Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजगाजियाबाद का मदीना होटल, थूक लगाकर तंदूरी रोटी बना रहा था तसीरुद्दीन: Video वायरल...

गाजियाबाद का मदीना होटल, थूक लगाकर तंदूरी रोटी बना रहा था तसीरुद्दीन: Video वायरल होने के बाद गिरफ्तार

रोटी में थूक कर खिलाने के कई मामले पहले भी आ चुके हैं। दिसंबर 2022 में गाजियाबाद के मेरठ से इसी तरह का वीडियो सामने आया था। इसमें मवाना इलाके के रॉयल होटल में शोएब थूक लगाकर रोटी सेंक रहा था।

होटल में थूक लगाकर रोटी बनाने का एक और मामला सामने आया है। घटना गाजियाबाद के मदीना होटल का है। एक वायरल वीडियो में होटल में काम करने वाला तसीरुद्दीन तंदूरी रोटी के लिए बनाए गए लोई में थूकता नजर आ रहा है।

वीडियो वायरल होने के बाद गुरुवार (19 जनवरी 2023) को तसरुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया गया। साहिबाबाद की एसीपी पूनम मिश्रा ने बताया कि टीला मोड़ थाना क्षेत्र के पसौंडा इलाके के एक होटल का वीडियो वायरल हुआ था। इसमें थूक लगाकर रोटी बनाते हुए दिख रहे व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है। आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

बुधवार को वीडियो सामने आने के बाद हिंदू रक्षा दल के महानगर संयोजक अनु चौधरी ने टीला मोड़ थाने में रिपाेर्ट दर्ज कराई थी। आरोपित के खिलाफ धारा 188, 269 और 270 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके तहत 2 साल तक की जेल और जुर्माना भी लग सकता है।

आपको बता दें की रोटी में थूक कर खिलाने के कई मामले पहले भी आ चुके हैं। दिसंबर 2022 में गाजियाबाद के मेरठ से इसी तरह का वीडियो सामने आया था। इसमें मवाना इलाके के रॉयल होटल में शोएब थूक लगाकर रोटी सेंक रहा था। मेरठ से ही एक वीडियो आया थाm जिसमें सगाई समारोह में तंदूर पर एक युवक थूक लगाकर रोटी बनाते दिखा था। एक बच्चे ने इस घटना का वीडियो बनाया था और पूरा मामला सामने आया था।

बेंगलुरु से तो पॉपकॉर्न में थूककर खिलाने का मामला सामने आया था। जून 2022 में सामने आई इस घटना में नयाज पाशा पॉपकॉर्न बनाने वाले तेल में थूकता दिखा था। 11 जून 2022 को दुकान के पास घूम रहे एक व्यक्ति ने नयाज को पॉपकॉर्न बनाने वाले तेल में थूकते देखा। वो पॉपकॉर्न को फ्राई कर रहा था। इस दौरान दोनों में विवाद होने लगा। मामले की जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुँची और उसे गिरफ्तार किया था। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -