Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजशाहनवाज़ ने सुमित यादव बन सिख लड़की को फाँसा, बच्चे के गर्दन पर चाकू...

शाहनवाज़ ने सुमित यादव बन सिख लड़की को फाँसा, बच्चे के गर्दन पर चाकू रख इस्लाम कबूलने और वेश्यावृत्ति का बनाया दबाव: FIR दर्ज

“शाहनवाज मुझे आए दिन मारने-पीटने लगा। मैंने घर खरीदने के लिए 8 लाख रुपए रखे थे वो उसे भी हड़प गया। 17 फरवरी 2022 को उसने इस्लाम न कबूलने पर मुझे इतना मारा कि मेरे मुँह और नाक पर गंभीर चोटें आईं।"

उत्तर प्रदेश के गाजियाबद से पिछले महीने लव-जिहाद का सनसनीखेज मामला सामने आया था। जहाँ एक मुस्लिम व्यक्ति शाहनवाज ने हिन्दू नाम सुमित रखकर एक सिख लड़की को अपने प्रेमजाल में फँसा लिया। पीड़िता ने थाने में दी गई शिकायत में बताया कि शाहनवाज ने उसे प्रेमजाल में फँसाकर जबरन देह व्यापार कराने का दबाव बनाया। यही नहीं उस पर इस्लाम कबूलने के लिए भी दबाव बनाया गया। आज बुधवार (27 जुलाई, 2022) को शिकायत के लगभग एक पखवाड़े के बाद हिन्दू संगठनों की मदद से आरोपित शाहनवाज सहित 4 आरोपितों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है।

शाहनवाज के खिलाफ दर्ज FIR

यह मामला 10 जुलाई, 2022 को सामने आया था वहीं अब इस मामले में शाहनवाज, उसके जीजा, अरशद और एक अज्ञात व्यक्ति के नाम FIR दर्ज की गई है। इसके बारें में जानकारी देते हुए गाजियाबाद पुलिस ने भी ट्वीट किया, “महिला द्वारा दी गयी तहरीर के आधार पर थाना इंदिरापुरम पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर विवेचना प्रचलित है, तथ्यों के आधार पर अग्रिम विधिक कार्यवाही की जाएगी, कृपया बिना पुष्टि के भ्रामक खबरें न फैलाएँ!”

क्या है मामला

UP के गाजियाबाद में सिख समुदाय की एक लड़की ने शाहनवाज नाम के व्यक्ति पर अपने साथ रेप, धर्मांतरण के दबाव, धोखाधड़ी और जबरन देह व्यापार कराए जाने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत पुलिस में की थी। यहाँ आरोपित शाहनवाज ने पीड़िता को अपने जाल में फँसाने के लिए अपना नाम सुमित बताया था। पीड़िता ने शिकायत में शाहनवाज द्वारा अपने लाखों रुपए हड़पने की भी जानकारी दी थी। यह शिकायत 11 अप्रैल 2022 को दी गई थी जिस पर आज हिन्दू संगठनों के दबाव के बाद इंदिरापुरम थाने में FIR दर्ज कर ली गई है।

बता दें कि पीड़िता ने DM को दी गई शिकायत में लिखा, “मुझे शाहनवाज लगभग 7-8 साल पहले सुमित यादव नाम से मिला था। कुछ दिनों बाद उसने मुझ से जबरन शारीरिक संबंध बना लिए। शादी की बात पर वह मुझे टालता रहा। इस बीच मेरे 29 दिसम्बर, 2018 में एक बेटा हुआ। उस अस्पताल में शाहनवाज ने अपना नाम कवीन्द्र लिखवाया। वो मेरे बेटे का मुस्लिम नाम ‘अरमान’ रखना चाहता था जिसका मैंने विरोध किया। कुछ समय बाद शाहनवाज मुझे भी इस्लाम में आने की जिद करने लगा। इसके लिए वो मेरे को ले कर 3-4 दिन गायब भी हो गया था। यही नहीं शाहनवाज इससे पहले भी एक हिन्दू लड़की को भगाकर लाया था।”

शिकायत में पीड़िता ने आगे कहा था, “शाहनवाज मुझे आए दिन मारने-पीटने लगा। मैंने घर खरीदने के लिए 8 लाख रुपए रखे थे वो उसे भी हड़प गया। 17 फरवरी 2022 को उसने इस्लाम न कबूलने पर मुझे इतना मारा कि मेरे मुँह और नाक पर गंभीर चोटें आईं। इस दौरान शाहनवाज मुझे अधमरा छोड़ कर अपने बिहार के अररिया जिले के गाँव थपोड़ चला गया। वहाँ उसने बहाने से मुझे भी बुलाया। वहाँ मुझे पता चला कि शाहनवाज एक हिन्दू लड़की को पहले भी भगा कर ला चुका है। इस दौरान उसके गाँव में उसके जीजा के इशारे पर कुछ लोगों ने मुझ पर हमला किया जिससे मैं जैसे-तैसे बच पाई।”

पीड़िता ने ऑपइंडिया को बताई आपबीती

पीड़िता ने ऑपइंडिया से बात करते हुए कहा, “शाहनवाज ने मुझे एहसास ही नहीं होने दिया कि वो मुस्लिम है। वो साथ कई बार दिल्ली के गुरुद्वारा बंगला साहिब गया। वो मुझे हरिद्वार भी ले गया था जहाँ उसने मेरी माँग में सिन्दूर भर दिया था। शाहनवाज ने मुझ से जबरन वेश्यावृत्ति का भी दबाव बनाया लेकिन मैं लगातार मना करती रही। इसके लिए वो मुझे अपने पैसे खत्म होने की बात कहते हुए इमोशनल भी करता था तो कभी मारता-पीटता भी था। एक दिन मैंने इसकी शिकायत पुलिस से करने का मन बनाया तो उसने मेरे बच्चे की गर्दन पर चाकू रख कर मुझे धमकी दी थी।”

वेश्यावृत्ति करवाने का बनाया दबाव

पीड़िता ने आगे ऑपइंडिया को बताया था, “मेरे पिता का कपड़ों का व्यापार था। उसमें घाटा हो गया इसलिए मुझे नौकरी करनी पड़ी। वहीं से लौटते हुए शाहनवाज मेरा पीछा करता था। शाहनवाज के तार वेश्यावृत्ति करवाने वालों से भी जुड़े हैं। उसकी बहन एक बार मुझसे मिलने आई तो अपना नाम सुनीता बताया और उसके जीजा खुद को प्रधान कहते थे। शाहनवाज का भाई भी उनकी ही तरह चालबाज है। मैं शाहनवाज के लिए सजा चाहती हूँ।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -