Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजपिस्टल लेकर दौड़ा काजी अबुल कलाम, साथ में फायर भी झोंके: थाने में मुस्लिम...

पिस्टल लेकर दौड़ा काजी अबुल कलाम, साथ में फायर भी झोंके: थाने में मुस्लिम भीड़ का हंगामा, कभी सरकारी कर्मचारी को धमकाया था

जनवरी 2021 में मदरसे का राजस्व शुल्क न जमा करने पर कुर्की करने पहुँची महिला तहसीलदार को काजी अबुल कलाम ने शहर का माहौल बिगाड़ने की धमकी दी थी। देवास के नुसरत नगर में स्थित मदरसे का राजस्व शुल्क 1.66 लाख रुपए जमा नहीं करने पर कार्रवाई के लिए पहुँचे अधिकारियों को काजी और मौलवियों ने दबंगई दिखाते हुए वापस लौटा दिया था।

मध्य प्रदेश के देवास के एक काजी अबुल कलाम का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह हाथ में पिस्टल लेकर भाग रहा है। यह वीडियो दो दिन पहले हुए बवाल का बताया जा रहा है। दरअसल देवास के जूनियर काजी अबुल कलाम पर फरियादी अमन सोलंकी ने FIR दर्ज कराई थी। अमन सोलंकी ने कहा कि काजी पिस्टल लेकर उनके पीछे दौड़ा और दो फायर किए।

पुलिस के मुताबिक, 31 अगस्त 2023 दिन गुरुवार को दोपहर देवास की सिल्वर पार्क कॉलोनी में काजी का कुछ लड़कों से विवाद हुआ। इसके बाद वह पिस्टल लेकर एक लड़के के पीछे भागा। काजी ने आरोप लगाया कि उसकी बीवी के साथ अभद्रता की गई। सैकड़ों मुस्लिमों के साथ औद्योगिक क्षेत्र थाना जाकर काजी ने हंगामा किया और 8-10 अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज करवाया।

उधर, युवकों ने 1 सितंबर 2023 दिन शुक्रवार को काजी के खिलाफ भी जाकर मामला दर्ज कराया और कहा कि काजी ने उनके साथ बदसलूकी की। इसके साथ ही उनके पीछे काजी पिस्टल लेकर दौड़ा और उन पर दो फायर भी किए। इस दौरान हिंदू संगठन काजी पर हत्या का प्रयास के लिए IPC की धारा 307 लगाने की भी माँग करते रहे।

जब पुलिस ने धारा 307 नहीं लगाया तो लोगों ने इंदौर-भोपाल बाईपास को जाम कर दिया। इसी बीच विधायक गायत्री राजे पवार एसपी ऑफिस पहुँची और हिंदू संगठनों को समझाने का प्रयास किया तो वे वापस चले गए। अगले दिन शनिवार को एक बार फिर हिंदू संगठन चमुंडा कॉम्प्लेक्स के पास जमा हुए और काजी पर धारा 307 लगाने की माँग करने लगे।

इसी बीच, शनिवार को दोपहर फरियादी अमन सोलंकी ने कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज कराया, जिसमें उन्होंने बताया कि काजी उनके पीछे पिस्टल लेकर दौड़ा और फायर दौड़ा। इस मामले में विवेचना में धारा 307 और आर्म्स एक्ट, एट्रोसिटी एक्ट की धाराएँ बढ़ाई गईं। तब जाकर मामला शांत हुआ।

तहसीलदार को धमकाते हुए कहा था- शहर का माहौल बिगड़ जाएगा

जनवरी 2021 में मदरसे का राजस्व शुल्क न जमा करने पर कुर्की करने पहुँची महिला तहसीलदार को काजी अबुल कलाम ने शहर का माहौल बिगाड़ने की धमकी दी थी। देवास के नुसरत नगर में स्थित मदरसे का राजस्व शुल्क 1.66 लाख रुपए जमा नहीं करने पर कार्रवाई के लिए पहुँचे अधिकारियों को काजी और मौलवियों ने दबंगई दिखाते हुए वापस लौटा दिया था।

इसका वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें मौलाना कहता है, “आपको समझना चाहिए कि यह एक धार्मिक जगह है।” वहीं, एक मुस्लिम युवक महिला तहसीलदार पर भड़कते हुए कहता है कि आप को नहीं मालूम कि यह धार्मिक जगह है। आप यहाँ अचानक आ गई। क्या आप माहौल खराब करना चाहती हैं। तो आप किस तरह से यहाँ आ गई। आपको यहाँ आने से पहले यहाँ के लोगों से बात करनी चाहिए थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, देवास के नुसरत नगर में बने मदरसे का शैक्षणिक डायवर्सन करवाया गया था, लेकिन साल 2013-14 से इसका टैक्स जमा नहीं किया गया था। इस मामले को लेकर मदरसे को संचालित करने वाले मौलवी को लगभग चार-पाँच बार नोटिस भी दिया गया, लेकिन उस पर किसी भी नोटिस का कोई फर्क नहीं पड़ा था।

मदरसे के इस रवैए को देखते हुए शनिवार को तहसीलदार पूनम तोमर राजस्व अमले के साथ मदरसे को सील करने पहुँची थी। इस पर बौखलाए लोगों ने अधिकारियों से ही दबंगई दिखाते हुए उन्हें धमकाने लगे। कुर्की करने पहुँची टीम ने उनसे सांकेतिक रूप से एक ही कमरा सील करने की बात कही, लेकिन नाराज काजी अबुल कलाम ने कह दिया कि इससे शहर का माहौल बिगड़ने में देर नहीं लगेगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इन्सिटटे ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -