Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाजजॉर्ज, जेटली और सुषमा सहित 7 को पद्म विभूषण: 16 को पद्म भूषण, लंगर...

जॉर्ज, जेटली और सुषमा सहित 7 को पद्म विभूषण: 16 को पद्म भूषण, लंगर बाबा समेत 118 को पद्म श्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पद्म पुरस्कार से सम्मानित व्यक्तियों को बधाई दी और कहा कि इनमें असाधारण लोग शामिल हैं। उन्होंने ट्वीट किया, “पद्म पुरस्कार प्राप्त करने वाले सभी को बधाई।” प्रधानमंत्री ने कहा कि पुरस्कृत लोगों में समाज राष्ट्र और मानवता के प्रति असाधारण योगदान देने वाले व्यक्ति शामिल हैं।

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर वर्ष 2020 के लिए पद्म पुरस्कारों का ऐलान किया गया। इस बार 7 लोगों को पद्म विभूषण, 16 को पद्म भूषण और 118 लोगों को पद्म श्री देने का ऐलान किया गया है। इस साल देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न का ऐलान नहीं किया गया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडीस, अरुण जेटली और सुषमा स्वराज को मरणोपरांत पद्म विभूषण सम्मान दिया गया है। अध्यात्म क्षेत्र में यह सम्मान मरणोपरांत विशवेश्वतीर्थ स्वामीजी श्रीपेजावरा अधोखाजा माता उडुपी को भी देने की घोषणा की गई है। इनके अलावा मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम, शास्त्रीय गायक छन्नूलाल मिश्रा और मॉरीशस के पूर्व प्रधानमंत्री अनिरूद्ध जगन्नाथ को भी इस साल गणतंत्र दिवस पर पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया है।

उद्योगपति आनंद महिंद्रा और बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू सहित 16 को पद्म भूषण सम्मान के लिए चुना गया है। नगालैंड के पूर्व मुख्यमंत्री एससी जमीर और जम्मू कश्मीर के नेता मुजफ्फर हुसैन बेग को पद्म भूषण से नवाजा गया है। लखनऊ के इतिहासकार और पत्रकार योगेश प्रवीण, असम के इतिहासकार जोगेंद्र नाथ फूकन को पद्म श्री चुना गया गया है। क्रिकेटर जहीर खान, हॉकी खिलाड़ी रानी रामपाल, निशानेबाज जीतू राय को भी पद्म श्री से सम्मानित किया जाएगा।

पद्म श्री पुरस्कारों में कई आम लोगों के नाम भी शामिल हैं। इनमें लंगर बाबा के नाम से मशहूर जगदीश लाल अहूजा और 25 हजार लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार करने वाले मोहम्मद शरीफ भी हैं। अहूजा सैंकड़ों गरीब मरीजों को हर दिन मुफ्त भोजन मुहैया करवाते हैं। उन्होंने 1980 में इसकी शुरुआत की थी। बीते 15 सालों से हर दिन आहूजा जी 2 हजार लोगों को मुफ्त भोजन करवाते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पद्म पुरस्कार से सम्मानित व्यक्तियों को बधाई दी और कहा कि इनमें असाधारण लोग शामिल हैं। उन्होंने ट्वीट किया, “पद्म पुरस्कार प्राप्त करने वाले सभी को बधाई।” प्रधानमंत्री ने कहा कि पुरस्कृत लोगों में समाज राष्ट्र और मानवता के प्रति असाधारण योगदान देने वाले व्यक्ति शामिल हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योनि, मूत्रमार्ग, गुदा, मुँह में लिंग प्रवेश से ही रेप नहीं… जाँघों के बीच रगड़ भी बलात्कार ही: केरल हाई कोर्ट

केरल हाई कोर्ट ने कहा कि महिला के शरीर का कोई भी हिस्सा, चाहे वह जाँघों के बीच की गई यौन क्रिया हो, बलात्कार की तरह है।

इस्लामी आक्रांताओं की पोल खुली, सेक्युलर भी बोले ‘जय श्री राम’: राम मंदिर से ऐसे बदली भारत की राजनीतिक-सामाजिक संरचना

राम मंदिर के निर्माण से भारत के राजनीतिक व सामाजिक परिदृश्य में आए बदलावों को समझिए। ये एक इमारत नहीं बन रही है, ये देश की संस्कृति का प्रतीक है। वो प्रतीक, जो बताता है कि मुग़ल एक क्रूर आक्रांता था। वो प्रतीक, जो हमें काशी-मथुरा की तरफ बढ़ने की प्रेरणा देता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,048FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe