Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाजगुरुग्राम में जहाँ मुस्लिमों ने किया खुद मना, वहाँ फिर पहुँची नमाजियों की भीड़:...

गुरुग्राम में जहाँ मुस्लिमों ने किया खुद मना, वहाँ फिर पहुँची नमाजियों की भीड़: अब सभी 37 जगहों पर नमाज का कर रहे दावा

ऑपइंडिया के पास कुछ वीडियोज आई हैं जिसमें शुक्रवार की नमाज खुले में अदा करने के लिए मुस्लिम समूह के लोग हिंदुओं से बहस कर रहे हैं। बहुत समझाने के बाद भी वो लोग सुनने को तैयार नहीं हैं और प्रशासन से खुले में नमाज पढ़ने के लिए जगह माँग रहे हैं।

गुरुग्राम में विभिन्न जगहों पर खुले में नमाज पढ़ने का मामला अभी तक शांत नहीं है। आज (10 दिसंबर 2021) ऑपइंडिया के पास कुछ वीडियोज आई हैं जिसमें शुक्रवार की नमाज खुले में अदा करने के लिए मुस्लिम समूह के लोग हिंदुओं से बहस कर रहे हैं।

वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट

एक वीडियो से पता चल रहा है कि ये सेक्टर 44 की है। जहाँ हिंदू कह रहे हैं, “हमारे धर्म में लिखा है कि गोवर्धन पूजा पर सब इकट्ठा होकर उसे बनाएँगे, लेकिन हम फिर भी ये नहीं करते हैं, तुम भी जगह लो और वहाँ बैठकर नमाज पढ़ो।” वहीं मुस्लिम संगठनों का कहना है कि प्रशासन से बात कर रहे हैं, अगर जगह मिल गई तो पढ़ेंगे। अन्य लोग पूछ रहे हैं कि प्रशासन कहाँ से जगह ले आएगा।

एक वीडियो सेक्टर थाना 29 की है। इस वीडियो को बनाने वाला व्यक्ति बता रहा है कि मना करने के बावजूद मुस्लिम समुदाय के लोग खुले में नमाज पढ़ रहे हैं और पुलिस वहाँ मौजूद है। वीडियो में दिख रहा है कि नमाज सड़क के बिलकुल ऊपर पढ़ी जा रही थी।

गुरुग्राम में नमाज

अगली वीडियो में मुस्लिम नमाज की तैयारी करते हुए बीच सड़क पर दिखे। इसी तरह सेक्टर 44 में चल रही नमाज की तैयारी पर सामने आई वीडियो में बताया जा रहा है कि प्रशासन ने मौके से पहुँच कर सभी लोगों को अलग कर दिया है। वहाँ मौजूद हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच 100 मीटर का फासला रखा गया है।

एक वीडियो सेक्टर 37 की है। इसमें सीडीएस जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि देते हुए एक युवक ने बताया कि उस इलाके में नमाज नहीं पढ़ने दी गई है। नाकाबंदी करके उन्हें रोका गया है। वहीं अन्य वीडियो में संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति के अध्यक्ष महावीर भारद्वाज ने मौके पर पहुँचकर नमाजियों को समझाने की भी कोशिश की। उन्होंने कहा कि नमाज अदा करने के लिए प्वाइंट बदल दिया गया है। ऐसे में उन लोगों पर केस भी हो सकता है। उन पर समुदाय के लोगों को समझाने का दारोमदार है इसलिए वह समझाने आए हैं।

बता दें कि कई जगह पर आपसी सहमति से नमाज पढ़ने से मना होने के बावजूद भी मुस्लिम समुदाय के लोग भीड़ लेकर उसी जगह नमाज पढ़ने बैठे, ऐसे में हिंदू संगठनों ने चेताया कि अगर ये जारी रहा तो जो केस किए जाएँगे उनके लिए यही लोग जिम्मेदार होंगे। इससे पहले मुस्लिम एकता मंच ने सभी 37 जगहों (जिन्हें 2018 में चिन्हित किया गया था) पर नमाज पढ़ने का ऐलान किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

स्वाति मालीवाल पर AAP का यूटर्न: पहले पार्टी ने कहा कि केजरीवाल के पीए विभव ने की बदतमीजी, अब महिला सांसद के आरोप को...

कल तक स्वाति मालीवाल के साथ खड़ा रहने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी ने अब यू टर्न ले लिया है और विभव कुमार के बचाव में खड़ी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -