Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाज8 लोग थे निशाने पर, एक डॉक्टर को वीडियो बना माँगनी पड़ी थी माफ़ी:...

8 लोग थे निशाने पर, एक डॉक्टर को वीडियो बना माँगनी पड़ी थी माफ़ी: उमेश कोल्हे के गले पर 5 इंच चौड़ा, 7 इंच लंबा और 5 इंच गहरा जख्म, दिमाग की नस डैमेज

डॉ राठी ने 'I Supoort Nupur Sharma (मैं नूपुर शर्मा का समर्थन करता हूँ)' का पोस्ट डाला था। विभिन्न सीसीटीवी फुटेज में हत्यारों को देखा भी जा सकता है।

महाराष्ट्र के अमरावती में दावा दुकानदार उमेश कोल्हे का सिर कलम किए जाने की घटना के सम्बन्ध में बड़ा खुलासा हुआ है। सिर्फ केमिस्ट उमेश कोल्हे ही नहीं, बल्कि 8 लोगों को हत्या की धमकी दी गई थी। इनमें एक डॉक्टर गोपाल राठी भी शामिल थे। हालाँकि, जब उन्होंने सोशल मीडिया पर माफ़ी माँगते हुए वीडियो पोस्ट किया, तब जाकर उनकी जान बख्श दी गई। इन 8 लोगों का सिर कलम किए जाने की धमकी दी गई थी।

डॉक्टर गोपाल राठी ने अपने माफीनामे वाले वीडियो में कहा था, “मैंने नूपुर शर्मा के सम्बन्ध में स्टेटस लगाया था। इसके पीछे किसी धर्म या जाति या किसी भी व्यक्ति का दिल दुखाने का मेरा कोई मकसद नहीं था। लेकिन, फिर भी किसी का दिल दुखा हो तो मैं अपने दिल से उनसे माफ़ी माँगता हूँ। साथ ही वादा करता हूँ कि आगे ऐसी कोई गलती नहीं होगी।” फ़िलहाल जाँच चल रही है कि वो कौन लोग थे, जो इस तरह की धमकियाँ दे रहे थे।

एक तरह से ऐसा कर के हिन्दुओं को ये सन्देश देने की कोशिश की गई कि जो बात इस्लामी कट्टरपंथियों को पसंद नहीं आएगी, ऐसा लिखने-बोलने की उन्हें अनुमति नहीं है। उमेश कोल्हे को भी इससे पहले भी 2 बार मारने की कोशिश की गई थी, तीसरी बार में हत्यारों को सफलता मिली। डॉ राठी ने ‘I Supoort Nupur Sharma (मैं नूपुर शर्मा का समर्थन करता हूँ)’ का पोस्ट डाला था। विभिन्न सीसीटीवी फुटेज में हत्यारों को देखा भी जा सकता है।

भाजपा ने भी इस बर्बर हत्याकांड के विरुद्ध शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है। उमेश कोल्हे के पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि उनके गले पर जो जख्म था, वो 5 इंच चौड़ा, 7 इंच लंबा और 5 इंच गहरा था। उनकी साँस लेने वाली नली, भोजन निगलने वाली नली और आँखों की नसों पर भी वार किए गए थे। उमेश कोल्हे ने नूपुर शर्मा को लेकर एक पोस्ट ‘ब्लैक फ्रीडम’ नामक एक व्हाट्सएप्प ग्रुप में गलती से शेयर कर दिया था। उनके दोस्त डॉक्टर युसूफ खान ने इस घटना की साजिश रची।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

वामपंथी सरकार ने चलवाई गोली, मारे गए 13 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता: जानें क्यों ममता बनर्जी मना रहीं ‘शहीद दिवस’, TMC ने हाईजैक किया कॉन्ग्रेस का...

कभी शहीद दिवस कार्यक्रम कॉन्ग्रेस मनाती थी, लेकिन ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस पार्टी से अलग होने के बाद युवा कॉन्ग्रेस के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या को अपने नाम के साथ जोड़ लिया और उसका इस्तेमाल कम्युनिष्टों की जड़ काटने में किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -