Monday, March 8, 2021
Home देश-समाज ग्राउंड रिपोर्ट: बृजपुरी मस्जिद की तरफ से आए दंगाई और राहुल को मार दी...

ग्राउंड रिपोर्ट: बृजपुरी मस्जिद की तरफ से आए दंगाई और राहुल को मार दी गोली…

"हम सब गली के बाहर निकले। हमारे साथ राहुल भी था कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आखिर हो क्या रहा है। इतने में ही देखा कि बृजपुरी मस्जिद की ओर से हजारों की संख्या में मजहबी भीड़ हाथों में ईंट-पत्थर, हथियार लिए हमारी ओर चली आ रही है..."

दिल्ली के कई इलाकों में सीएए विरोध के नाम पर अंजाम दिए गए हिन्दू विरोधी दंगों के बाद एक बड़ा ग्रुप दंगाइयों को ही पीड़ित साबित करने में जुटा है। इनमें विपक्षी दल, लिबरल, वामपंथी और मीडिया का समुदाय विशेष भी शामिल है। इस बीच असली हिंदू पीड़ितों की गलियों में सन्नाटा पसरा हुआ है। पीड़ित घरों में मातम छाया हुआ है। यह कहानी हर एक उस हिंदू परिवार की है, जिस किसी ने अपने को खोया या फिर किसी दूसरे का जीवन में कमाया हुआ सब कुछ बर्बाद हो गया। कुछ ऐसी ही कहानी है बृजपुरी में रहने वाले राहुल ठाकुर की जिनको दंगाइयों ने मार डाला।

हम शनिवार को बृजपुरी स्थित राहुल ठाकुर के घर पहुँचे। घर के बाहर सांत्वना देने के लिए आसपड़ोस के लोग जुटे हैं। अपना सिर झुकाए गमगीन बैठे पिता को घर के बाहर, तो कमरे के अंदर बैठी कुछ महिलाएँ राहुल की माँ को संभाल रहीं थीं। हमने घटना के बारे में जानकारी लेने की कोशिश की तो वहाँ बैठे घटना के चश्मदीद अपनी आँखों देखी हमें बताने लगे। चश्मदीद, “सोमवार को चाँदबाग से शुरू हुई हिंसा एक के बाद दूसरे इलाकों में मजहबी भीड़ के साथ फैलती चली जा रही थी, जो कि करावल नगर होते हुए खजूरी, जाफराबाद और शिव विहार तक जा पहुँची। चारों और ईंट-पत्थरों की आवाज हुई तो हर कोई अपने घरों से बाहर की ओर यह देखने के लिए निकला कि आखिर हो क्या रहा है।”

चश्मदीद के मुताबिक, “हम सब गली के बाहर निकले। हमारे साथ राहुल भी था कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आखिर हो क्या रहा है। इतने में ही देखा कि बृजपुरी मस्जिद की ओर से हजारों की संख्या में इस्लामी भीड़ हाथों में ईंट-पत्थर, हथियार लिए हमारी ओर चली आ रही है। हम अपने को संभाल पाते इससे पहले ही पता चला कि हमारे बगल में खड़े राहुल को एक गोली आकर लगी और वह पेट पकड़े जमीन पर गिर गया। सामने से मजहबी भीड़ को देख हमने आनन-फानन में राहुल को गोद में उठाया और पीछे वाले रास्ते से अस्पताल ले गए। कुछ देर चले उपचार के बाद डॉक्टरों ने राहुल को मृत घोषित कर दिया।”

इस बात की जानकारी दरवाजे पर बैठकर राहुल के घर आने का इंतजार रही माँ ममता देवी को जैसे ही हुई ऐसे ही वह दहाड़ मार-मार कर रोने लगीं और पूरे परिवार में कोहराम तो गली में मातम छा गया। राहुल के पिता आरपीएफ में हैं और पंजाब में तैनात हैं। उन्हें जैसे ही बेटे की मौत की खबर मिली पैरों तले जमीन खिसक गई और उनके मुँह से बस एक ही बात निकली “उसको क्या जरूरत थी घर से बाहर जाने की।”

बाहर बैठे लोगों से बात करने के बाद हमने राहुल की माताजी जी से मिलने की इच्छा जाहिर की। हमने कमरे में प्रवेश करने के लिए अपने जूते उतारे ही थे कि सामने बैठी राहुल की माताजी भरे हुए गले से जोर से बोलीं, “कमरे के अंदर आओ तो मेरे बेटे राहुल को लेकर ही आना, नहीं तो वापस चले जाना” इतना कहते ही ममता देवी फफक पड़ीं। इतनी भारी आवाज और उसमें छिपे दर्द और गुस्से को सुन एक बार तो मैं भी सिहर सा गया और दूर से ही माता जी तो प्रणाम कर वापस लौट लिया, क्योंकि जिस राहुल को वह मेरे साथ देखना चाहती थी, वह मेरे पास नहीं बल्कि भगवान के पास था, जिसे मजहबी भीड़ ने उनसे छीन लिया था।

राहुल की मौत के बाद परिजनों को सांत्वना देते आसपास के लोग

बृजपुरी की गली नंबर 6 में रहने वाले 23 वर्षीय मनीष सिंह उर्फ राहुल ठाकुर SSC की तैयारी कर रहे थे। दो भाइयों में राहुल दूसरे नंबर पर थे। राहुल की मौत के बाद परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। बड़े भाई अभिषेक का रो-रोकर बुरा हाल है। राहुल की मौत के बाद से वे घर से बाहर तक नहीं निकले हैं और न किसी से बात करने को तैयार हैं।

जो हिंदू लड़की करती थी दुआ सलाम, उसी की शादी को जला कर राख कर डाला: चाँद बाग ग्राउंड रिपोर्ट

‘हमारी बेटियों को नंगा करके भेजा दंगाइयों ने, कपड़े उतारकर अश्लील हरकतें की’ – करावल नगर ग्राउंड रिपोर्ट

पहले से जमा कर रखे थे पत्थर, हिंदुओं पर हमले के लिए बहू-बेटियों को भी दे रहे थे लाठी: महिला चश्मदीद

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

BJP पैसे दे तो ले लो… वोट TMC के लिए करो: ‘अकेली महिला ममता बहन’ को मिला शरद पवार का साथ

“मैं आमना-सामना करने के लिए तैयार हूँ। अगर वे (भाजपा) वोट खरीदना चाहते हैं तो पैसे ले लो और वोट टीएमसी के लिए करो।”

‘सबसे बड़ा रक्षक’ नक्सल नेता का दोस्त गौरांग क्यों बना मिथुन? 1.2 करोड़ रुपए के लिए क्यों छोड़ा TMC का साथ?

तब मिथुन नक्सली थे। उनके एकलौते भाई की करंट लगने से मौत हो गई थी। फिर परिवार के पास उन्हें वापस लौटना पड़ा था। लेकिन खतरा था...

अनुराग-तापसी को ‘किसान आंदोलन’ की सजा: शिवसेना ने लिख कर किया दावा, बॉलीवुड और गंगाजल पर कसा तंज

संपादकीय में कहा गया कि उनके खिलाफ कार्रवाई इसलिए की जा रही है, क्योंकि उन लोगों ने ‘किसानों’ के विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया है।

‘मासूमियत और गरिमा के साथ Kiss करो’: महेश भट्ट ने अपनी बेटी को साइड ले जाकर समझाया – ‘इसे वल्गर मत समझो’

संजय दत्त के साथ किसिंग सीन को करने में पूजा भट्ट असहज थीं। तब निर्देशक महेश भट्ट ने अपनी बेटी की सारी शंकाएँ दूर कीं।

‘कॉन्ग्रेस का काला हाथ वामपंथियों के लिए गोरा कैसे हो गया?’: कोलकाता में PM मोदी ने कहा – घुसपैठ रुकेगा, निवेश बढ़ेगा

कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में अपनी पहली चुनावी जनसभा को सम्बोधित किया। मिथुन भी मंच पर।

मिथुन चक्रवर्ती के BJP में शामिल होते ही ट्विटर पर Memes की बौछार

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले मिथुन चक्रवर्ती ने कोलकाता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में भाजपा का दामन थाम लिया।

प्रचलित ख़बरें

मौलाना पर सवाल तो लगाया कुरान के अपमान का आरोप: मॉब लिंचिंग पर उतारू इस्लामी भीड़ का Video

पुलिस देखती रही और 'नारा-ए-तकबीर' और 'अल्लाहु अकबर' के नारे लगा रही भीड़ पीड़ित को बाहर खींच लाई।

14 साल के किशोर से 23 साल की महिला ने किया रेप, अदालत से कहा- मैं उसके बच्ची की माँ बनने वाली हूँ

अमेरिका में 14 साल के किशोर से रेप के आरोप में गिरफ्तार की गई ब्रिटनी ग्रे ने दावा किया है कि वह पीड़ित के बच्चे की माँ बनने वाली है।

आज मनसुख हिरेन, 12 साल पहले भरत बोर्गे: अंबानी के खिलाफ साजिश में संदिग्ध मौतों का ये कैसा संयोग!

मनसुख हिरेन की मौत के पीछे साजिश की आशंका जताई जा रही है। 2009 में ऐसे ही भरत बोर्गे की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई थी।

‘ठकबाजी गीता’: हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अकील कुरैशी ने FIR रद्द की, नहीं माना धार्मिक भावनाओं का अपमान

चीफ जस्टिस अकील कुरैशी ने कहा, "धारा 295 ए धर्म और धार्मिक विश्वासों के अपमान या अपमान की कोशिश के किसी और प्रत्येक कृत्य को दंडित नहीं करता है।"

‘मासूमियत और गरिमा के साथ Kiss करो’: महेश भट्ट ने अपनी बेटी को साइड ले जाकर समझाया – ‘इसे वल्गर मत समझो’

संजय दत्त के साथ किसिंग सीन को करने में पूजा भट्ट असहज थीं। तब निर्देशक महेश भट्ट ने अपनी बेटी की सारी शंकाएँ दूर कीं।

‘40 साल के मोहम्मद इंतजार से नाबालिग हिंदू का हो रहा था निकाह’: दिल्ली पुलिस ने हिंदू संगठनों के आरोपों को नकारा

दिल्ली के अमन विहार में 'लव जिहाद' के आरोपों के बाद धारा-144 लागू कर दी गई है। भारी पुलिस बल की तैनाती है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,954FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe