं 43 जिंदगियाँ, फिर लगी वहीं आग: हर तरफ धुआँ,...

…जिस बिल्डिंग ने लील लीं 43 जिंदगियाँ, फिर लगी वहीं आग: हर तरफ धुआँ, मौके पर दमकल की 4 गाड़ियाँ

सूचना के बाद 4 अग्निशमन वाहन व कई दमकलकर्मी आनन-फानन में वहाँ पहुँचे। बिल्डिंग खाली करा लिए जाने के कारण जान-माल की क्षति नहीं हुई है। रविवार को हुई त्रासदी से अभी तक उबरने की कोशिश कर रहे लोग फिर से सहमे!

दिल्ली की अनाज मंडी में रविवार (दिसंबर 8, 2019) को लगी आग से 43 लोग काल के गाल में समा गए। दिल्ली सरकार और एमसीडी की तू-तू मैं-मैं के बीच आग लगने के असली कारणों पर चर्चा करने के लिए नेताओं के पास समय ही नहीं बचा। जिस अवैध फैक्ट्री में ये आग लगी, उसके मालिक रेहान ख़ान को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसधर सोमवार को उसी इलाक़े में फिर से आग लग गई। 24 घंटे बाद भी आग का धुआँ ख़त्म नहीं हुआ है। पीड़ित इमारत से अब भी धुआँ निकल रहा है। पुलिस ने जाँच के लिए फक्ट्री सील कर रखी है।

दरअसल, सोमवार को सुबह हुआ यूँ कि ईमारत की तीसरी मंजिल पर आग की लपटें उठने लगी। स्थानीय लोगों ने जैसे ही फिर से तेज़ धुआँ निकलते देखा, उन्होंने पुलिस को सूचित किया। इसके बाद 4 अग्निशमन वाहन व कई दमकलकर्मी वहाँ पहुँचे। बिल्डिंग खाली करा लिए जाने के कारण जान-माल की क्षति नहीं हुई है। रविवार को हुई त्रासदी से अभी तक उबरने की कोशिश कर रहे लोग अभी भी सहमे हुए हैं।

घटनास्थल पर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। लोगों को बैरिकेडिंग से आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। सोमवार को फिर से आग के जोर पकड़ने की ख़बर के साथ ही दमकल विभाग की 4 आग बुझाने वाली गाड़ियाँ वहाँ पर पहुँचीं। रानी झाँसी रोड में फिल्मिस्तान इलाक़े में हुई इस घटना में 20 से अधिक लोग अभी भी घायल हैं। विभिन्न अस्पतालों में उनका इलाज चल रहा है। रविवार की शाम लोग अपने परिजनों को ढूँढ़ते हुए भागदौड़ करते नज़र आए। परिजनों से शवों की पहचान कराई गई। कई लोग अभी भी ऐसे हैं, जिनके परिचितों का कोई अता-पता नहीं है।

ये हादसा बिहार संकरी गली में बानी 5 मंजिला ईमारत में हुई, जहाँ टोपी, बैग इत्यादि की फक्ट्री चलती थी। देर शाम तक 29 शवों की ही पहचान हो पाई थी। मरने वालों में अधिकतर मजदूर हैं। सोमवार को इस शवों का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा। 30 दमकलों और 150 फायर-कर्मियों के पहुँचने के बाद आग पर काबू पाया जा सका था। मृतकों में अधिकतर यूपी-बिहार से हैं। वो सभी मजदूर वहीं पर काम करते थे और उनके रहने की व्यवस्था भी वहीं की गई थी। बिल्डिंग में न तो आग बुझाने के उपकरण थे और न ही फक्ट्री के पास दमकल विभाग की एनओसी थी।

Breaking: दिल्ली में आग से 43 की मौत, 50+ गंभीर रूप से घायल – अनाज मंडी में हुआ यह हादसा

कैमूर गैंगरेप मामला: अरबाज पर कार्रवाई के बाद अन्य आरोपितों को पकड़ने की माँग, आगजनी, खूनी संघर्ष

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

EVM से भाजपा को अतिरिक्त वोट: मीडिया ने इस झूठ को फैलाया, प्रशांत भूषण ने SC में दोहराया, चुनाव आयोग ने नकारा… मशीन बनाने...

लोकसभा चुनाव से पहले इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (EVM) को बदनाम करने और मतदाताओं में शंका पैदा करने की कोशिश की जा रही है।

‘कॉन्ग्रेस-CPI(M) पर वोट बर्बाद मत करना… INDI गठबंधन मैंने बनाया था’: बंगाल में बोलीं CM ममता, अपने ही साथियों पर भड़कीं

ममता बनर्जी ने जनता से कहा- "अगर आप लोग भारतीय जनता पार्टी को हराना चाहते हो तो किसी कीमत पर कॉन्ग्रेस-सीपीआई (एम) को वोट मत देना।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe