Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजसीरम इंस्टीट्यूट में 5 जलकर मरे: कोविड वैक्सीन सुरक्षित, लोग जता रहे साजिश की...

सीरम इंस्टीट्यूट में 5 जलकर मरे: कोविड वैक्सीन सुरक्षित, लोग जता रहे साजिश की आशंका

इन्स्टीट्यूट में जहाँ कोरोना वैक्सीन बनाने का काम किया जाता है वह पूरी तरह से सुरक्षित है। वैक्सीन बनाने की जगह से दूसरी तरफ जो गेट है वहाँ पर आग लगी है। कहा जा रहा है कि ये सारी दुर्घटना टर्मिनल गेट नंबर 1 की है और कोविडशील्ड वैक्सीन 3, 4, 5 नंबर पर सुरक्षित है।

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट में गुरुवार (जनवरी 21, 2021) को आग लगने से पूरे इलाके में अफरा तफरा मच गई। जानकारी के मुताबिक, ये आग बीसीजी टीका बनाने वाली बिल्डिंग के दूसरे माले में लगी। इस हिस्से में संस्थान का नया प्लांट है। इसी इंस्टीट्यूट ने कोरोना वैक्सीन बनाने का भी काम किया है। इस दुर्घटना में अभी तक पाँच लोगों के मारे जाने की खबर है। जो कि मजदूर बताए जा रहे हैं। घटना की जाँच जारी है साथ ही यह आशंका जताई जा रही है कि वेल्डिंग के दौरान किसी दुर्घटना से आग लगी।

दुर्घटना के कुछ घंटों बाद इस संबंध में SSI के सीईओ अदार पूनावाला ने बयान जारी कर कहा दुर्घटना में जान गँवाने वाले लोगों के लिए दुःख व्यक्त किया है।

हालाँकि, इससे पहले चिंता कर रहे लोगों का आभार जताते हुए उन्होंने कहा था, ”अब तक सबसे बड़ी चीज यही है कि किसी की जान को कोई नुकसान नहीं हुआ है और न ही किसी को आग लगने के कारण ज्यादा चोटें आई हैं। सिर्फ़ कुछ माले नष्ट हुए हैं।” जिसमें अब पाँच लोगों के मारे जाने की पुष्टी की गई है।

बता दें कि दमकल विभाग के अनुसार सीरम इंस्टीट्यूट की तरफ से तकरीबन 2:30 बजे उन्हें आग लगने की खबर मिली थी। जिसके बाद उनकी टीम तुरंत घटनास्थल पर पहुँची है। आग को बुझाने का प्रयास शुरू है।

पुलिस का कहना है, “हमें 2:45 बजे सीरम इंस्टीट्यूट की एक इमारत में आग लगने की सूचना मिली। पुलिस और फायर ब्रिगेड तुरंत मौके पर पहुँची। सभी लोगों को निकाल लिया गया है। 1 घंटे में आग बुझा दी जाएगी। इस इमारत में वैक्सीन का प्लांट या भंडारण नहीं किया जा रहा था।”

कोरोना वैक्सीन Covishield बनाने का काम सीरम इन्स्टीट्यूट द्वारा किया गया है। ऐसे में आग की खबर सुन कर सबकी चिंता वैक्सीन को लेकर है। लेकिन खबरों के मुताबिक, इन्स्टीट्यूट में जहाँ कोरोना वैक्सीन बनाने का काम किया जाता है वह पूरी तरह से सुरक्षित है। वैक्सीन बनाने की जगह से दूसरी तरफ जो गेट है वहाँ पर आग लगी है। कहा जा रहा है कि ये सारी दुर्घटना टर्मिनल गेट नंबर 1 की है और कोविडशील्ड वैक्सीन 3, 4, 5 नंबर पर सुरक्षित है।

सीईओ अदार पूनावाला ने भी इस संबंध में आश्वस्त करते हुए कहा, “मैं सरकार और जनता को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि कोविशील्ड के उत्पादन में कई उत्पादन भवनों के कारण कोई नुकसान नहीं होगा, जिन्हें मैंने आकस्मिकताओं से निपटने के लिए रखा था।” 

महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे ने इस दुर्घटना को इलेक्ट्रिक फॉल्ट के कारण हुई घटना कहा है। उनका कहना है कि कोविड वैक्सीन बिलकुल सुरक्षित हैं। मगर अभी तक उन्होंने सीईओ अदार पूनावाला से बात नहीं की है।

उल्लेखनीय है कि सीरम इंस्टीट्यूट में लगी इस आग ने अचानक लोगों के मन में संदेह पैदा कर दिया है। लोग आशंका जता रहे हैं कि कहीं ये सब जानबूझकर तो नहीं किया गया।

रोहित गुप्ता लिखते हैं, “मैं केंद्र सरकार से अनुरोध करता हूँ कि वो इस मामले को स्वंय देखें और जाँच करें। महाराष्ट्र में 3 गधे मिल कर सरकार चला रहे हैं। कॉन्ग्रेस, शिवसेना और एनसीपी। ये लोग कभी भी इस मामले की जाँच नहीं करेंगे।”

पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ के अकॉउंट से लिखा गया है, “कोरोना वेक्सीन बनाने वाली पुणे की सिरम इंस्टिट्यूट में भीषण आग लगी जहाँ वैक्सीन के करोड़ो डोज तैयार करके रखे हुए थे। ये आग किसी षड्यंत्र के तहत वेक्सीन का विरोध करने वालों ने तो नही लगाई होगी।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -