Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयफरीदा के प्यार में खुद तोड़ी मजहब की दीवार, पर गायकी से फैन का...

फरीदा के प्यार में खुद तोड़ी मजहब की दीवार, पर गायकी से फैन का करवा दिया ब्रेकअप: जब फरमाइशी गजल के लिए पंकज उधास पर तान दी गई थी पिस्टल

पंकज उधास ने एयर होस्टेस रहीं फरीदा से विवाह किया था। उनकी फरीदा से मुलाक़ात उनके ही एक पड़ोसी ने करवाई थी। जब पंकज की मुलाक़ात फरीदा से हुई थी तब वह छात्र थे जबकि फरीदा एक एयरलाइन में एयरहोस्टेस थीं।

प्रसिद्ध ग़ज़ल गायक पंकज उधास का आज (26 फरवरी,2024) को निधन हो गया। उनकी आयु 72 वर्ष थी और वह लम्बे समय से बीमार चल रहे थे। पंकज उधास के निधन की जानकारी उनकी बेटी नायाब उधास ने दी है। उनका निधन आज सुबह 11 बजे हुआ। उनका कल (27 फरवरी, 2024) को मुंबई में ही अंतिम संस्कार होगा।

उनकी बेटी ने एक इन्स्टाग्राम पोस्ट में बताया, “भारी मन के साथ हमें आपको सूचित करना पड़ रहा है कि पद्मश्री पंकज उधास जी 26 फरवरी, 2024 को लम्बी बीमारी के कारण निधन हो गया है।” उनका निधन मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में हुआ।

उनके निधन के बाद अब कई पुराने किस्से सामने आ रहे हैं। इनमें उनके द्वारा कॉमेडियन कपिल शर्मा के शो में सुनाए गए किस्से काफी रोचक हैं। उनके विवाह के बारे में भी कहानी सामने आई है कि कैसे उन्होंने दूसरे धर्म की अपनी गर्लफ्रेंड से शादी की।

पड़ोसी ने पंकज उधास की फरीदा से करवाई पहचान

पंकज उधास ने एयर होस्टेस रहीं फरीदा से विवाह किया था। उनकी फरीदा से मुलाक़ात उनके ही एक पड़ोसी ने करवाई थी। जब पंकज की मुलाक़ात फरीदा से हुई थी तब वह छात्र थे जबकि फरीदा एक एयरलाइन में एयरहोस्टेस थीं। उन्होंने जब कुछ समय के बाद शादी निर्णय लिया तो उनके परिवार राजी नहीं हुए क्योंकि फरीदा पारसी थीं और वह हिन्दू थे। दूसरी तरफ फरीदा का कहना था कि वह तभी शादी करेंगी जब दोनों परिवार राजी होंगे। फरीदा के परिवार के राजी होने के बाद उन्होंने उनसे शादी की थी।

गजल के लिए तन गई पिस्टल

उन्होंने कॉमेडियन कपिल शर्मा के शो पर बताया था कि एक गजल की फरमाइश को लेकर एक व्यक्ति ने उन्हें रिवॉल्वर दिखा दिया था। कपिल ने उनसे और गायक हरिहरन से प्रश्न पूछा कि क्या उनकी इच्छा के विपरीत किसी ने कभी गाने की कोई फरमाइश की है। उस पर उन्होंने बताया, “मेरे साथ ऐसा हुआ है, ये लगभग 25 साल पहले की बात है। मैं एक पब्लिक शो में गा रहा था, ये एक ओपन एयर शो था। मैंने दो तीन गजलें गई होंगी, इस बीच आयोजकों में से एक साहब आए और कान में कह गए कि फलाँ फलाँ गजल है, सुना दो।”

आगे उन्होंने बताया, “मेरा मूड अलग था, मैंने कहा कि क्यूँ मैं ये गजल सुनाऊँ, मैं किसी का गुलाम नहीं हूँ। फिर मैंने कहा कि मैं सुनाता हूँ। इसके थोड़ी देर बाद वह फिर आए और बोले कि सामने बैठे एक साहब की यह फरमाइश है। मैंने देखा कि एक साहब बैठे हैं, उनकी बड़ी बड़ी आँखे थी। मुझे थोड़ा गुस्सा या कि उन्हें इतनी जल्दी किया है। थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि उन्होंने अपनी जेब से एक रिवॉल्वर निकाला और उसको दिखाने लगे, इसके बाद मेरी वो हालत हुई।” आप यह बातचीत इस वीडियो में 11 मिनट 40 सेकंड के बाद देख सकते हैं।

फैन ने बताया, आपके गाने के चक्कर में हो गया ब्रेकअप

कपिल शर्मा के एक दूसरे शो में उनके एक फैन ने बताया था कि उनके एक गाने के चक्कर में उसका ब्रेकअप हो गया। फैन ने बताया कि उसका स्कूल के दिनों में एक पास में रहने वाली लड़की से प्रेम संबध था। उस दौरान पंकज उधास का ‘और आहिस्ता कीजिए बातें’ गाना काफी फेमस था।

फैन ने बताया कि जब उसने अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए कहा तो उसने इस गाने की कुछ लाइन सुनाने की फरमाइश की। फैन ने बताया कि वह यह सही से नहीं सुना पाया और इसके कारण उसका ब्रेकअप हो गया। उसके बाद उसने पंकज उधास कुछ लाइन गाने की अपील की और स्वयं भी साथ में गाया। यह बातचीत आप ऊपर लगी वीडियो में शुरुआत से ही सुन सकते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -