Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजएल्विश यादव के खिलाफ FIR: यूट्यूबर मैक्सटर्न की पिटाई का वीडियो वायरल, पीड़ित बोला-...

एल्विश यादव के खिलाफ FIR: यूट्यूबर मैक्सटर्न की पिटाई का वीडियो वायरल, पीड़ित बोला- मेरी रीढ़ तोड़ने की हुई कोशिश, कुछ हुआ तो बिग बॉस OTT-2 विजेता जिम्मेदार

एल्विश यादव के खिलाफ गुरुग्राम पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। एफआईआर दर्ज कराने वाले युवक का नाम सागर ठाकुर है, जो सोशल मीडिया पर मैक्सटर्न के नाम से वीडियो बनाते हैं।

बिगबॉस ओटीटी-2 विनर यूट्यूबर एल्विश यादव के खिलाफ एफआरआर दर्ज हो गई है। उसके खिलाफ यूट्यूबर सागर ठाकुर उर्फ मैक्सटर्न ने गुरुग्राम के सेक्टर 53 थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इस मामले से जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें एल्विश यादव अपने साथियों के साथ सागर ठाकुर उर्फ मैक्सटर्न को पीटते और भद्दी गालियाँ देते दिख रहा है।

यूट्यूबर सागर ठाकुर उर्फ मैक्सटर्न ने दावा किया कि एल्विश यादव ने उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ने की कोशिश की और उसे जान से मारने की धमकी दी। ठाकुर एक कंटेंट क्रिएटर हैं, जिनकी सोशल मीडिया पर अच्छी फैन-फॉलोविंग है। सागर ठाकुर ने अपनी शिकायत में कहा कि वह और यादव एक-दूसरे को 2021 से जानते हैं। एल्विश यादव के फैन्स लगातार उसके खिलाफ नफरत फैला रहे थे। इस मारपीट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रहा है, जिसमें एल्विश और उसके साथी सागर ठाकुर को पीटते और भद्दी गालियाँ देते नजर आ रहे हैं।

मारपीट का ये वीडियो करीब 5 मिनट का है, जिसमें वो ‘जान से मारने’ की धमकी भी देते दिख रहे हैं। इस वीडियो में एल्विश और उसके साथी सागर ठाकुर को पीटते हुए साफ दिख रहे हैं। वहीं, हरे रंग के कपड़ों में पीड़ित सागर ठाकुर है। इसी मारपीट के मामले में एल्विश यादव औऱ उसके साथियों के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 147, 149, 323 और 506 के तहत केस दर्ज किया गया है।

इस पूरे घटनाक्रम के बाद सागर ठाकुर ने एक वीडियो जारी किया और पूरी बात बताई। सागर ने दावा किया, “जब एल्विश स्टोर पर आया, तो उसने सीधे मुझे मारा और उसके साथियों ने भी गालियाँ देते हुए पीटना शुरू कर दी। एल्विश यादव ने मेरी रीढ़ की हड्डी तोड़ने की कोशिश की ताकि मैं शारीरिक रूप से बेकार हो जाऊँ। एल्विश ने जाने से पहले मुझे जान से मारने की धमकी भी दी।”

इस वीडियो में सागर ने गुरुग्राम पुलिस पर एल्विश को बचाने के भी आरोप लगाए और कहा, “एल्विश के ऊपर एक भी वो सेक्शन नहीं लगा, जो मैंने एफआईआर में लिखवाई थी। हरियाणा में इस तरह गुंडागर्दी चल रही है कि एक बंदा आता है मारता है और उसके खिलाफ कोई एक्शन नहीं होता। इसे क्या समझा जाए, जिसके पास पैसा है वो कुछ भी कर सकता है। अगर मुझे कुछ भी होता है, तो इसके जिम्मेदार एल्विश यादव होंगे।” सागर ने सीएम खट्टर से भी मदद की गुहार लगाई।

ये पूरा मामला उन तस्वीरों के सामने आने के बाद शुरू हुआ था, जिसमें एल्विश यादव मुनव्वर फारूकी के गले मिलते नजर आए थे। इसके बाद सोशल मीडिया पर एल्विश यादव को निशाना बनाया। सागर भी उनमें से एक थे, जिन्होंने एल्विश को निशाना बनाया। इसी दौरान दोनों पक्षों की ओर से तीखी बहस भी हुई थी और फिर मारपीट की ये घटना सामने आई। पूरे मामले को जानने के लिए ये खबर पढ़ें

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -