Thursday, August 18, 2022
Homeदेश-समाज'गुटखा खाना गलत बात': हाथों में तख्ती लेकर फिर मैच देखने पहुँचा 'कानपुर का...

‘गुटखा खाना गलत बात’: हाथों में तख्ती लेकर फिर मैच देखने पहुँचा ‘कानपुर का गुटखेबाज’, कहा – अब छोड़ दूँगा ये लत

इस बार शोभित ने अपने हाथ में एक तख्ती ले रखी थी। उस तख्ती पर लिखा था, "गुटका खाना गलत बात है #कानपुर गुटकेबाज।" शोभित पांडेय का कहना है कि वो और उसका दोस्त दोनों ही मैच देखने के लिए गए थे, लेकिन दोनों एक दूसरे काफी दूर थे, इसीलिए फोन पर बात की।

उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित ग्रीनपार्क स्टेडियम में भारत और न्यूजीलैंड के बीचे खेले जा रहे टेस्ट मैच के दौरान गुटखा खाते हुए एक शख्स की इमेज वायरल हुई थी। इसे सोशल मीडिया पर कई लोगों ने शेयर किया। लोगों ने इस पर कमेंट कर खूब मजे लिए थे। अब वही शख्स शोभित मैच के दूसरे दिन हाथों में गुटखा खाना गंदी बात का पोस्टर लेकर मैच देखने पहुँचा।

रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार को इमेज के वायरल होने के बाद फिर से क्रिकेट देखने पहुँचे शोभित ने खुद को क्रिकेट फैन बताया। उन्होंने ये भी कहा कि वो क्रिकेट देखने के लिए जाते रहेंगे। शोभित पांडेय पेशे से एक व्यापारी हैं। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए गुटखा खाने की बात से इनकार किया। शोभित का कहना था कि मैच देखने के लिए जाते वक्त एँट्री गेट पर ही गुटखा जमा करा लिया गया था। शोभित के मुताबिक, उन्होंने मीठी सुपारी खाई थी।

साभार: एएनआई

बहरहाल, इस बार शोभित ने अपने हाथ में एक तख्ती ले रखी थी। उस तख्ती पर लिखा था, “गुटका खाना गलत बात है #कानपुर गुटकेबाज।” शोभित पांडेय का कहना है कि वो और उसका दोस्त दोनों ही मैच देखने के लिए गए थे, लेकिन दोनों एक दूसरे काफी दूर थे, इसीलिए फोन पर बात की। शोभित पांडे का कहना है कि जल्द ही वो गुटखा खाना छोड़ देंगे।

गौरतलब है कि इससे पहले शोभित ने उसके बगल में बैठी लड़की को अपनी बहन बताया था। साथ ही उसके खिलाफ सोशल मीडिया पर किए जा रहे अश्लील कमेंट पर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। उसने लोगों ने अपनी बहन को लेकर भद्दे कमेंट नहीं करने की भी अपील की थी। वहीं मामले में किसी भी तरह की माफी माँगने के सवाल पर शोभित ने कहा था, “माफी माँगने लायक तो मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है, फिर भी लोगों को लगता है कि मैंने कुछ गलत किया है तो मैं माफी माँगता हूँ।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

1 नाव-3 AK 47, कारतूस और विस्फोटक भी: जैसे 26/11 के लिए समंदर से आए पाकिस्तानी आतंकी, वैसे ही इस बार महाराष्ट्र के तट...

डिप्टी सीएम ने जानकारी दी कि अभी तक किसी आतंकी एंगल की पुष्टि नहीं हुई है। केंद्रीय जाँच एजेंसियों को सूचित कर दिया गया है।

रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड बनवा रहा है PFI : पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा

फर्जी दस्तावेज से पीएफआई बनवा रहा है रोहिंग्याओं और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड। पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,056FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe