Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजएटा में हिंदू दंपत्ति को ईसाई बनाने की कोशिश में लगा था दिल्ली का...

एटा में हिंदू दंपत्ति को ईसाई बनाने की कोशिश में लगा था दिल्ली का शख्स, गिरफ्तार

कोतवाली पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर (क्राइम) संजीव त्यागी ने कहा कि पूछताछ के दौरान, मनदीप सिंह ने स्वीकार किया है कि वह विनोद के परिवार को ईसाई धर्म में परिवर्तित करने की कोशिश कर रहा था। वह एक ईसाई मिशनरी से जुड़ा है, और उसकी पत्नी मार्गेट एंथोनी भी ईसाई है।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने रविवार (अगस्त 23, 2020) को एक शख्स को ईसाई धर्म में परिवर्तित करने की कोशिश करने के आरोप में गिरफ्तार किया। द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली का 30 वर्षीय मनदीप कुमार एटा में रह रहा था, जहाँ वह लोगों को ईसाई धर्म में परिवर्तित करने की कोशिश कर रहा था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मनदीप कुमार ने शनिवार (अगस्त 22, 2020) को शिवसिंहपुर गाँव में हिंदू दंपती के घर पर उसे बाइबिल पढ़ाने की कोशिश की थी। आरोपित मनदीप कुमार पिछले एक महीने से अपनी पत्नी मार्गेट एंथोनी के साथ एटा में किराए के मकान पर रह रहा था।

जानकारी के मुताबिक मनदीप कुमार को शिवसिंहपुर गाँव में विनोद कुमार के घर जाते समय ग्रामीणों ने पकड़ लिया था। ग्रामीणों ने बताया कि वो मनदीप के भ्रमण के खिलाफ थे। उन्होंने विनोद को भी सलाह दी थी कि वो उसे अपने घर आने की अनुमति न दे। जैसे ही ग्रामीणों को पता चला कि मनदीप लोगों को ईसाई धर्म में परिवर्तित करने की कोशिश कर रहा था, उन्होंने पुलिस को सूचित किया, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस की एक टीम पूछताछ के लिए मनदीप को कोतवाली थाने ले आई। कोतवाली पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर (क्राइम) संजीव त्यागी ने कहा कि पूछताछ के दौरान, मनदीप सिंह ने स्वीकार किया है कि वह विनोद के परिवार को ईसाई धर्म में परिवर्तित करने की कोशिश कर रहा था। वह एक ईसाई मिशनरी से जुड़ा है, और उसकी पत्नी मार्गेट एंथोनी भी ईसाई है।

पुलिस ने मनदीप सिंह के टारगेट विनोद से भी बात की। विनोद ने पुलिस को बताया कि वह मनदीप से प्रभावित होकर बाइबिल पढ़ रहा था। इसके साथ ही उसने ग्रामीणों के आरोपों की भी पुष्टि की।

मनदीप सिंह पर भारतीय दंड संहिता की धारा 295-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है। गिरफ्तारी के बाद, मनदीप सिंह को स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहाँ से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। फिलहाल पुलिस मार्गेट एंथोनी की भी धर्मांतरण में भूमिका की जाँच कर रही है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों झारखंड के धनबाद शहर में धर्मांतरण का मामला सामने आया था। लोगों के पुनर्वास के नाम पर दो दर्जन परिवारों का धर्म परिवर्तन कर उन्हें ईसाई बना दिया गया था। मामला सामने आने के बाद हिंदू संगठनों और स्थानीय लोगों ने इसका जमकर विरोध किया था और साथ ही प्रशासन को शिकायत भी की थी। स्थानीय लोगों ने यहाँ नवनिर्मित चर्च को घेर घंटों हंगामा किया। चर्च के ऊपर लगे धार्मिक चिन्ह (क्रॉस) को भी लोगों ने तोड़ दिया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe