Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाज'बेड दीजिए, नहीं तो इंजेक्शन देकर उन्हें मार डालिए': महाराष्ट्र में कोरोना+ पिता को...

‘बेड दीजिए, नहीं तो इंजेक्शन देकर उन्हें मार डालिए’: महाराष्ट्र में कोरोना+ पिता को लेकर 3 दिन से भटक रहा बेटा

किशोर नाहरशेटीवर के पिता जिस एम्बुलेंस में हैं, उसके भीतर लगा ऑक्सीजन भी अब ख़त्म हो रहा है। उन्होंने कहा कि वो इस तरह से अपने पिता को घर भी लेकर नहीं जा सकते।

महाराष्ट्र में कोरोना के कारण स्थिति बेहाल है और राज्य में संक्रमितों की संख्या हर दिन बढ़ती ही जा रही है। 1 मई तक राज्य सरकार पहले ही कर्फ्यू का ऐलान कर चुकी है। अस्पतालों की स्थिति इतनी खराब है कि लोग हैदराबाद जाकर इलाज करा रहे। इन सबके बीच एक व्यक्ति का वीडियो सामने आया है, जिसमें वो अपने कोरोना पॉजिटिव पिता को अस्पताल में भर्ती करने के लिए मिन्नतें कर रहा है।

वीडियो में उक्त व्यक्ति कहता, “या तो मेरे पिता को अस्पताल में बेड दीजिए, नहीं तो उन्हें कोई इंजेक्शन देकर मार डालिए।” उक्त व्यक्ति की पहचान किशोर नाहरशेटीवर के रूप में हुई है। वो मंगलवार (अप्रैल 13, 2021) की दोपहर से ही अपने बीमार पिता का इलाज कराने की मशक्कत कर रहे हैं, लेकिन अस्पताल में बेड नहीं मिल रहा। इसके लिए वो दो राज्यों का चक्कर काट चुके हैं, लेकिन फायदा नहीं हुआ।

किशोर ने पहले तो महाराष्ट्र के अस्पतालों की खाक छानी, फिर पिछले 24 घंटों में तेलंगाना में भी कई अस्पतालों के चक्कर लगाए। उन्होंने वरोड़ा और फिर चंद्रपुर के अस्पताल में प्रयास किया पर उनके पिता का इलाज नहीं हो सका। यहाँ तक कि प्राइवेट अस्पतालों में भी उन्हें अपने पिता के लिए बेड नहीं मिली। वो रात के 1:50 बजे फ्लाइट लेकर तेलंगाना पहुँचे थे, 3 बजे वहाँ पहुँच गए – लेकिन उनका काम नहीं हुआ।

आज सुबह ही वो तेलंगाना से लौटे हैं और महाराष्ट्र में बेड के इंतजाम के लिए अस्पतालों का चक्कर काट रहे हैं। उनके पिता जिस एम्बुलेंस में हैं, उसके भीतर लगा ऑक्सीजन भी अब ख़त्म हो रहा है। उन्होंने कहा कि वो इस तरह से अपने पिता को घर भी लेकर नहीं जा सकते। चंद्रपुर में सोमवार को कोरोना के 850 मामले सामने आए थे। जिले में अब भी 7000 सक्रिय कोरोना मरीज हैं।

महाराष्ट्र के अस्पतालों में न सिर्फ बेड्स, बल्कि वेंटिलेटर्स और ऑक्सीजन की भी भारी कमी है। दवाएँ नहीं मिल रहीं। ऑक्सीजन और मेडिकल सप्लाइज की उपलब्धता के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भारतीय सेना से मदद के लिए गुहार लगाई है। राज्य में ज़रूरी आवागमन को छोड़ कर बाकी सारी चीजें पहले ही प्रतिबंधित की जा चुकी है। प्रवासी मजदूर वापस लौट रहे हैं।

ट्रेनों और स्टेशनों पर खचाखच भीड़ है। महाराष्ट्र में फ़िलहाल कोरोना के 6,12,070 सक्रिय संक्रमित मरीज हैं। देश के कुल सक्रिय कोरोना संक्रमितों का 41.58% इसी राज्य में है। पिछले 1 दिन में यहाँ 58,992 नए केस सामने आए हैं। पुणे, मुंबई, ठाणे, नागपुर और नासिक क्रमशः राज्य में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले हैं। कोरोना महाराष्ट्र में अब तक 58,804 लोगों की जान ले चुका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिन्होंने इमरजेंसी लगाई वे संविधान के लिए न दिखाएँ प्यार’: कॉन्ग्रेस को PM मोदी ने दिखाया आईना, आपातकाल की 50वीं बरसी पर देश मना...

इमरजेंसी की 50वीं बरसी पर पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही लोगों को याद दिलाया कि कैसे उस समय लोगों से उनके अधिकार छीने गए थे।

इधर केरल का नाम बदलने की तैयारी में वामपंथी, उधर मुस्लिम संगठनों को चाहिए अलग राज्य: ‘मालाबार स्टेट’ की डिमांड को BJP ने बताया...

केरल राज्य को इन दिनों जहाँ 'केरलम' बनाने की माँग जोरों पर है तो वहीं इस बीच एक मुस्लिम नेता ने माँग की है कि मालाबार को एक अलग राज्य बनाया जाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -