Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाज'भौंकती थी, इसलिए मार दिया': दिल्ली में गर्भवती कुतिया की हत्या में 4 गिरफ्तार,...

‘भौंकती थी, इसलिए मार दिया’: दिल्ली में गर्भवती कुतिया की हत्या में 4 गिरफ्तार, दावा- फादर के कहने पर 20 छात्रों ने किया हमला

एक पत्रकार का दावा है कि डॉन बॉस्को टेक्निकल इंस्टीट्यूट के फादर अभय के निर्देश पर छात्रों ने कुतिया को पीटा। मामले की गहराई से पड़ताल में ये सारे बिंदु सामने आए। वहीं मुख्यधारा का मीडिया लिखता रहा कि यह अपराध छात्रों के एक समूह द्वारा किया गया था।

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार (22 नवंबर 2022) को ओखला के जाकिर नगर स्थित डॉन बॉस्को टेक्निकल इंस्टीट्यूट के 4 छात्रों को गिरफ्तार किया। इन चारों पर न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी इलाके में एक गर्भवती कुतिया को पीट-पीट कर मार डालने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक, ये चारों आरोपित कुतिया के भौंकने से परेशान थे।

छात्रों की इस दरिंदगी का एक वीडियो भी वायरल हुआ था। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एक शिकायत के आधार पर दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी पुलिस स्टेशन में इनके खिलाफ IPC की धारा 429, 34 और पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 की धारा 11 (1) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता तजिंदर बग्गा ने 19 नवंबर 2022 को इस घटना से संबंधित वीडियो और तस्वीरें शेयर की थीं। इसमें ये दरिंदे कुतिया को बेरहमी से घसीटते हुए ले जा रहे हैं।

फोटो साभार: तजिंदर बग्गा का ट्विटर अकाउंट

उन्होंने लिखा, “डॉन बॉस्को टेक्निकल इंस्टीट्यूट जाकिर नगर के 20 छात्रों के समूह ने एक गर्भवती कुतिया को मार डाला, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।”

इस घटना के सामने आए वीडियो में गर्भवती कुतिया टिन शेड के अंदर बैठी हुई है। इस कुतिया पर वहाँ मौजूद लड़के लगातार वार करते दिख रहे हैं। वीडियो में दिख रहा है की एक हाथ में रॉड लिए हुए एक लड़का टिन शेड के अंदर जाता है। इसके बाद, वहाँ मौजूद अन्य लोग कुतिया को मारने के लिए कहते हैं। इसके बाद लड़के कुतिया को घसीट कर मैदान के बाहर फेंकते हुए दिख रहे हैं।

पत्रकार श्रेया अग्रवाल ने सोमवार (21 नवंबर 2022) को इस घटना को लेकर सिलसिलेवार कई ट्वीट किए। उन्होंने बताया कि यह घटना 30 अक्टूबर 2022 की है। दिल्ली के जाकिर नगर इलाके में डॉन बॉस्को टेक्निकल इंस्टीट्यूट के 20 युवकों के एक समूह ने एक गर्भवती कुतिया को पीट-पीट कर मार डाला।

पत्रकार ने अपने ट्वीट में दावा किया है कि संस्थान के फादर अभय के निर्देश पर ऐसा किया गया था। जब मामले की गहराई से पड़ताल की तो ये चौंकाने वाले विवरण सामने आए। जबकि मुख्यधारा का मीडिया लिखता रहा है कि यह अपराध छात्रों के एक समूह द्वारा किया गया था।

प्राथमिकी में कहा गया है कि अंकित और उसके भाई जैरोम की उपस्थिति में यह अपराध किया गया था। इसमें आगे यह भी कहा गया है कि यह संस्थान के प्रमुख फादर अभय के निर्देश पर किया गया था। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि भाई अंकित और जैरोम स्टाफ सदस्य हैं न कि छात्र।

हालाँकि, किसी भी मीडिया रिपोर्ट में इसका जिक्र नहीं है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि लगभग 15-20 पुरुषों ने इस हत्या को अंजाम दिया है, लेकिन फादर ने केवल दो नामों का उल्लेख किया। इस मामले में संस्थान के प्रमुख और कर्मचारियों के सदस्यों की संलिप्तता के महत्वपूर्ण विवरण को छिपाकर जानबूझकर जाँच को गुमराह करने की कोशिश की।

बता दें कि हैदराबाद में भी ऐसा ही मामला सामने आया था, जहाँ आरोपित ने पहले तो कुत्ते के पिल्ले को रस्सी से बाँध कर पेड़ से लटका दिया। इसके बाद चौथी मंजिल से उसे नीचे फेंक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। इस मामले में आरोपित की मानसिक हालत कमजोर बताई जा रही है। साथ ही कहा जा रहा है कि घटना के समय वह नशे में था। हालाँकि, पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -